• search

अफवाह वाले वीडियो का सच, पाकिस्तान के एक वीडियो के चलते भारत में चली गई 30 लोगों की जान

By Bavita Jha
Subscribe to Oneindia Hindi
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

    नई दिल्ली। सोशल मीडिया पर एक वीडियो तेजी से वायरल हुआ। वीडियो में दिखाया गया है कैसे बच्चे की चोरी की जाती है। पिता के हाथ से बाइक सवार बच्चा छीनकर लेकर जाते हैं। व्हाट्सऐप पर वायरल हुए इस वीडियो के बाद भारत में नया आंतक मच गया। भीड़ का आतंक। भीड़ ने एक अफवाह के पीछे अब तक 30 लोगों की जान ले ली है। मॉब लिंचिंग की वजह से भारत के अलग-अलग इलाके में 30 लोगों की पीट-पीट कर हत्या कर दी गई, लेकिन इस वीडियो जब सच्चाई सामने आई तो देखने वालों के होश उड़ गए।

     पाकिस्तान ने आया वीडियो भारत में गई 30 लोगों की जान

    पाकिस्तान ने आया वीडियो भारत में गई 30 लोगों की जान

    दरअसल पिछले कुछ दिनों से व्हाट्सऐप पर एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है, जिसमें दो बाइक सवार एक शख्स से उसका बेटा छीनकर फरार हो जाते हैं। इस वीडियो के वायरल होने के बाद भारत में बच्चा चोरी के आरोप में अब तक 30 लोगों की जान चली गई। जिस वीडियो को लेकर भीड़ हिंसक होकर लोगों की जान ले रही हैं उसकी सच्चाई तो ये हैं कि वो वीडियो भारत का है ही नहीं। जिस वीडियो की वजह से अफवाह फैली वो वीडियो पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान का है।

     जागरुकता देने वाले वीडियो को बनाया अफवाह की वजह

    जागरुकता देने वाले वीडियो को बनाया अफवाह की वजह

    जिस वीडियो की वजह से भारत में अफवाह फैली वो वीडियो पाकिस्तान का है। कराची स्थित रौशनी नाम के एनजीओ ने 2016 में उस वीडियो को बनाया था। वीडियो का मकसद लोगों को अपने बच्चों को सुरक्षित रखने का संदेश देना था। जारूकता के लिए इस वीडियो को शूट किया था। वीडियो में यह जानकारी भी दी गई है कि कराची में हर साल 3000 बच्चे गायब हो जाते हैं, इसलिए अपने बच्चों का ख्याल रखिए, लेकिन कुछ असमाजिक तत्वों ने इस वीडियो को चतुराई से एडिट कर इसे भ्रामक बनाकर अफवाह की वजह बना दी।

     पाकिस्तान के वीडियो को किया एडिट

    पाकिस्तान के वीडियो को किया एडिट

    पाकिस्तान का एनजीओ रौशनी गायब बच्चों के लिए काम करता है और इसी विषय पर लोगों को संदेश देने के लिए साल 2016 में एडवरटाइंजिग एजेंसी स्पेक्ट्रम वाई एंड आर से हाथ मिलकर एनजीओ से ये वीडियो शूट किया था। लेकिन कुछ शरारती तत्वों ने बड़ी चालाकी से इसे एडिट कर वो हिस्सा दिखाया, जिसमें बाइक सवार पिता की गोद से उसका बेटा छीन लेते हैं। आगे का हिस्सा दिखाया ही नहीं और न ही उस संदेश का दिखाया, जिसकी वजह से इस वीडियो को तैयार किया गया था। भारत में वायरल हुए वीडियो में बच्चे को चुराने वाला पार्ट को ही दिखाया गया, जबकि इसके आगे के हिस्से में दिखाया जाता है कि बाइक सवार बच्चे को उसके पिता को लौटा देते हैं। इस वीडियो के आखिरी में संदेश दिखाया जाता है कि हर साल कराची में 3000 बच्चे गायब होते हैं। अपने बच्चों को सुरक्षित रखें।

     पाकिस्तान के इस वीडियो से फैली अफवाह

    पाकिस्तान के इस वीडियो से फैली अफवाह

    पाकिस्तान में इस बने इस वीडियो को 6 मिलियन बार शेयर किया गया। लेकिन भारत में इस वीडियो की वजह से 30 लोगों की जान चली गई। ऐसे मनें हमारी सलाह है कि बिना किसी वीडियो की सत्यता जाने न तो उसपर विश्वास करें और न ही उसे शेयर करें।

    पढ़ें- करते हैं नेट बैंकिंग तो हो जाएं अलर्ट,आपके पासवर्ड पर है हैकर्स की नजर,देखें दुनिया के खतरनाक पासवर्ड की लिस्ट

    जीवनसंगी की तलाश है? भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें - निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    A video clip of two bike-borne men snatching a child from his parents has been doing rounds on social media, ‘instigating’ certain groups to lynch nearly 30 people. But what they do not know is — the video has more to it than what they have seen.

    Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
    पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.

    X
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Oneindia sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Oneindia website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more