• search
उत्तर प्रदेश न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

अखिलेश यादव ने BJP पर कसा तंज, पूछा- झूठ के हथियार से वह कब तक सच्चाई का गला घोटती रहेगी?

|
Google Oneindia News

लखनऊ, 11 सितंबर: उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 के लिए सभी राजनीतिक पार्टियां जोर-शोर से चुनावी तैयारियों में जुटी हुई हैं। तो वहीं, यूपी के पूर्व सीएम व सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भारतीय जनता पार्टी पर तीखा हमला बोलते हुए सवाल किया है। अखिलेश यादव ने पूछा, 'झूठ के हथियार से वह कब तक सच्चाई का गला घोटती रहेगी?। अगर रोजगार दिया होता तो लॉकडाउन के दौर में यूपी आए कामगार वापस क्यों चले गए?।'

Former UP CM Akhilesh Yadav criticizes BJP govt on the issue of employment, crime

पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने कहा,

लोकतंत्र में सबसे बड़ी ताकत जनता की होती है। वोट की ताकत से ही सरकारें बनती है। भाजपा का लोकतांत्रिक व्यवस्था की निष्पक्षता में विश्वास नहीं है। वह अपनी कुटिल चालों और षड़यंत्रों के जरिए सत्ता पर कब्जा जमाने की तिकड़में करती रही है। लोकतंत्र पर भाजपा की काली छाई अब नहीं पड़ सकेगी।

अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा राज में चारों तरफ अराजकता का माहौल है। अपराधों के कारण छात्राओं-महिलाओं का जीवन संकट में है। नौजवानों का भविष्य अंधकार में धकेल दिया गया है। विकासकार्य पूरी तरह अवरूद्ध है। किसान अपने हक की निर्णायक लड़ाई लड़ रहे हैं। इसमें सैकड़ों किसान अपनी जान भी गंवा चुके हैं। आज भी उनके हौंसले बुलंद है। भाजपा सरकार उनकी मांगों पर ध्यान नहीं दे रही है, इससे खुद भाजपा सांसद और विधायक किरकिरी हो रही हैं।

उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार अब तक गिनाने लायक एक भी योजना बता सकने की स्थिति में नहीं है। आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे कम समय में पूरी गुणवत्ता से बना जहां युद्धक विमान भी उतर सके। भाजपा पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे भी नहीं बना सकी। एम्स की स्थापना हो या मेडिकल कॉलेजों की स्थापना समाजवादी सरकार के कार्यों के मुकाबले भाजपा का काम शून्य रहा है। भाजपा राज में बिजली-पानी सड़क की समस्याएं बिगड़ती गई हैं।

ये भी पढ़ें:- मायवाती ने कहा- BSP बाहुबली और माफियाओं को नहीं देगी टिकट, मुख्तार की जगह भीम राजभर को उतारेगी मैदान मेंये भी पढ़ें:- मायवाती ने कहा- BSP बाहुबली और माफियाओं को नहीं देगी टिकट, मुख्तार की जगह भीम राजभर को उतारेगी मैदान में

कहा कि दिन पर दिन उत्तर प्रदेश के राजनीतिक आर्थिक हालात बिगड़ते जा रहे हैं। तमाम दावों के बावजूद न तो रोजगार की स्थिति में सुधार है और नहीं पूंजी निवेश की खबर है। भाजपा सरकार यह बताने में संकोच क्यों करती है कि उसके शासनकाल में किस क्षेत्र में कहां-कितना रोजगार दिया गया है। अगर रोजगार दिया होता तो लॉकडाउन के दौर में यूपी आए कामगार वापस क्यों चले गए?। झूठ के हथियार से वह कब तक सच्चाई का गला घोटती रहेगी? विधानसभा के चुनाव सिर पर हैं समाजवादी पार्टी इसमें अपने कामों और जनता के भरोसे पर मैदान में उतरेगी।

English summary
Former UP CM Akhilesh Yadav criticizes BJP govt on the issue of employment, crime
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X