दुकानदार ने निकाला जीएसटी का तोड़, अलग-अलग बेच रहा दोनों पैर के जूते

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। 1 जुलाई से शुरू हुए वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) को लेकर लोगों और व्यापारियों के बीच कई तरह के भ्रम बने हुए हैं, बहुत से लोग इसका विरोध भी कर रहे हैं। इस सबसे आगे जाकर कई दुकानदारों ने जीएसटी से बचने के अजीबोगरीब नुस्खे इजाद कर लिए हैं। कोई दुकानदार एक जोड़ी जूते को अलग-अलग कर बेच रहे है और इसके लिए दो अलग-अलग बिल बना रहा है, तो वहीं कपड़ा बेचने वाले टुपट्टे को सलवार सूट से अलग बेच रहे हैं।

gst

चेन्नई में एक दुकानदार के एक जोड़ी जूते को अलग-अलग कर बेचने और दो बिल बनाने का मामला सामने आया है। 500 रुपये से कम के जूते पर पांच फीसदी जीएसटी लगाया गया है जबकि उससे ज्यादा कीमत के फुटवेअर पर 18 फीसदी टैक्स लगाया गया है। ऐसे में जूतों का अलग-अलग बिल बनाकर उन्हें 500 रुपए से कम कीमत का रखकर 18 की जगह पांच फीसदी टैक्स देने के लिए ये तरीका अपनाया जा रहा है। दूसरी चीजों में भी ये हो रहा है।

अपने उत्पाद को जीएसटी के दायरे से बाहर करने के लिए व्यापारी लागतार जुगत भिड़ा रहे हैं। कम टैक्स दर का फायदा लेने के लिए कई वस्तुओं की संरचना में ही बदलाव किया जा रहा है। सरकार ने जीएसटी में 0,5,12, 18 और 28 फीसदी की दर से टैक्स के पांच नए टैक्स स्लैब निर्धारित किए हैं।

GST: Central Goverment ने Launch की GST दरों के लिए Mobile APP । वनइंडिया हिंदी

पढ़ें- GST दरों की जानकारी के लिए सरकार ने लॉन्च किया मोबाइल ऐप

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
shopkeepers have started to make a separate bill for each shoe of the pair
Please Wait while comments are loading...