• search
चंडीगढ़ न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

पंजाब में भाजपा नेता के बेटे की हत्या के मामले में हाईकोर्ट ने दिया सरकार और सीबीआई को नोटिस

|
Google Oneindia News

चंडीगढ़। पंजाब में विपक्षी दल भाजपा के एक नेता थुरु राम कटाल (दिवंगत) के बेटे विशाल हत्या का मामला चर्चा में है। हाईकोर्ट ने इस मामले पर पंजाब सरकार और सीबीआई को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है। इसके अलावा हाईकोर्ट ने पठानकोट पुलिस से भी इस मामले में अब तक की स्टेटस रिपोर्ट तलब की है। हाईकोर्ट की ओर से कहा गया है कि, अब इस मामले की अगली सुनवाई अगले महीने होगी। जिसकी तारीख 17 नवंबर बताई गई है।

the case of murder of son of BJP leader, Punjab High Court gave notice to the government and CBI

दरअसल, हाईकोर्ट में एक याचिका दायर कर मृतक विशाल के बड़े भाई विनय की ओर से न्याय की मांग की गई थी। उन्होंने कहा कि, मेरे भाई का 2020 को अपहरण कर उसकी हत्या कर दी गई थी। उसकी लाश पंजाब और जम्मू-कश्मीर बॉर्डर के पास फेंक दी गई थी। इस मामले की तब निष्पक्ष जांच नहीं हुई। विनय के मुताबिक, पठानकोट पुलिस ने मामले की ठीक से जांच ना कर पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मौत का कारण चोट बताया था। ऐसे में विनय की याचिका में मांग की गई कि मामले की जांच सीबीआई से करवाई जाए। उधर, सीबीआई को इस मामले पर हाईकोर्ट से नोटिस भेजा गया है।

कैबिनेट मंत्री बंशीधर भगत रामलीला में बने 'दशरथ', 43 सालों से लूट रहे है वाहवाही

इधर, चटोपाध्याय को मिला नया प्रभार
पंजाब सरकार द्वारा पीएसपीसीएल के डीजीपी सिद्धार्थ चटोपाध्याय को विजिलेंस चीफ डायरेक्टर बना दिया गया है। अब चटोपाध्याय विजिलेंस डायरेक्टर का कार्यभार भी संभालेंगे। बताया जा रहा है कि, सरकार का यह आदेश विजिलेंस ब्यूरो के चीफ बीके उप्पल के लंबी छुट्टी पर होने के दौरान तक लागू रहेगा। वहीं, सरकार ने पीपीएस अधिकारी हरमनबीर सिंह गिल को फाजिल्का के एसएसपी पद की जिम्मेदारी सौंपी है।हरमनबीर इससे पहले नवांशहर के एसएसपी थे।

Comments
English summary
the case of murder of son of BJP leader, Punjab High Court gave notice to the government and CBI
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X