• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

लॉकडाउन के बीच विशेष ट्रेन से बॉर्डर सुरक्षा के लिए रवाना किए गए लगभग 1,000 सैनिक

|

नई दिल्ली। उत्तर भारत में ऑपरेशनल क्षेत्रों में बेंगलुरु, सिकंदराबाद, गोपालपुर और बेलगाम जैसे प्रमुख केंद्रों में अपना प्रशिक्षण पूरा कर चुके करीब 950 सेना के जवानों की तैनाती के लिए उनके स्थानांतरण की जरूरत को देखते हुए शुक्रवार को लॉकडाउन के बीच एक विशेष ट्रेन बेंगलुरु से रवाना किए गए है। 20 अप्रैल को जम्मू पहुंचने वाली इस विशेष ट्रेन में सवार सभी कार्मिक अनिवार्य क्वैरेंटीन अवधि से गुजर चुके हैं और मेडिकली फिट हैं।

कोरोना वैक्सीन: ऑक्सफोर्ड ही नहीं, ये 6 वैक्सीन भी पहुंच चुकी हैं थर्ड फेज के ट्रायल में

army

जानकार अधिकारियों के अनुसार इसी सप्ताह की शुरुआत में केंद्र ने राष्ट्रीय सुरक्षा पर विचार करते हुए भारतीय सेना के जवानों की तैनाती के लिए दो विशेष ट्रेनों को चलाने के लिए अपनी अनुमति प्रदान की थी। एक सीनियर अधिकारी ने बताया कि उत्तरी और पूर्वी सीमाओं के लिए ऑपरेशनल जरूरतों को पूरा करने के लिए दो सैन्य विशेष ट्रेनें चलाने की योजना है।

दुनिया महामारी से लड़ रही है और पाकिस्तान आतंक का निर्यात करने में व्यस्त है: सेना प्रमुख

12 अगस्‍त को रूस से आ रही है पहली कोरोना वायरस वैक्‍सीन, जानिए इसके बारे में सबकुछ

army

गौरतलब है पहली सैन्य विशेष ट्रेन 17 अप्रैल को बैंगलोर से चलकर बेलगाम, सिकंदराबाद और अंबाला होते हुए 20 अप्रैल को जम्मू पहुंचेगी जबकि दूसरी ट्रेन 18 अप्रैल से बैंगलोर चलकर बेलगाम, सिकंदराबाद, गोपालपुर, हावड़ा और एनजेपी होते हुए 20 अप्रैल को गुवाहाटी पहुंचेगी।

उत्तर प्रदेश में बच्चों के लिए डिजिटल स्कूल शुरू करने जा रही है योगी सरकार, अन्य राज्य भी सीख सकते हैं

army

उन्होंने बताया कि यह बेंगलुरु, बेलगाम, सिकंद्राबाद और गोपालपुर में श्रेणी ए और बी प्रशिक्षण प्रतिष्ठानों की मरम्मत में सक्षम होगा। साथ ही सीमाओं में तैनात | सक्रिय ऑपरेशनल संरचनाओं की तैयारियों में मदद करता है।

army

दो विशेष ट्रेनों के प्रचालन के लिए रेलवे ने Covid-19 के लिए सभी संभावित सावधानियों को सुनिश्चित किया है। इनमें प्लेटफॉर्म और बोगियों की कीटाणुशोधन, कर्मियों की विस्तृत जानकारी, बोगियों के बाहर और अंदर चिपकाए गए निर्देश, सेनिटेशन टनल की स्थापना और यात्रियों की सोशल डेस्टेंसिंग का पालन और स्क्रीनिंग शामिल है।

Covid19: लॉकडाउन के कारण अकेले विमानन क्षेत्र में खतरे में हैं 20 लाख नौकरियां!

army

उल्लेखनीय है गत 25 मार्च को लागू राष्ट्रव्यापी 21-दिवसीय लॉकडाउन 1.0 के दौरान कोरोनो वायरस बीमारी के प्रसार के प्रकोप को रोकने के लिए घरेलू और अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों को बंद कर दिया गया था। भारतीय रेलवे भी केवल आवश्यक वस्तुओं की निर्बाध आपूर्ति के लिए माल और पार्सल ट्रेनें चला रहा है।

Covid19: महामारी का रोजगार पर बड़ा असर, भारत में 23 फीसदी से अधिक हुई बेरोजगारी

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
According to officials, earlier this week, considering the national security, the Center had given its permission to run two special trains for the deployment of Indian Army personnel. A senior official said that there are plans to run two military special trains to meet the operational requirements for the northern and eastern borders.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X