• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts
Oneindia App Download

UP Nikay Chunav: दिल्‍ली एमसीडी के बाद यूपी निकाय की बारी, AAP लगाएगी सेंध

दिल्ली एमसीडी चुनाव के साथ ही आम आमदी पार्टी ने यूपी निकाय चुनाव को लेकर तैयारी शुरू कर दी थी। अब राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में भाजपा को नगर निगम की सत्ता से बेदखल करने बाद 'आप' की निगाहें यूपी पर हैं।
Google Oneindia News
Arvind Kejriwal

UP News: आम आदमी पार्टी (AAP) दिल्ली के दिल्ली नगर निगम (Delhi MCD) के चुनावों में मिली बड़ी जीत के दम पर यूपी में आगे होने जा रहे निकाय चुनावों को मजबूती से लड़ने की कोशिश करेगी। पार्टी ने पिछले 15 दिनों में प्रदेश भर में 800 कार्यकर्ता सम्मेलन किए। वह नगर निगम व नगर महापालिका आदि के भ्रष्टाचार को जोर-शोर से उठा रही है। वहीं गंदगी को भी मुद्दा बनाने में जुटी हुई है। पार्टी कार्यकर्ताओं के हौंसले को बढ़ाने के साथ-साथ वह अधिक से अधिक लोगों को जोड़ने का प्रयास कर रही है।

यूपी में इस साल हुए विधानसभा चुनावों में पार्टी ने खूब ताकत झोंकी थी लेकिन उसे यहां काफी निराशा ही हाथ लगी थी। विधानसभा चुनाव में पार्टी को 3.47 लाख यानी कुल मतदान का 0.4 प्रतिशत वोट ही मिल पाया था। इससे ज्यादा 6.37 लाख यानी 0.7 प्रतिशत वोट तो नोटा में पड़े थे।

 Delhi MCD चुनाव में Exit Polls कितने सच, कई सीटों पर फेल हुई 'भविष्यवाणी' Delhi MCD चुनाव में Exit Polls कितने सच, कई सीटों पर फेल हुई 'भविष्यवाणी'

एक भी प्रत्याशी दूर-दूर तक जीत के नजदीक नहीं पहुंचा। फिर भी आप लगातार जिलों में पार्टी से नए लोगों को जोड़ने और समय-समय पर सरकार के खिलाफ प्रदर्शन कर अपनी उपस्थिति दर्ज कराने में पीछे नहीं रहती। आप के निवर्तमान प्रदेश अध्यक्ष सभाजीत सिंह कहते हैं कि यूपी के निकाय चुनावों में पार्टी बेहतर प्रदर्शन करेगी। हमारा एक-एक कार्यकर्ता केजरीवाल के विकास माडल को घर-घर पहुंचाने में जुटा है।

Comments
English summary
After Delhi MCD AAP will break into UP Nikay Chunav
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X