• search
वाराणसी न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
Oneindia App Download

OMG! बस स्‍टैंड वर्कशॉप में दिखा अजगर, लोग पूछे जाना कहां है?

वाराणसी के कैंट रोडवेज बस स्टैंड के समीप बने बस स्टैंड वर्कशाॅप में मंगलवार को सुबह में करीब पांच फीट का एक अजगर दिखाई दिया, अजगर देखने के बाद लोग भयभीत हो गए और वन विभाग को सूचना दिए
Google Oneindia News

वाराणसी, 04 अक्टूबर : वाराणसी के कैंट रोडवेज बस स्टैंड के समीप बने बस स्टैंड वर्कशॉप में मंगलवार को सुबह में करीब पांच फीट का एक अजगर दिखाई दिया। अजगर दिखाई देने के बाद कुछ लोग डर गए, हालांकि वहां पर मौजूद कुछ लोगों ने मजाकिया लहजे में कहा कि यह भी बस में बैठकर यात्रा करना चाहता है। ऐसे में उन लोगों ने पूछा कि जाना कहां है, कौन सी बस से यात्रा करना है? बाद में वहां पर मौजूद कर्मचारियों द्वारा वन विभाग के अधिकारियों को सूचना दिया गया। दोपहर बाद तक अजगर को ले जाने के लिए वन विभाग की तरफ से कोई नहीं पहुंचा था।

जंगली इलाके से अजगर के आने की संभावना

जंगली इलाके से अजगर के आने की संभावना

वर्कशॉप में काम करने वाले कर्मचारियों ने बताया कि कई फॉरेस्ट रूट पर भी यहां से बस संचालित की जाती हैं। ऐसे में उनका कहना है कि फॉरेस्ट रूट पर संचालित होने वाली बसों में से किसी बस में अजगर का यह बच्चा फंस गया होगा या फिर निचले हिस्से में किसी तरह चला गया होगा। उसके बाद अजगर का यह बच्चा वाराणसी चला आया होगा। लोगों ने यह भी सुझाव दिया कि बस के माध्यम से ही उसे फॉरेस्ट एरिया में छोड़ दिया जाए। हालांकि उन लोगों द्वारा वन विभाग के अधिकारियों को सूचना दिया गया लेकिन कोई भी अधिकारी दोपहर बाद तक मौके पर नहीं पहुंचा था। लोगों ने कहा कि ऐसे में अजगर का बच्चा वर्कशॉप के समीप स्थित कूड़े करकट में चला जाएगा तो बड़ा होने पर घातक हो सकता है।

जौनपुर में नीलगाय के बच्चे को बनाने वाला था निवाला

जौनपुर में नीलगाय के बच्चे को बनाने वाला था निवाला

वाराणसी सहित आसपास के जनपदों में अजगर या अजगर का बच्‍चा मिलने की यह पहली घटना नहीं है। पूर्व सितंबर माह के प्रथम सप्ताह में जौनपुर जिले के लाइन बाजार थाना अंतर्गत गोमती नदी के किनारे भी अजगर दिखाई दिया था। विशालकाय अजगर नीलगाय के बच्चे को अपना निवाला बनाने वाला था लेकिन संयोग अच्छा था कि वहां से गुजर रहे ग्रामीणों की नजर उस पर पड़ गई और अजगर को लाठी-डंडे और बांस से मारते हुए नीलगाय बच्चे को अजगर के चंगुल से छुड़ाए। उसके बाद लोगों ने अजगर को रस्सी के सहारे बांधकर वन विभाग के अधिकारियों को सूचना दिया। सूचना मिलने के बाद मौके पर पहुंची वन विभाग के अधिकारी इस विशालकाय अजगर को अपने कब्जे में लेकर चले गए।

पूर्व में चोलापुर और हरहुआ क्षेत्र में भी मिल चुके हैं अजगर

पूर्व में चोलापुर और हरहुआ क्षेत्र में भी मिल चुके हैं अजगर

वाराणसी जिले में अजगर दिखाई देने का यह पहला मामला नहीं है। इसी साल अप्रैल माह में चोलापुर थाना क्षेत्र के अजगरा गांव में गेहूं के खेत में अजगर दिखाई दिया था। इसके अलावा हरहुआ इलाके में भी अजगर दिखाई देने के बाद ग्रामीणों द्वारा वन विभाग की टीम को सूचना दिया गया था। सूचना मिलने के बाद मौके पर पहुंची वन विभाग की टीम अजगर के बच्चे को अपने कब्जे में लेकर चली गई। वन विभाग अधिकारियों ने बताया कि अजगर के बच्चे को जंगली इलाके में छोड़ दिया जाएगा।

Python Rescue: ट्रक की सवारी कर रहा था 15 फीट का अजगर; सतना से फतेहपुर तक का किया सफरPython Rescue: ट्रक की सवारी कर रहा था 15 फीट का अजगर; सतना से फतेहपुर तक का किया सफर

Comments
English summary
Python seen in bus stand workshop in Varanasi
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X