• search
गुजरात न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
Oneindia App Download

Gujarat Polls 2022: कांग्रेस के अहमद पटेल की बेटी मुमताज ने पिता के बाद क्‍यों नहीं लड़ा गुजरात चुनाव?

कांग्रेस के दिग्गज नेता अहमद पटेल की बेटी मुमताज पटेल ने गुजरात विधानसभा चुनाव क्‍यों नहीं लड़ी इस पर बात करते हुए कहा मैं अभी लोगों को और क्षेत्र को समझ रही हूं। लोकसभा चुनाव 2024 में भरुच सीट से लड़ने की संभावना जताई।
Google Oneindia News

Gujarat Elections 2022: गुजरात में प्रमुख विपक्षी कांग्रेस पार्टी के दिवंगत दिग्गज नेता अहमद पटेल की बेटी मुमताज पटेल ने पहले चरण के मतदान में जमकर प्रचार किया। वहीं गुरुवार को पहले चरण के मतदान के दौरान मुमताज पटेल ने अपेन मताधिकार का प्रयोग करते हुए भरूच के अंकलेश्वर में एक पोलिंग बूथ पर अपना वोट डाला। ऐसा क्‍या हुआ वो इस बार कांग्रेस के टिकट पर चुनाव क्‍यों नहीं लड़ी?इसके साथ ही जानते हैं कि भविष्‍य में होने वाले चुनाव में क्‍या ऐसे ही चुनाव प्रचार करती रहेंगी या पिता की राह पर चलते हुए चुनाव भी लड़ेगी?

मुमताज पटेल क्‍यों नहीं लड़ी विधानसभा चुनाव ?

मुमताज पटेल क्‍यों नहीं लड़ी विधानसभा चुनाव ?

मुमताज पटेल ने अपने पिता की मौत के बाद इस साल विधानसभा चुनाव क्‍यों नहीं लड़ी जब पूछा गया तो दिग्गज कांग्रेसी नेता की बेटी मुमताज ने कहा समझने के लिए समय चाहिए और वह पहले चीजों का अवलोकन करना चाहेंगी। उन्‍होंने कहा फिलहाल, मैं चीजों को देखूंगी और समझूंगी। इसके बाद मैं जनता के बीच जाऊंगी और फिर चुनाव लड़ूगी।

अपने पिता की तरह अपने दम पर पांव जमाना चाहती हूं

अपने पिता की तरह अपने दम पर पांव जमाना चाहती हूं

मुमताज पटेल ने कहा मैं अहमद पटेल की बेटी हूं इस बात पर मुझे गर्व हैं लेकिन मैं राजनीति में अपने पिता की तरह अपने दम और अपनी काबलियत पर पांव जमाना चाहती हूं।

क्या 2024 का लोकसभा चुनाव लड़ेगी

क्या 2024 का लोकसभा चुनाव लड़ेगी

राजनीति में अपने भविष्‍य की योजनाओं को साझा करते हुए कहा कि वो अभी जनता के बीच जा रही हैं और सारे हालात को समझ रही हैं। क्‍या कांग्रेस के टिकट पर लोकसभा चुनाव 2024 में चुनाव लड़ेगी? इसके जवाब में मुमताज ने विश्वास जताया कि कांग्रेस भरूच में अंकलेश्वर सीट पर वो दावा कर सकती हैं।

राजनीति में एंट्री कर चुकी हैं

राजनीति में एंट्री कर चुकी हैं

गौरतलब है कि मुमताज पटेल अहमद पटेल की बेटी हैं जो कांग्रेस और गांधी परिवार के सबसे करीबी नेताओं में से एक थे।1985 में राजीव गांधी ने उन्‍हें अपना सचिव बनाया था। साल 2014 तक अहमद पटेल कांग्रेस के सबसे कद्दावर नेताओं में से एक है। विदेश में पढ़ाई पूरी करने वाली मुमताज पटेल ने मीडिया को दिए गए इंटरव्‍यू में बताया था कि वो अपने पिता के कहने पर वो अपने भरूच आईं थी। उन्‍होंने बताया कि उनका बचपन भरुच में दादी के साथ बीता है। पापा की बीमारी के समय मुमताज भरूच आईं और परिवार का ट्रस्‍ट संभालने लगी और अब पिता के दिखाए रास्‍ते पर चलते हुए राजनीति में एंट्री कर चुकी हैं।

गुजरात के जंबूर में बसा है भारत का
" title="गुजरात के जंबूर में बसा है भारत का "मिनी-अफ्रीकी गांव", पहली बार बनाया गया है इनके लिए स्‍पेशल बूथ
" />गुजरात के जंबूर में बसा है भारत का "मिनी-अफ्रीकी गांव", पहली बार बनाया गया है इनके लिए स्‍पेशल बूथ

Comments
English summary
Mumtaz Patel, daughter of Congress's Ahmed Patel, not contest the Gujarat elections after her father, know the reason
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X