• search
उत्तर प्रदेश न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

सीएम योगी ने दिया आदेश, नवरात्र से पहले गड्ढा मुक्त हो उत्तर प्रदेश

|

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि किसी भी बीमारी में उपचार से महत्वपूर्ण बचाव और जागरूकता है। इस दृष्टि से कोविड-19 के प्रोटोकॉल का अनुपालन सबके हित में है। कोरोना की चुनौती का सामना करते हुए प्रदेश विकास परियोजनाओं को सतत जारी रखा जाएगा। उन्होंने कहा है कि बरसात का मौसम लगभग समाप्त हो चुका है। कार्ययोजना बनाकर सड़कों की गड्ढा मुक्ति का अभियान युद्धस्तर पर प्रारंभ कर दिया जाए। मुख्यमंत्री ने आगामी शारदीय नवरात्र से पूर्व प्रदेश को गड्ढा मुक्त बनाने का लक्ष्य अधिकारियों को दिया है।

cm yogi

मुख्यमंत्री ने शुक्रवार को अपने सरकारी आवास पर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से मुरादाबाद मंडल के विकास कार्यों की समीक्षा कर रहे थे। जनपद अमरोहा, बिजनौर, रामपुर, संभल और मुरादाबाद के जिलाधिकारियों से जनपद में प्रस्तावित/संचालित विभिन्न योजनाओं की प्रगति का विवरण प्राप्त करते हुए मुख्यमंत्री ने मंडल के जनप्रतिनिधियों से विकास कार्यों के संबंध में फीडबैक प्राप्त किया और अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश भी दिए। जनप्रतिनिधियों के साथ समन्वय पर जोर देते हुए सीएम योगी ने कहा कि अधिकारीगण जन भावनाओं के प्रति संवेदनशील रहें और शासन की योजनाओं से जनता को लाभान्वित करना सुनिश्चित करें।

मुख्यमंत्री योगी ने जनपद रामपुर में निर्माणाधीन राष्ट्रीय प्रशिक्षण संस्थान डूंगरपुर, को गन्ना किसानों के प्रशिक्षण केंद्र के रूप में विकसित करने के निर्देश दिए।पहले यह केंद्र जनपद मुरादाबाद में प्रस्तावित था। इसके साथ ही उन्होंने जनपद संभल में तत्काल सीएमएस की तैनाती करने के लिए भी आदेश दिया। साथ ही बिजनौर में पीएसी की नई बटालियन की स्थापना को गति देने की बात भी कही।

खनन कार्य को सुचारु करें

सीएम योगी ने मुरादाबाद मंडल में खनन कार्य को सुचारु रखने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि स्थानीय अधिकारी अवैध खनन पर सख्ती से रोक लगाते हुए वैध खनन कार्यों की मंजूरी प्रदान करें। इसे राजस्व का अहम जरिया बनाएं।

सबको आवास का संकल्प करें पूरा

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि सबको आवास मुहैया कराने के संकल्पों के क्रम में केंद्र और राज्य सरकार द्वारा योजनाएं संचालित की जा रही हैं। यह योजनाएं केवल आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लिए है। यह सुनिश्चित किया जाए कि इन योजनाओं का लाभ केवल पात्र जनों को ही प्राप्त हो। अपात्रों को आवास आवंटन की शिकायत मिली तो संबंधित के विरुद्ध सख्त कार्रवाई की जाएगी। विकास परियोजनाओं में गुणवत्ता और समयबद्धता पर जोर देते हुए मुख्यमंत्री ने विभागाध्यक्षों को निर्देशित किया कि कार्यदायी संस्था के चयन से पूर्व संस्था के संसाधनों की परख जरूर कर लें। उन्होंने मीरजापुर और सोनभद्र जनपद के उदाहरण देते हुए जनपदों को राजस्व संग्रहण की प्रक्रिया सुचारु करने का निर्देश दिया।

हर योजना की हो सतत मॉनिटरिंग

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विकास परियोजनाओं को समयबद्ध ढंग से पूर्ण करने के लिए अधिकारियों को सतत मॉनिटरिंग करने का निर्देश दिया है। उन्होंने कहा कि हर कार्य के लिए एक नोडल अधिकारी नियुक्त हो, जिसके माध्यम से मॉनिटरिंग का कार्य किया जाए। इससे पहले उन्होंने मुरादाबाद स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के सभी कार्यों को तेजी के साथ पूर्ण करने का निर्देश दिया। अमृत योजना को जनहित के दृष्टिगत महत्वपूर्ण बताते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी जनपदों में इसे प्राथमिकता के आधार पर पूरा किया जाए, धन की कमी नहीं आने दी जाएगी। मंडल के सभी 22 चीनी मिलों में गन्ना किसानों को हुए भुगतान की स्थिति से अवगत होते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि गन्ना मूल्य भुगतान सरकार की प्राथमिकता है।

इसमें कतई शिथिलता न बरती जाए। उन्होंने जनपद मुरादाबाद के भोजपुर में निर्माणाधीन राजकीय महाविद्यालय और ठाकुरद्वारा में राजकीय पॉलिटेक्निक तथा जनपद अमरोहा में राजकीय महिला आईटीआई, सहसपुर अलीनगर जोया के निर्माण कार्य को शीघ्र पूर्ण करने के लिए निर्देशित किया। मुख्यमंत्री ने नदियों को अविरल रखने की बात कहते हुए अतिक्रमण के मामलों में सख्ती से निपटने के आदेश दिए। उन्होंने अधिकारियों और जनप्रतिनिधियों से कहा कि क्षेत्रीय विशिष्टताओं को उभार देकर रोजगार सृजन का मार्ग बनाया जाए।

प्रभारी मंत्री करें मासिक बैठक

मुख्यमंत्री ने जनपदों के प्रभारी मंत्रीगणों को जनपद की मासिक समीक्षा करने का निर्देश दिया है। उन्होंने कहा कि इन बैठकों की स्थिति से मुख्यमंत्री कार्यालय को भी अवगत कराया जाए। आज की समीक्षा बैठक में सूबे के विधि, विधायी एवं न्याय विभाग के मंत्री ब्रजेश पाठक और जलशक्ति मंत्री महेंद्र सिंह की विशिष्ट मौजूदगी भी रही।

जनप्रतिनिधियों ने की मुख्यमंत्री के कार्यशैली की सराहना

समीक्षा बैठक में आवश्यकतानुसार नवीन परियोजनाओं का जिक्र करते हुए सभी जनप्रतिनिधियों ने कोरोना काल में आमजन की सामाजिक और आर्थिक सुरक्षा सुनिश्चित करते हुए प्रत्येक नागरिक को त्वरित स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराने के लिए मुख्यमंत्री के प्रति धन्यवाद ज्ञापित किया। डार्क जोन में नलकूप कनेक्शन देने की नीति की जनप्रतिनिधियों की ओर से सराहना की गई। अमरोहा से एक विधायक ने बान नदी पर एक पुल निर्माण की मांग की गई तो विधायक हसनपुर महेंद्र सिंह खड़गवंशी ने क्षेत्र में नवीन चीनी मिल की जरूरत बताते हुए गंगा एक्सप्रेस वे निर्माण को लेकर अच्छी बिजली और त्वरित आर्थिक विकास योजना के तहत सड़क संबंधी परियोजनाओं की स्वीकृति के लिए क्षेत्रीय जनता की ओर से मुख्यमंत्री का आभार ज्ञापित किया।

चांदपुर विधायक कमलेश सैनी ने योगी सरकार के साढ़े तीन वर्ष को विकास कार्यों के लिहाज से ऐतिहासिक बताते हुए अपने क्षेत्र में एक स्टेडियम निर्माण की आवश्यकता जताई। जनपद रामपुर से विधायक चाँदबाला ने विकास कार्यों के समयबद्ध ढंग से पूर्ण होने पर मुख्यमंत्री के प्रति आभार जताया। मुख्यमंत्री ने जनप्रतिनिधियों से विकास कार्यों में सहयोग हेतु धन्यवाद दिया और नवीन परियोजनाओं के प्रस्ताव भेजने को कहा।

UP के मंत्री जय कुमार सिंह जैकी कोरोना संक्रमित, बोले- घर में आइसोलेट हूं

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
CM Yogi Adityanath orders to make Uttar Pradesh pit free before the Navratri.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X