मां-बेटे की इस तस्वीर के पीछे है दुखों का पहाड़, सहन कर सकें तो ही पढ़ें

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

ब्रिस्बेन। ब्रिस्बेन की रहने वाली एक महिला को ऐसे दर्द से गुजरना पड़ा है जिसने उसे अंदर तक तोड़ दिया है। मां बनने का सुख पाने जा रही ब्रूक कैंपबेल की जिंदगी में आखिरी वक्त दुखों का ऐसा पहाड़ टूटा कि इससे वो कभी उभर नहीं पाएंगी। कैंपबैल ने प्रेगनेंसी के 9 महीने बाद अपने बच्चे को जन्म तो दिया लेकिन वो गर्भ में ही मर चुका था। दुनिया की किसी भी मां के लिए ये पल सबसे मुश्किल घड़ी होती है।

Bizarre
बह चुका था 1 लीटर से ज्यादा खून

बह चुका था 1 लीटर से ज्यादा खून

ब्रूक कैंपबेल और उनके पति इलिऑट का पहले से ही एक बेटा है। 2 साल के नोहा को जल्द ही एक छोटा भाई मिलने वाला था लेकिन कुदरत ने इस परिवार से उनकी खुशियां आखिरी वक्त पर छीन लीं। ब्रूक को एक दिन रात में तेज दर्द उठा और उनका काफी खून बहने लगा। जब तक घर में एंबुलेंस पहुंची, तब तक ब्रूक का 1 लीटर से ज्यादा खून बह चुका था। ब्रूक अपने बच्चे को लेकर चिंतित थीं। उन्हें अपने पेट में कोई हलचल नहीं महसूस हो रही थी। उन्हें फौरन अस्पताल ले जाया गया जहां उनका अल्ट्रासाउंड हुआ।

पति-पत्नी पर टूट पड़ा गमों का पहाड़

पति-पत्नी पर टूट पड़ा गमों का पहाड़

अल्ट्रासाउंड में जो निकलकर आया उसने उन्हें तोड़ कर रख दिया। ब्रूक के बच्चे की धड़कनें चली बंद हो गई थीं और डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया। ये बात जब ब्रूक के पति को पता चली तो वो इस सदमे को बर्दाश्त नहीं कर पाए और तुरंत जमीन पर गिर गए। इलिऑट को यकीन नहीं हुआ और वो बार-बार कह रहे थे कि ये सच नहीं है। उन्हें संभालने के लिए तीन नर्सों को आना पड़ा।

मृत बच्चे को दिया जन्म

मृत बच्चे को दिया जन्म

गर्भ में मृत पड़े बच्चे को बाहर निकालने की बहुत ज्यादा जरूरत थी। ब्रूक को ऑपरेशन थियेटर ले जाया गया जहां उनका ऑपरेशन हुआ। ब्रूक के लिए ये क्षण काफी मुश्किल था क्योंकि वो ऐसे बच्चे को जन्म देने जा रहीं थीं जो मृत था। फिर भी ब्रूक ने हिम्मत दिखाई और 'डार्सी' को जन्म दिया। दोनों पति-पत्नी ने अपने बच्चे का नाम डार्सी रखा था। ब्रूक ने डार्सी को अपने हाथों में लिया और रो पड़ीं।

डार्सी के साथ बिताए महत्वपूर्ण पल

डार्सी के साथ बिताए महत्वपूर्ण पल

ब्रूक ने डार्सी को आखिरी बार अलविदा कहने से पहले उसके साथ कुछ पल बिताए। उन्होंने पति और बेटे के साथ मिलकर डार्सी के साथ तस्वीरें भी खिंचवाईं। ब्रूक और इलियॉट ने उसे अपनी बाहों में पकड़ा। नोहा ने अपने छोटे भाई के सिर पर किस किया। ब्रूक कहती हैं कि अगर उनके पास नोहा नहीं होता तो उनके लिए जिंदगी जीना मुश्किल हो जाता। वो शुक्र मनाती हैं कि उन्हें अपने पहले बच्चे के साथ ऐसा एक्सपीरियंस नहीं हुआ।

बाकी महिलाओं को कर रही हैं जागरूक

बाकी महिलाओं को कर रही हैं जागरूक

ब्रूक कैंपबेल ने अपना दर्दनाक एक्सपीरियंस दुनिया के साथ शेयर करने का फैसला किया है। उन्होंने एक जेनेटिक बीमारी के बाद अपना बच्चो खोया है और अब वो सभी महिलाओं को इसके बारे में जागरुक करना चाहती हैं।PLACENTAL ABRUPTION नाम की जेनेटिक बीमारी ने उनसे उनकी जिंदगी की इतनी बड़ी खुशी छीन ली। इस बीमारी से प्रेगनेंसी के दौरान इंजेक्शन लगवाकर बचा जा सकता है। लेकिन अफसोस ब्रूक को इस बीमारी के बारे में मालूम नहीं था। (फोटो साभार : डेली मेल)

ये भी पढ़ें:ओवरटाइम करने से महिला रिपोर्टर की मौत, महीने में 159 घंटे किया था ज्यादा काम

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
A woman in Australia shared her heart wrenching moment when she had to delivered her stillborn child. She now urge other woman to go through every medical test during pregnancy.

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.