• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

ICICI बैंक ने ग्राहकों को दिया डबल झटका, घटाई ब्याज दरें, देना पड़ेगा कैश ट्रांजैक्‍शन चार्ज

|

नई दिल्ली। ICICI Banking news Update. देश के निजी सेटक्टर सेक्टर के बड़े बैंक ने अपने ग्राहकों को डबल झटका दिया है। बैंक ने जहां फिक्स्ड डिपॉजिट की ब्याज दर में कटौती की है तो वहीं कैश ट्रांजैक्शन पर चार्ज वसूलने का निर्देश दिया है। देश के बड़े निजी सेक्टर के बैंक आईसीआईसीआई(ICICI Bank) ने कैश ट्रांजैक्‍शन चार्ज वसूलने की बात कही है। बैंक ने ग्राहकों को डिजिटल ट्रांजैक्शन को बढ़ावा देने की अपील की है, ताकि खाताधारकों को कम से कम बैंक आना पड़े।

PNB Festival Bonanza: पंजाब नेशनल बैंक का बोनांजा ऑफर, कर्ज लेना हुआ सस्ता, नहीं देना होगा ये चार्ज

 ICICI बैंक ने ग्राहकों को दिया झटका

ICICI बैंक ने ग्राहकों को दिया झटका

ICICI बैंक के ग्राहकों के लिए यह खबर खास है। बैंक ने अपने ग्राहकों को अलर्ट किया है और उन्हें कैश ट्रांजैक्शन से बचने की सलाह दी है। बैंक ने डिजिटल ट्रांजैक्शन( digital Transaction) को बढ़ावा देते हुए अपील की है कि अगर ग्राहक कैश ट्रांजैक्शन करते हैं तो उन्हें चार्ज देना पड़ेगा। बैंक ने कहा है कि अगर ग्राहक लोन की EMI भरने के लिए बैंक के ब्रांच में जाकर कैश में जमा करता है तो उसे कैश ट्रांजैक्शन चार्ज देना होगा।

 15 सितंबर 2020 से लागू होंगे नए नियम

15 सितंबर 2020 से लागू होंगे नए नियम

ICICI बैंक ने कहा है कि कैश ट्रांजैक्शन के नए नियम 15 सितंबर 2020 से लागू होंगे। बैंक का कहना है कि डिजिटल इंडिया के तहत उन्होंने यह कदम उठाया है, जिसमें बैंकिंग सेवाओं के लिए डिजिटल ट्रांजैक्शन को बढ़ावा दिया जा रहा है। बैंक ने कहा है कि कैश ट्रांजैक्शन चार्ज के तहत अगर ग्राहक बैंक के ब्रांच आकर रिपेमेंट(Repayment) करता है तो उसे ये चार्ज देना पड़ेगा। अगर ग्राहक लोन के पार्ट पेमेंट( Part Payment),फॉरक्लोजर( Foreclosure), कन्वर्जन चार्ज( Convertion charge), स्वैप चार्ज( Swipe Charge), डिलीवरेबल चार्ज( Deliverable Charege) का भुगतान अगर कैश में करता है तो ये चार्ज नहीं लिया जाएगा।

 कितना देना पड़ेगा चार्ज

कितना देना पड़ेगा चार्ज

बैंक ने कहा है कि अगर ग्राहक अपने लोन के रिपेमेंट को कैश में जमा करने आता है तो EMI की कैश भुगतान पर उसे 100 रुपए का चार्ज देना पड़ेगा। इस चार्ज पर उसे जीएसटी भी देना पड़ेगा। ये चार्ज किसी भी तरह से लोन के ईएमआई भुगतान पर लागू होगा। बैंक ने ग्राहकों से अपील की है कि अधिक से डिजिटल बैंकिंग सर्विसेस का इस्तेमाल करें।

 बैंक ने घटाई FD पर ब्याज दर

बैंक ने घटाई FD पर ब्याज दर

ICICI बैंक ने फिक्स्ड डिपॉजिट( FD) पर मिलने वाली ब्याज दरों में कटौती कर दी है। बैंक ने अलग-अलग टाइम पीरियड्स के लिए एफडी की ब्याज दरों में कटौती की है। बैंक ने 91 दिन से 184 दिवों की FD पर ब्याज दर को घटाकर 3.50 फीसदी कर दिया है। वहीं बैक ने FD पर अधिकतम ब्याज दर को 5.50फीसदी कर दिया है। नई ब्याद दरें 7 सितंबर से लागू कर दी गई है। बैंक द्वारा तय की गई ब्याज दरों के मुताबिक 7 से 29 दिन के लिए अब FD पर 2.5 पीसदी ब्याद, 30 से 90 दिन की FD पर 3 फीसदी, 91 से 185 दिन की FD पर 3.50 फीसदी, 290 दिनों से 1 साल की FD पर 4.40 फीसदी ब्याज, 1 से 18 महीने की एफडी पर 5 फीसदी ब्याज, 18 महीने से 2 साल की अवधि पर 5.10 फीसदी, 2 से 3 साल की अवधि पर 5.50 फीसदी ब्याज देने का फैसला किया है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Banking news: ICICI Bank collect cash transaction charge for Loan loan account Customer, Cut FD Rate of interest
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X