• search
बलरामपुर न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

बलरामपुर गैंगरेप: मुख्य आरोपी शाहिद की पुलिस रिमांड मंजूर, हो सकते हैं अहम खुलासे

|

बलरामपुर। यूपी के बलरामपुर जिले में हुए छात्रा के साथ गैंगरेप और हत्या के मामले में कोर्ट ने आरोपी की 20 घंटे की पुलिस रिमांड मंजूर कर दी है। दरअसल, कोतवाली गैंसडी क्षेत्र में छात्रा से दरिंदगी और उसकी मौत को लेकर कई ऐसे सवाल हैं जिनका जवाब अभी तक नहीं मिल सका है। मृतका के परिजनों की तहरीर पर पुलिस ने नामजद आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था, लेकिन परिवार फिर भी असंतुष्ट था। पुलिस ने कुछ अनसुलझे सवालों के जवाब उगलवाने के लिए मुख्य आरोपी शहीद की रिमांड अर्जी एडीजे एससी/एसटी कोर्ट पर लगाई थी।

court approves 20 days police remand of balrampur case main accused

क्या है पूरा मामला?

29 सितंबर को कॉलेज में एडमिशन करा कर वापस लौट रही छात्रा का अपहरण कर उसके साथ गैंगरेप की वारदात को अंजाम दिया गया था। उसके बाद पीड़िता को बेहोशी हालत में एक रिक्शे पर बैठा कर उसके घर भेज दिया गया था। पीड़िता के परिजन जब उसे अस्पताल ले जा रहे थे तभी रास्ते में ही पीड़िता ने दम तोड़ दिया था। परिजनों की तहरीर पर पुलिस ने 2 नामजद आरोपियों पर केस दर्ज कर घटना में लिप्त चार आरोपियों को गिरफ्तार कर उन्हें जेल भेज दिया था।

पीएम रिपोर्ट में हुई थी छात्रा से रेप की पुष्टि

पोस्टमार्टम रिपोर्ट से छात्रा के साथ रेप की पुष्टि हो चुकी है। छात्रा के शरीर पर बाहरी चोट के 10 निशान पाए गए थे। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में यह भी खुलासा हुआ कि पीड़िता की मौत लिवर के फटने व अत्यधिक रक्तस्राव से हुई थी। कितने लोगों ने उसके साथ हैवानियत को अंजाम दिया था, इसके लिए मृतका का स्वाब टेस्ट भी कराया जा रहा है। घटना की विवेचना कर रहे सीओ राधारमण सिंह के सामने भी कई ऐसे प्रश्न हैं जिनका जवाब सिर्फ मुख्य आरोपी शाहिद ही दे सकता है। इसीलिए उसे रिमांड पर लेकर पूछताछ की जाएगी।

इन सवालों के जवाब तलाश रही पुलिस

एसपी देव रंजन वर्मा ने बताया कि आरोपी शाहिद की 20 घंटे की रिमांड मंजूर हुई है। इस 20 घंटे में हम कुछ अहम सवालों के जवाब उससे मांगेंगे और यह जानेंगे कि मृतक छात्रा उस सकरे रास्ते से होते हुए घटनास्थल वाले कमरे तक कैसे पहुंची थी। उसके शरीर पर 10 चोट के निशान कैसे आए थे। कितने लोगों ने उसके साथ हैवानियत को अंजाम दिया था। फिलहाल, चार आरोपियों को जेल भेज दिया है। बावजूद इसके मृतका के परिजन कुछ असंतुष्ट नजर आ रहे थे जिसके चलते अपर मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी व एडीजी प्रशान्त कुमार के आदेश पर मामले की गहनता से जांच की जा रही है। जल्द ही दोषियों को कड़ी सजा दिलाई जाएगी।

बलरामपुर गैंगरेप: पीड़ित परिवार से मिले अवनीश अवस्थी और एडीजी प्रशांत कुमार, दिलाया न्‍याय का भरोसा

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
court approves 20 days police remand of balrampur case main accused
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X