मऊ निकाय चुनाव: BJP और सपा के बागी बसपा को पहुंचा सकते हैं फायदा

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

मऊ। यूपी के मऊ में राजनीतिक दलों के बागी नेताओं ने निकाय चुनाव में नामाकंन कर अपने ही दलो के नेताओं की धड़कने बढ़ा दी हैं। मऊ जिले के नगर पंचायत घोसी में राजनीतिक दलों के नेताओं पर पुरानी कहावत फिट बैठती है आगे कुआं पीछे खाई। यहां सपा और भाजपा के नेता बागी होकर चुनाव में अपना नामांकन दाखिल कर अपना ताल ठोक चुके हैं। ऐसे में इन बागियों से सीधा लाभ बसपा को मिल सकता है। यानि कहा जाये तो मायावती का हाथी एक बार फिर निकाय चुनाव में दौड़ सकती है।

मऊ निकाय चुनाव: BJP और सपा के बागी बसपा को पहुंचा सकते हैं फायदा

इस बार के निकाय चुनाव में​ एक तरफ करोड़ो रुपयों के संपत्ति से मालामाल प्रत्याशी​ तो दूसरी तरफ बागी नेता राजनीतिक दलों के चुनावी समीकरणों को पूरी तरह ध्वस्त करने में लगे हुए है। भाजपा ने इस बार नगर पंचायत के अध्यक्ष पद पर बीजेपी के जिलाध्यक्ष सुनील गुप्ता के भाई की पत्नी शारदा गुप्ता को टिकट दिया है। शारदा गुप्ता को टिकट मिलते ही बीजेपी के पुराने नेता मुन्ना गुप्ता की पत्नी पुष्पा गुप्ता ने बगावत कर नामांकन कर दिया है। वहीं सपा से टिकट मांग रहे जेबा जबी मुहम्मद नासिर को टिकट नहीं मिला तो वो भी चुनावी मैदान में हैं। सपा ने कुरैशा खातून को टिकट दिया है जो इरशाद अहमद की पत्नी है। इन नेताओ के चुनावी मैदान में आने से पूरा समीकरण बिगाड़ सकता है। जिससे इसका सीधा फायदा बसपा प्रत्याशी जुलेखा खातून को मिल रहा है। नगर पंचायत घोसी से बीजेपी से बगावत कर चुनाव लड़ रहे मुन्ना गुप्ता बताते है उनकी पत्नी चुनाव लड़ रही है, और सभी राजनीतिक दलों को हराकर चुनाव जीतेंगे।

बीजेपी के जिलाध्यक्ष सुनील गुप्ता के भाई की पत्नी शारदा गुप्ता को बीजेपी ने घोसी नगर पंचायत अध्यक्ष का टिकट दिया है जिससे नाराज होकर बीजेपी के बागी नेता ने अपना नामांकन कर दिया। जब मीडिया से इन मुद्दों पर सवाल किये तो जिलाध्यक्ष ने कहा कि जो बागी है उनके पार्टी मनाने का काम करेगी। यही नहीं सपा से बगावत कर चुनाव जीतने का दावा कर रहे है मुहम्मद नासिर कहते है कि, उन्होंने पिछले चार वर्षों में लगातार जनता के बीच में जनता की सेवा की है। जिसका फायदा उनको मिलेगा। बागी होने के सवाल पर कहा कि स्थानीय विधायक की वजह से मेरा टिकट कट गया जिसका नुकसान सपा को उठाना पड़ सकता है। वहीं सपा के टिकट पर चुनाव लड़ रहीं कुरैशा खातून के पति इरशाद अहमद ने कहा की पिछली सरकार का जनता के बीच किया हुआ काम बोलता है। इस बार जीमत हमारी ही होगी।

बसपा खुश
ऐसे में बहुजन समाज पार्टी के खेमे में खुशी की लहर है। बसपा समर्थको की माने तो भारतीय जनता पार्टी और समाजवादी पार्टी ने जनता के साथ साथ अपने ही पार्टी के लोगों को धोखा दिया जिसका परिणाम है की टिकट ना मिलने से नाराज इन पार्टियों के लोगो ने ही उनके खिलाफ नामांकन कर दिया। अब ये प्रत्याशी अपने ही पार्टी के लिए सिरदर्द बन गए हैं। जनता ये सब खेल देख रही है। बसपा उम्मीदवार जुलेखा खातून के बेटे सुलेमान ने कहा कि इसी का फायदा हमारी पार्टी को मिलेगा।

ये भी पढ़ें- 500 रुपये के अंदर रिलायंस Jio के ये 4 धांसू प्लान, चौथा है सबसे बेस्ट

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
mau civic polls: rebel leader of sp and bjp may helps bsp to win
Please Wait while comments are loading...