बीएचयू में पहुंची महिला आयोग की टीम, छात्राओं के खिलाफ लाठीचार्ज की जांच

Subscribe to Oneindia Hindi

वाराणसी। छेड़छाड़ पर शुरू हुए बवाल के बाद बनारस हिन्दू यूनिवर्सिटी सुर्खियों में रहा। पुलिस लाठीचार्ज के बाद पीड़ित छात्र-छात्राओं के एक समूह ने दिल्ली के जंतर-मंतर पर प्रदर्शन करने के बाद राष्ट्रीय महिला आयोग (NCW) में अपनी शिकायत दर्ज कराई थी। इसी शिकायत पर महिला आयोग का तीन सदस्यीय जांच दल बनारस हिन्दू यूनिवर्सिटी के लक्ष्मण दास अतिथि गृह पहुंचा। इस टीम में कार्यकारी अध्यक्ष रेखा शर्मा, इलाहाबाद हाईकोर्ट की वकील प्रियंका मेढ़ा और राष्ट्रीय महिला आयोग की सदस्य गीता राठी हैं जो दो दिनों के वाराणसी दौरे पर आई हैं। इस दौरे में ये टीम पीड़ितों से मुलाकात के साथ ही वाराणसी प्रशासन से भी सवाल कर जाँच करेगी और अपनी रिपोर्ट मानव संसाधन मंत्रालय के साथ ही यूपी सरकार को भी सौंपेगी।

'सच्चाई जानने आयी हूं यहां

'सच्चाई जानने आयी हूं यहां"

मीडिया से बात करते हुए रेखा शर्मा ने कहा कि हमें मिडिया से जानकारी हुई और कुछ स्टूडेंट हमारे यहां आये थी जिन्होंने शिकायत दर्ज कराई है। साथ ही जो बीते दिनों हुआ, पुलिस ने जिस तरीके से लड़कियों के ऊपर लाठियां चलाईं, लड़कियों के साथ सेक्सुअल हरासमेंट की घटनायें हुईं, उन सबकी एंक्वायरी के लिए तीन सदस्यीय टीम के साथ आये हैं। यहां पीड़ितों से हम मिलेंगे और साथ ही साथ हॉस्टल में भी जायेगे। जाँच की प्रक्रिया पूरा करने के बाद हमारी पूरी टीम वाराणसी के एसएसपी और डीएम से मिलेगी जिसके बाद हम एक रिपोर्ट तैयार करने के बाद मानव संसाधन मंत्रालय और यूपी सरकार को रिपोर्ट सौंपेंगे।

महिला आयोग की अधिकारी ने कहा

महिला आयोग की अधिकारी ने कहा

रेखा शर्मा ने कहा की हमे शिकायतें मिली थीं कि गर्ल्स हॉस्टल में आने-जाने से लेकर लड़कियों को बेवजह परेशान करने, खाने की शिकायतें आयी हैं, इन सबकी जांच करेंगे। साथ ही एसएसपी और जिला प्रशासन ने अभी तक हमें एफआईआर की कॉपी नहीं दिखाई है। मैं उस लड़की से भी मिलूंगी जिसे छेड़खानी से परेशान होकर सर का बाल मुड़वाना पड़ा।

वीसी को महिला आयोग ने किया तलब

वीसी को महिला आयोग ने किया तलब

मीडिया से बात करते हुए रेखा शर्मा ने कहा कि हम यहां बीएचयू प्रशासन, जिला प्रशासन, पीड़ितों और वीसी से मिलने आये थे लेकिन वीसी छुट्टी पर चले गए हैं। हमारी टीम ने वीसी तक ये मैसेज भिजवाया कि वो आकर अपना पक्ष रखें, वो यहां नहीं आए तो उन्हें दिल्ली में महिला आयोग ऑफिस में आना पड़ेगा और जाँच की प्रक्रिया से गुजरना पड़ेगा। रेखा शर्मा ने कहा कि वीसी जैसी त्रिपाठी हमसे 2 दिनों के अंदर नहीं मिले तो उनको समन भेज कर दिल्ली बुलाया जायेगा क्योंकि उन्होंने पूरी घटना में गलत बयानबाजी की है।

Read Also: छात्राओं से मिलने पहुंचे योगेंद्र यादव को बीएचयू गेट पर पुलिस ने रोका

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
National Commission of Woman team in BHU campus.

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.