सड़क पर रक्तरंजित पड़ी थी दो बहनों की लाश, लिपटकर रोए जा रहा था भाई

Subscribe to Oneindia Hindi

उन्नाव। लखनऊ कानपुर राष्ट्रीय राजमार्ग पर हुए हादसे में दो सगी बहनें व दो एमआर की दर्दनाक मौत हो गयी। दो सगी बहनें अपने मामा की तेरही में शामिल होने के लिये मोटरसाइकिल से आपने भाई के साथ जा रही थी। अभी वह सदर कोतवाली क्षेत्र अन्तर्गत गहरा के पास पहुंची थी कि पीछे से आ रहे ट्रक ने रौंद दिया। जिससे दोनों बहनों की मौके पर ही मौत हो गयी जबकि दूसरी घटना में एमआर बीती देर रात लखनऊ मीटिंग से वापस आ रहे थे। सदर कोतवाली क्षेत्र के ही हीरा गार्डेन के पास बोलेरो की टक्कर हो गयी। मौके पर पहुंची पुलिस ने शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया।

Sisters dead on the road, brother wept in Unnao

कार्यक्रम स्थल पर मचा कोहराम
सदर कोतवाली रूस्तमपुर सिकदरपुर सरोसी निवासी सपना और पप्पी की मार्ग दुर्घटना में दर्दनाक मौत हो गयी। बाइक चला रहे भाई को ज्यादा चोट नहीं आयी। हादसे के बाद वह बहन के शव को लिपट कर रोये जा रहा था। घटना की जानकारी अचलगंज थाना क्षेत्र के बंथर पहुंची जहां कोहराम मच गया। मौके पर बड़ी संख्या में परिजन पहुंच गये। जहां सभी का रो-रोकर बुरा हाल था। प्रत्यक्षदर्शी नवीन सिंह ने बताया कि घटना के काफी देर तक मौके पर कोई नहीं आया। काफी देर बाद परिजन और पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया।

Sisters dead on the road, brother wept in Unnao

ग्रेन्टक्योर प्राइवेट लिमिटेड कम्पनी के लिये करते थे काम
लखनऊ से मीटिंग में शामिल होकर वापस आ रहे एमआर कार सवार हिमांशू मिश्रा 22 पुत्र गिरिजा शंकर निवासी यशोदा नगर कानपुर, ब्रजेश साहू 35 पुत्र स्व. इन्द्र पाल साहू निवासी करही बर्रा कानपुर की दर्दनाक मौत हो गयी। जबकि बब्लू गौतम 20 निवासी आटा उरई, करमेन्द्र प्रजापती 35 निवासी कानपुर गंभीर रूप से घायल हो गये। घटना की खबर व्हाट्सग्रूप में रात में ही वायरल हो गयी। सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया। जबकि कार में फंसे शवों को काफी मशक्कत के बाद बाहर निकाल पोस्टमार्टम हाउस भेजा। यह घटना भी लखनऊ- कानपुर राष्ट्रीय राजमार्ग पर की है।

Sisters dead on the road, brother wept in Unnao

पोस्टमार्टम हाउस में राजेश कुमार ने बताया सभी लोग लखनऊ में ग्रेन्टक्योर प्राइवेट लिमिटेड कम्पनी के लिये काम करते थे। मृतक ब्रजेश साहू कम्पनी का एरिया मैनेजर था। सूचना पाकर मौके कम्पनी के अधिकारी भी पहुंच गये। परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल था।

Read Also: 25 साल बाद घर लौटा घूरन, अब तक हमशक्ल के साथ रह रही थी पत्नी

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Sisters dead on the road, brother wept in Unnao, Uttar Pradesh.
Please Wait while comments are loading...