• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

खेल में भी दिल्ली सबसे आगे, हमारा सपना, एक दिन भारत चीन से ज्यादा पदक लाए: CM अरविंद केजरीवाल

|

नई दिल्ली। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि बिजली, पानी, शिक्षा और स्वास्थ्य की तरह खेल में भी दिल्ली सबसे आगे है। हमारा देश अंतरराष्ट्रीय खेलों में चीन से भी ज्यादा पदक लाए, इस सपने को पूरा करने के लिए दिल्ली सरकार ने कई योजनाएं बनाई हैं। सीएम केजरीवाल ने खिलाड़ियों से देश के लिए खेल प्रतियोगिताओं में पदल जीतने में कोई भी कसर नहीं छोड़ने की अपील की। सीएम अरविंद केजरीवाल ने उपमुख्यमंत्री एवं शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया के साथ आज दिल्ली के 77 उभरते खिलाड़ियों को उनका उत्साह बढ़ाने के लिए मिशन एक्सलेंस योजना के तहत 4.39 करोड़ रुपए की आर्थिक सहायता प्रदान करने के दौरान यह बातें कही।

 Delhi is Number 1 in Sports, One day India brought more medals than China - CM Arvind Kejriwal

दिल्ली सचिवालय में आयोजित समारोह में शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने मिशन एक्सलेंस योजना के तहत खिलाड़ियों को आर्थिक सहायता योजना की जानकारी दी। खिलाड़ियों का चयन करने वाली समिति में कर्णम मालेश्वरी, अखिल कुमार, मनीषा मल्होत्रा, गगन नारंग और रोजन सोढ़ी शामिल थे।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने खिलाड़ियों को बधाई देते हुए कहा कि हमारे देश में जब कोई खिलाड़ी पदक जीतकर आता है, तो उसके साथ खड़े होने वाले बहुत लोग मिल जाते हैं, लेकिन संघर्ष के दिनों में वह अकेला होता है। आगे बएढ़ने के लिए उसके पास पैसे भी नहीं होते हैं। एक कहावत भी है - 'पढ़ोगे लिखोगे, तो बनोगे नवाब, खेलोगे कूदोगे होगे खराब।' ऐसी धारणा के कारण ऐसे खिलाड़ियों को न घर से पर्याप्त मदद मिलती है और न तो कहीं और से मिलती है। इसके बावजूद आप जैसे खिलाड़ी अकेले संघर्ष करते हुए सफलता की चोटी तक पहुंचते हैं।

सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि हमारा 130 करोड़ का देश मेडल लाने में इसी कारण पीछे रह जाता है, जबकि हमारे देश में प्रतिभा तो बहुत है। हर गांव और हर मोहल्ले में प्रतिभावान खिलाड़ी हैं, लेकिन उन्हें किसी सरकार का सपोर्ट नहीं मिलता है। ऐसे खिलाड़ियों के लिए दिल्ली सरकार आशा की एक किरण लेकर आई है।

सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि बिजली, पानी, शिक्षा और स्वास्थ्य की तरह खेल में भी दिल्ली सरकार सबसे आगे है। हमारा सपना है कि अंतर्राष्ट्रीय खेलों में हमारा देश चीन से भी ज्यादा मेडल लेकर आए। दिल्ली सरकार ने इसी उद्देश्य को ध्यान में रखते हुए कई योजनाएं बनाई हैं। हमारे पास खेलों के विकास का एक पूरा विजन है, जिसमें एक योजना यह भी शामिल है। हम स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी बना रहे हैं, ताकि आप जैसे खिलाड़ियों को अंतर्राष्ट्रीय स्तर का प्रशिक्षण मिल सके। स्कूल स्तर के खिलाड़ियों को प्रारंभिक स्तर पर बचपन योजना के तहत सहायता दी जाती है। मध्यम और उच्च स्तर के खिलाड़ियों के लिए मिशन एक्सलेंस योजना बनाई गई है।

सीएम केजरीवाल ने कहा कि आपके हुनर को धार देने के लिए हम यह मदद कर रहे हैं। यह सिर्फ दिल्ली के लिए नहीं, बल्कि देश के लिए हमारी कोशिश है। आपमें से हर खिलाड़ी अंतर्राष्ट्रीय खेलों में देश का नाम रोशन करेंगे और पूरे देश को आपके ऊपर गर्व होगा। मुख्यमंत्री ने भरोसा दिलाया कि आपको कभी किसी भी चीज की जरुरत हो, तो मेरे पास आ सकते हैं। देश आपके लिए कर रहा है, तो आप भी देश के लिए कुछ भी करने में कोई कसर न छोड़ें।

खिलाड़ियों को संबोधित करते हुए उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि जब हमारे खिलाड़ी कुछ अच्छा करते हैं, तो सरकार का हौसला बढ़ता है। हमारे मुख्यमंत्री पूछते हैं कि हम खिलाड़ियों के लिए और क्या कर सकते हैं। इस तरह, जब हम खिलाड़ियों के लिए कुछ नया करते हैं, तो आपका हौसला बढ़ता है। यह एक साईकिल है, जिसका चलते रहना दिल्ली और देश के हित में है।

डिप्टी सीएम सिसोदिया ने कहा कि पदक जीतने वाले को तो सब लोग मदद करते हैं, लेकिन जब खिलाड़ी पदक जीतने की तैयारी करे, उस वक्त मदद दिल्ली सरकार करती है। आप सब दिल्ली के होनहार सितारे हैं। आप पर दिल्ली की नजर टिकी है। आप खूब अच्छा खेलें और देश के लिए पदक लाएं। हम हर तरह से आपकी मदद के लिए तैयार हैं। उन्होंने कहा कि इस साल कुल 708 आवेदन आए थे। इनमें से 77 खिलाड़ियों का चयन एक प्रतिष्ठित चयन समिति ने किया है और इसमें सरकार का कोई हस्तक्षेप नहीं है।

डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने कहा कि दिल्ली स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी भी एक बड़ा कदम है। उसमें आप और क्या चाहते हैं? इसके लिए आपके सुझाव चाहिए। श्री सिसोदिया ने कहा कि कोरोना के कारण खेल प्रतियोगिताएं भी लॉकडाउन का शिकार हैं, लेकिन खेल की दुनिया में आगे बढ़ने का प्रयास हमें जारी रखना होगा|

इस दौरान मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री ने खिलाड़ियों को चार करोड़ 39 लाख की सहायता राशि का चेक वितरित किया। इस दौरान प्रसिद्ध कुश्ती खिलाड़ी सुशील कुमार ने कहा कि ऐसी योजना पूरे देश में कहीं नहीं है और इस योजना से खिलाड़ियों का मनोबल बढ़ा है।

खिलाड़ियों ने कहा- ' आर्थिक मदद सीएम केजरीवाल का दिवाली गिफ्ट'

समारोह में आर्थिक सहायता पाने वाले खिलाड़ियों ने इसे 'केजरीवाल का दिवाली गिफ्ट' कहा। एक खिलाड़ी रीना ने कहा कि मुझे दिल्ली सरकार ने आठ लाख रुपए का चेक दिया है। मैं इसे अपनी ट्रेनिंग के लिए उपयोग करके अंतर्राष्ट्रीय स्तर की खिलाड़ी बनकर मुख्यमंत्री जी के प्रयास में पूरा योगदान करूंगी। खिलाड़ी हर्ष ने कहा कि मैंने पहले कभी नहीं सोचा था कि तैयारी के लिए इतनी बड़ी आर्थिक मदद एक साथ मिलेगी। जब सरकार ने हमें ऐसी मदद दी है, तो हम भी देश के लिए पदक लाकर दिखाएंगे।

खिलाड़ी गरिमा टोकस के अनुसार, मुख्यमंत्री केजरीवाल द्वारा की गई यह आर्थिक मदद अप्रत्याशित और अनोखी है। खासतौर से इस कोराना के समय में इससे खेल के प्रति हमारे जुनून को बढ़ावा मिलेगा। वुशु खिलाड़ी सुमित पुलामी ने कहा कि इस पैसे को मैं अपनी ट्रेनिंग पर इंवेस्ट करूंगा और अगले इंटरनेशनल गेम्स में मेडल जीतने की पूरी कोशिश करूंगा।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Delhi is at the forefront in sports like electricity, water, education and health, our dream, one day India brings more medals than China - CM Arvind Kejriwal
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X