• search
गुजरात न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

अमेरिका से अकेली नहीं, वहां फंसे 4 स्टूडेंट्स को भी साथ लेकर गुजरात लौटी सलोनी, दादा को सुनाई दास्तान

|

सूरत। कोरोना-लॉकडाउन के दरम्यान दो माह से अमेरिका में ठहरी छात्रा सलोनी गुलाबवानी अब गुजरात लौट आई है। वहां से वह अकेली नहीं आई, बल्कि अपने साथ चार और लोगों को लेकर लौटी है। सलोनी ने अपने दादा को अमेरिका के केलिफोर्निया से सूरत लौटने तक की पूरी कहानी सुनाई। सलोनी ने बताया कि, मैंने केलिफोर्निया में आ रहीं परेशानियों के बारे में अपने दादा शोभाराम गुलाबवानी को जानकारी दी थी।

Surat girl Saloni Gulabwani returns to India from california with four students

''मेरे दादा ने कोटा-बूंदी के सांसद व लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला से बातचीत की। जिसके कुछ समय बाद भारतीय दूतावास से फोन आया और अधिकारियों ने विश्वास दिलाया कि जल्द ही उन्हें भारत भेज दिया जाएगा। सलोनी गुलाबवानी बोलीं- ''हम गतवर्ष अगस्त में जे-वन स्टूडेंट वीजा लेकर अमेरिका के केलिफोर्निया में एक साल की इंटर्नशिप करने गए थे। इंटर्नशिप पूरी होती उससे पहले ही कोरोना वायरस ने अमेरिका को चपेट में ले लिया। हालांकि, भारत में 25 मार्च से लागू लॉकडाउन से पहले ही देशभर से इंटर्नशिप करने गए 500 छात्रों में से अधिकांश केलिफोर्निया से लौट गए, लेकिन हम कुछ लोग वहीं रह गए थे। लॉकडाउन के दौरान यूं वहां रहने-खाने-पीने की कोई दिक्कत नहीं आई, लेकिन इंटर्नशिप अधूरी रहने और यहां परिजनों की चिंता उन्हें परेशान कर रही थी। इस बीच सभी की इंटर्नशिप कम्पलीट हो गई। हम सभी खुश हुए, लेकिन वहां लॉकडाउन में फंस गए तो जल्द भारत लौटने की चिंता सताने लगी।''

सलोनी ने कहा, ''वहां लॉकडाउन समाप्त होने का नाम नहीं ले रहा था और एक साल के वीजा की अवधि भी अगले एक-दो माह में खत्म होने वाली थी तो हम सब डरे हुए थे।' बकौल सलोनी ''दादा जी ने लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला से मेरे साथ चार अन्य छात्रों कशिका चुघ, दीप भाजीवाला, आदित्य देसाई व शिव जरीवाला के भी फंसे होने की बात बताई। तब अमेरिका में भारतीय दूतावास ने हम पांचों छात्रों की सीट कैलिफोर्निया से भारत आ रही पहली फ्लाईट में बुक करवाई और सोमवार तड़के हम सभी भारत लौटे।''

सलोनी ने कहा, ''मैंने मेरे साथ लौटे 4 स्टूडेंट्स से कहा कि मैं तुम्हें जरूर साथ लूंगी। बहरहाल हम पांचों को नवसारी के एक होटल में 14 दिन के लिए क्वारंटाइन किया गया है। हमारे लौटने से परिजनों में खुशी की लहर है।'' वहीं, सलोनी के परिजनों ने कहा कि यह वाकई खुशी की बात है कि बच्चे सुखद सफर पूरा कर घर लौटे हैं। वो कोच्चि से अहमदाबाद आए। दरअसल, सोमवार तडक़े केरल के कोच्चि एयरपोर्ट पर ही उतरे थे। वहां से ये सभी विमान से अहमदाबाद आए और बाद में दोपहर में नवसारी के लिए रवाना हुए।'

PM मोदी के 'आत्मनिर्भर भारत' से प्रेरित हो हरियाणा के दिव्यांग ने शुरू किया खुद ही धंधा, VIDEO

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Surat girl Saloni Gulabwani returns to India from california with four students
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X