• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

आर्मी चीफ ने रक्षा बजट पर कहा- हमने 8% की मामूली वृद्धि देखी

|

नई दिल्‍ली। लेह, लद्दाख, सियाचिन और डोकलाम जैसे ऊंचे व ठंडे क्षेत्रों में तैनात सैनिकों पर भारतीय नियंत्रक और महालेखा परीक्षक की रिपोर्ट से बवाल उठ खड़ा हुआ है। सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवने ने रक्षा बजट आवंटन पर अपनी बात कही है। उन्‍होंने कहा है कि हमने साल पर लगभग 8% वर्ष की मामूली वृद्धि देखी है, हम इस बजट का प्रबंधन और इसका पूरा उपयोग कैसे करें, इस बारे में अध्ययन करेंगे।

आर्मी चीफ ने रक्षा बजट पर कहा- हमने 8% की मामूली वृद्धि देखी

उन्‍होंने कहा कि हम बजट के आवंटन के बावजूद इस पर आधुनिकीकरण करना जारी रखेंगे। पिछले साल ही हमने 4-5 विभिन्न प्रकार के हथियार प्रणालियों और प्लेटफार्मों को शामिल किया था। आधुनिकीकरण कभी मुद्दा नहीं रहा।

CAG की रिपोर्ट से मचा था बवाल

बता दें कि सोमवार को संसद के दोनों सदनों लोकसभा और राज्यसभा में CAG की रिपोर्ट पेश की गई। इसमें कई सवाल उठाए गए थे। इसके अनुसार, लेह, लद्दाख, सियाचिन और डोकलाम जैसे ऊंचे व ठंडे क्षेत्रों में दिन रात ड्यूटी पर तैनात भारतीय सैनिकों को जरूरत का सामान नहीं मिल पा रहा है। इन दुर्गम जगहों पर तैनात सैनिकों को बर्फ में चलने के लिए जूते, गर्म कपड़े, स्लीपिंग बैग और सन ग्लासेज की गंभीर किल्लत है। जवानों के पास खाने-पीने का जरूरी सामान भी कम है।

Bigg Boss के विनर तो बने सिद्धार्थ शुक्‍ला लेकिन बाजीगर बना कोई और, विजेता से भी किए मोटी कमाई

सीडीएस ने क्‍या दिया जवाब

बजट में रक्षा पर आंवटन के बारे में सीडीएस रावत ने कहा था कि इस मामले में चिंता करने की जरूरत नहीं है। सेनाओं को फंड जुटाने के लिए अन्य संसाधनों की ओर रुख करना चाहिए। हम लोग अगर मेक इन इंडिया के सिद्धांत पर चलें तो हथियार व अन्य साजो-सामान जुटाने में पैसे की काफी बचत हो सकती है। सेना की जमीन पर घर बनाकर भी धन जुटाया जा सकता है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Army Chief General Manoj Mukund Naravane on defence budget allocation.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X