Padmavati Row: उपराष्ट्रपति ने कहा, विरोध के नाम पर हिंसा स्वीकार नहीं

Written By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। पद्मावती फिल्म को लेकर लंबे समय से चल रहे विवाद के बीच उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि हिंसा की धमकी और लोगों को चोट पहुंचाने के लिए इनाम की घोषणा को कतई स्वीकार नहीं किया जा सकता है। वेंकैया नायडू ने परोक्ष रूप से फिल्म का जिक्र नहीं किया , लेकिन उन्होंने सामान्य रूप से फिल्म और कला के क्षेत्र का जिक्र करते हुए कहा कि लोगों को कानून का पालन करना चाहिए। हालांकि उन्होंने साथ में यह भी कहा है कि लोगों को दूसरों की भावना आहत नहीं हो इसका भी ध्यान रखना चाहिए।

 venkaiah naidu

क्या एक करोड़ रुपए होना इतना आसान
नई दिल्ली के लिटरेरी फेस्टिवल के दौरान बोलते हुए वेंकैया नायडू ने कहा कि अब कुछ फिल्म को लेकर नई समस्या खड़ी हो गई है, कुछ धर्म संप्रदाय के लोगों की भावनाएं फिल्मों की वजह से आहत हुई है, जिसके चलते काफी प्रदर्शन हो रहे हैं। कुछ लोग विरोध के दौरान अपनी सीमाओं को पार कर गए और इनाम तक की घोषणा कर दी। उन्होंने कहा कि इन लोगों के पास इतना पैसा है या नहीं मुझे इसपर शक है। हर कोई एक करोड़ रुपए के इनाम की घोषणा कर रहा है, क्या एक करोड़ रुपए होना इतना आसान है।

लोकतांत्रिक तरीके से होना चाहिए विरोध
नायडू ने कहा कि लोकतंत्र में इसे स्वीकार नहीं किया जा सकता है। आपके पास विरोध करने का अधिकार है, लेकिन यह विरोध सिर्फ लोकतांत्रिक तरीके से होना चाहिए, आपको संबंधित प्रशासन के पास जाना चाहिए, आप किसी को शारीरिक रूप से नुकसान नहीं पहुंचा सकते हैं, किसी को धमकी नहीं दे सकते हैं। हमे कानून का उल्लंघन नहीं करना चाहिए। नायडू ने इस बात पर जोर दिया कि वह किसी एक फिल्म की बात नहीं कर रहे हैं, वह आम तौर पर यह बात कह रहे हैं, इस दौरान नायडू ने कई फिल्मों का नाम भी लिया जिन्हें प्रतिबंधित कर दिया गया था, जिसमे गरम हवा, किस्सा कुर्सी का और आंधी का नाम शामिल है।

लगातार जारी है विरोध
उपराष्ट्रपति ने कहा कि आपके पास कानून को हाथ में लेने का कोई अधिकार नहीं है, दूसरी तरफ आपको इस बात का भी अधिकार नहीं है कि आप किसी की भावनाओं को ठेस पहुंचाए। नायडू का बयान इसलिए भी अहम है क्योंकि यह ऐसे समय पर आया है जब पद्मावती फिल्म को लेकर विवाद चल रहा है और की समुदाय फिल्म का विरोध कर रहे हैं, उनका कहना है कि फिल्म में इतिहास के साथ छेड़छाड़ की गई है।

इसे भी पढ़ें- 'पद्मावती' के समर्थन पर दीपिका के बाद भाजपा नेता ने ममता बनर्जी को दी नाक काटने की धमकी

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Amidst Padmavati row Vice president Venkaiah Naidu says violence is not accepted. He says one should not hurt the sentiments of the people.
Please Wait while comments are loading...

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.