गोरखपुर: शिक्षामित्रों का भारी बवाल, उग्र भीड़ पर पुलिस का लाठी चार्ज

Subscribe to Oneindia Hindi

iगोरखपुर/मुरादाबाद। सीएम योगी आदित्यनाथ की अपील से बेपरवाह शिक्षामित्रों का प्रदर्शन लगातार दूसरे दिन भी जारी रहा। उत्तर प्रदेश के हर हिस्से में शिक्षामित्र संगठन अपने-अपने तरीके से विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। शिक्षामित्र सरकार से अपनी मांग मनवाने पर अड़े हुये हैं। बुधवार की अपेक्षा गुरुवार को शिक्षामित्रो का प्रदर्शन उग्र हो गया। सीतापुर के बाद गोरखपुर में हालात बिगड़ने पर पुलिस ने शिक्षामित्रों पर लाठी चार्ज कर दिया। बल प्रयोग करने के बाद प्रदर्शनकारियों को काबू में किया गया। सैकड़ों की संख्या में शिक्षामित्रों को गिरफ्तार कर लिया गया है। सभी को प्रिजन वाहन से घटना स्थल से हटाया गया।

Read Also: अमेठी: शिक्षामित्र ने खाया जहर, 48 घंटों में 2 की हुई मौत

हालात संभालने में छूटे पसीने

हालात संभालने में छूटे पसीने

सीएम योगी की गृह नगर गोरखपुर में हालात बिगड़े तो उसे संभालने में पुलिस प्रशासन के पसीने छूट गये। पहले तो पंत पार्क में शिक्षामित्रों का हंगामा काटा। फिर रोडवेज बस में की तोड़फोड़ की। इसके बाद पंत पार्क का गेट भी तोड़ डाला गया। उग्र शिक्षामित्रों ने जब सीएम योगी के मंदिर यानी गोरखनाथ मंदिर की ओर चढ़ाई की तो पुलिस ने शिक्षामित्रों को रोकने का प्रयास किया। इस पर शिक्षामित्र भड़क गये और धर्मशाला पर ही शिक्षामित्रों और पुलिस मे भिड़ंत हो गई। पुलिस ने शिक्षामित्रों को तितर-बितर करने के लिये पानी की बौछार शुरू कराई। इस पर भी शिक्षामित्र पीछे नहीं हटे।

गोरखनाथ मंदिर के पास लाठी चार्ज

गोरखनाथ मंदिर के पास लाठी चार्ज

मंदिर की ओर बढ़ते शिक्षामित्रों पर यही पहली बार लाठी चार्ज हुआ और उन्हें खदेड़ दिया गया। बताया जाता है कि शिक्षामित्रों ने दुबारा फिर से मंदिर में घुसने की कोशिश की जिस पर दुबारा लाठी चार्ज करते हुये सैकड़ों शिक्षामित्र गिरफ्तार कर लिये गये। लाठी चार्ज में प्रदर्शनकारी महिलाओ को भी नहीं छोड़ा गया और उन पर भी लाठियां बरसाने के बाद गिरफ्तारी की गई।

पुलिस ने शिक्षामित्रों को खदेड़ा

पुलिस ने शिक्षामित्रों को खदेड़ा

शिक्षामित्र संगठन के अनुसार गोरखपुर विश्वविद्यालय के सामने भी पुलिस ने लाठी चार्ज कर शिक्षामित्रों को खदेड़ा। मौके पर पुलिस कप्तान, डीएम पूरे जिले की फोर्स के साथ जुटे हुये हैं। शिक्षामित्रों से शांति बनाये रखने की अपील की जा रही है।

शुक्रवार को बंद का ऐलान

शुक्रवार को बंद का ऐलान

संगठन की ओर से जारी विज्ञप्ति के अनुसार, शिक्षा मित्रों ने गुरुवार का आंदोलन म स्थगित कर दिया है। शुक्रवार मंडल के सभी स्कूल बंद कराने का ऐलान किया गया है। मांगें पूरी न होने पर पूरे प्रदेश में प्रदर्शन करने की चेतावनी दी गयी है।

लखीमपुर खीरी में भी हुआ बवाल

लखीमपुर खीरी में भी हुआ बवाल

यूपी के लखीमपुर खीरी जिले में प्रदर्शनकारियों ने जमकर नारेबाजी की। बीएसए कार्यालय पर एक समायोजित शिक्षक ने पेड़ पर चढ़कर फाँसी लगाने का प्रयास किया गया। हालांकि किसी तरह उसे पकड़ नीचे उतारा गया। वहीं सीतापुर में शिक्षा मित्रों ने हाईवे पर प्रदर्शन किया । इस दौरान रामकोट में पुलिस पर पथराव किये जाने पर पुलिस ने लाठीचार्ज कर सभी को खदेड़ा। इसी प्रकार यूपी के दर्जन भर से अधिक जिले में शिक्षामित्रों ने उग्र प्रदर्शन किया।

मुरादाबाद में शिक्षामित्रों ने किया सड़क जाम

मुरादाबाद जनपद में समायोजन की मांग को लेकर शिक्षामित्रों ने जमकर हंगामा किया और पीली कोठी चौराहे पर लगभग दो घण्टे तक सड़क जाम कर हरिद्वार रोड का ट्रैफिक पूरी तरह बंद कर दिया। आक्रोशित शिक्षा मित्रों ने इस दौरान सड़क किनारे लगे राज्य सरकार और मुख्यमंत्री के होर्डिंग भी फाड़ डाले और सड़क पर लेटकर प्रदर्शन किया। शिक्षा मित्रों के प्रदर्शन से हरिद्वार रोड पर अफरा-तफरी का माहौल रहा और स्कूली बच्चे घण्टों जाम में फंसे रहे। जाम लगने की सूचना पर मौके पर पहुंचे एसपी सिटी ने नाराज शिक्षामित्रों से बातचीत कीओर कलेक्ट्रेट जाकर ज्ञापन देने को कहा। साथ ही आश्वासन भी दिया गया कि उनकी मांगें सरकार तक पहुंचाई जाएगी जिसके बाद शिक्षा मित्र जाम खोलने को तैयार हुए।

Read Also: यूपी में लड़ने-मरने को तैयार शिक्षामित्रों से योगी सरकार की अपील

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Shikshmitra agitation became violent in UP.
Please Wait while comments are loading...