• search
उत्तर प्रदेश न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

Love Story: स्कूल में हुई थी अपर्णा बिष्ट और प्रतीक यादव की दोस्ती, जानिए मुलायम की 'छोटी बहू' की प्रेम कहानी

|
Google Oneindia News

लखनऊ, 17 जनवरी। उत्तर प्रदेश चुनाव के मद्देनजर कड़कड़ाती ठंड में भी यूपी का सियासी पारा काफी चढ़ा हुआ है। हाल ही में भाजपा के कई दिग्गज नेताओं ने सपा का दामन थाम लिया है तो वहीं अब सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव की 'छोटी बहू' अपर्णा यादव भाजपा में शामिल हो गई हैं। खबरों के मुताबिक बीजेपी अपर्णा यादव को लखनऊ की कैंट विधानसभा सीट से पार्टी का प्रत्याशी बना रही है और इसकी घोषणा जल्द होने वाली है।

सीएम योगी की अपर्णा ने की कई बार तारीफ

सीएम योगी की अपर्णा ने की कई बार तारीफ

मालूम हो कि हाल ही में मुलायम सिंह के समधी हरीओम यादव बीजेपी में शामिल हुए हैं। फिरोजाबाद जिले के कद्दावर नेता हरिओम.यादव ने रामगोपाल यादव पर सपा को बर्बाद करने का आरोप लगाया था, तो वहीं पिछले काफी वक्त से अपर्णा यादव जिस तरह से सीएम योगी और पीएम मोदी की तारीफें कर रही हैं, उससे कयास लग रहे थे कि वो इस बार कमल के साथ ही चुनाव मैदान में नजर आएंगी।

UP Assembly Polls 2022: AAP ने यूपी में चला दिल्ली वाला फार्मूला, इंजीनियर-डॉक्टरों को बनाया उम्मीदवारUP Assembly Polls 2022: AAP ने यूपी में चला दिल्ली वाला फार्मूला, इंजीनियर-डॉक्टरों को बनाया उम्मीदवार

मुलायम के छोटे बेटे प्रतीक यादव की धर्मपत्नी हैं अपर्णा

मुलायम के छोटे बेटे प्रतीक यादव की धर्मपत्नी हैं अपर्णा

ज्वलंत मुद्दों पर खुलकर बोलने वाली अपर्णा यादव सपा संस्थापक मुलायम के छोटे बेटे प्रतीक यादव की धर्मपत्नी हैं। प्रतीक मुलायम और साधना यादव के बेटे हैं। प्रतीक की तो राजनीति में कोई दिलचस्पी नहीं है लेकिन अपर्णा यादव यूपी की चर्चित राजनीतिक हस्तियों में से एक हैं और साल 2017 में वो सपा पार्टी के टिकट पर कैंट से चुनाव लड़ चुकी हैं, हालांकि उन्हें बीजेपी की रीता बहुगुणा जोशी ने हरा दिया था। इस पार्टी पर अखिलेश यादव ने उनके लिए प्रचार नहीं किया था।

    UP Election 2022: Akhilesh के घर BJP की सेंधमारी, Aparna Yadav जा सकती है BJP में | वनइंडिया हिंदी
     अपर्णा को कैंट से टिकट मिला था

    अपर्णा को कैंट से टिकट मिला था

    उस वक्त भी पार्टी के अंदर काफी उथुल-पुथल मची थी, कहा गया था कि मुलायम के दवाब के कारण अपर्णा को कैंट से टिकट मिला था, अखिलेश नहीं चाहते थे कि अपर्णा को टिकट मिले, चूंकि कैंट से अपर्णा यादव चुनाव लड़ चुकी हैं इसलिए कहा जा रहा है कि बीजेपी इस बार वहां से उन्हें टिकट दे सकती है।

    जब बिरजू महाराज ने कहा था-'माधुरी का हर अंग थिरकता है, नजर आता है मीना-वहीदा का अक्स'जब बिरजू महाराज ने कहा था-'माधुरी का हर अंग थिरकता है, नजर आता है मीना-वहीदा का अक्स'

    अपर्णा ने भरी मंच पर डिंपल के पैर छूए थे

    अपर्णा ने भरी मंच पर डिंपल के पैर छूए थे

    मालूम हो कि मीडिया में ऐसी खबरे हैं कि साधना यादव और अखिलेश यादव के रिश्ते मधुर नहीं हैं और इसी वजह से प्रतीक-अपर्णा भी सपा सुप्रीमो के करीब नहीं है। अखिलेश की पत्नी डिंपल यादव और अपर्णा में बनती नहीं है, हालांकि साल 2017 के चुनाव में अपर्णा ने भरी मंच पर डिंपल के पैर छूए थे और डिंपल ने उन्हें विजयीभव होने का आशीष दिया था।

     Highschool Sweethearts कहलाते हैं अपर्णा और प्रतीक

    Highschool Sweethearts कहलाते हैं अपर्णा और प्रतीक

    आपको बता दें कि अपर्णा और प्रतीक का प्रेम विवाह हुआ था। दोनों एक-दूसरे से तब से प्रेम करते हैं जब दोनों हाईस्कूल के छात्र-छात्रा थे। एक विदेशी चैनल को दिये गए इंटरव्यू में अपर्णा ने इस बात का खुलासा किया था। अपर्णा ने यह भी कहा था कि' वो प्रतीक से प्यार होने के काफी वक्त बाद उन्हें पता चला था कि वो सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव के बेटे हैं। हम 8 साल से दोस्त हैं। इसलिए आप हमें हाईस्कूल स्वीटहर्ट्स कह सकते हैं।'

    प्रतीक यादव रीयल स्टेट के बिजनेस में हैं

    प्रतीक यादव रीयल स्टेट के बिजनेस में हैं

    जबकि अपर्णा यादव देश के जाने-माने पत्रकार अरविंद सिंह बिष्ट की बेटी हैं। प्रतीक यादव रीयल स्टेट के बिजनेस में हैं और बॉडी बिल्डिंग का शौक रखते हैं। अपर्णा ने संगीत की भी शिक्षा ली है। अपर्णा का भोलापन, उनकी काबलियत और उनकी बातें प्रतीक यादव को भी अच्छी लगती थीं इसलिए दोनों ने शादी करने का फैसला किया लेकिन दोनों के परिवार वाले इस शादी के लिए तैयार नहीं थे।

     साल 2011 में हुई शादी

    साल 2011 में हुई शादी

    जाति, राजनीति जैसी दीवारें दोनों के प्यार के बीच खड़ी थीं लेकिन दोनों के प्रेम के आगे दोनों के परिवार वालों को झुकना पड़ा और फिर साल 2011 में दोनों की शादी हुई , आपको बता दें कि दोनों को शादी से एक बेटी प्रथमा है।

    Comments
    English summary
    Mulayam Singh’s daughter-in-law Aparna Yadav likely to join BJP: read her Love Story.
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X