बलरामपुर: महंत महेंद्र नाथ योगी की 17वीं पुण्यतिथि के अवसर पर शक्तिपीठ मंदिर पहुंचे CM योगी

Posted By: Prashant
Subscribe to Oneindia Hindi

बलरामपुर। शक्तिपीठ देवी पाटन के ब्रह्मलीन महंत महेंद्र नाथ योगी के 17वीं पुण्यतिथि के अवसर पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मंदिर पहुंचे और ब्रह्मलीन महंत महेंद्र नाथ योगी जी को श्रद्धांजलि अर्पित की। इस दौरान सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए थे। चप्पे-चप्पे पर पुलिस बल व अधिकारियों की तैनाती की गई थी। हालांकि CM के दौरे से जनता को भी काफी हलकान होना पड़ा और शहर में तमाम जगह बैरिकेडिंग कर रास्तों को बंद कर रखा गया था, जिससे राहगीरों को भी आवागमन में काफी समस्याओं का सामना करना पड़ा।

महेंद्र नाथ योगी के बारे में बोले योगी

महेंद्र नाथ योगी के बारे में बोले योगी

महेंद्र नाथ योगी के जीवन पर उपस्थित जन समूह को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि 1986 में महेंद्र नाथ योगी शक्तिपीठ आ गए थे लेकिन 1990 में उन्हें ब्रह्मलीन महंथ अवैद्यनाथ जी महाराज के आदेश पर शक्तिपीठ देवी पाटन का की जिम्मेदारी सौंपी गई थी। जिसको उन्होंने बखूबी निभाया जब यह जिम्मेदारी महेंद्र नाथ योगी को सौंपी गई थी तब मंदिर की स्थिति व तुलसीपुर की हालत बेहद ही खराब थी जिस पर उन्होंने अपनी दूरदर्शिता और परिश्रम के बल पर आज इस स्थिति में पहुंचा दिया है कि देश विदेश से लोग यहां घूमने के लिए आते हैं।

स्वच्छता के लिए किया जागरुक

स्वच्छता के लिए किया जागरुक

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कार्यक्रम के दौरान बताया कि मंदिर में आने वाले तमाम श्रद्धालु खाने पीने की चीजें प्लास्टिक व पॉलीथिन में लेकर आते हैं और उसका सेवन करने के बाद उसे यही मंदिर के परिसर में ही फेंक कर चले जाते हैं जिससे मंदिर में गंदगी का अंबार लग जाता है। इसलिए स्वच्छता के प्रति जनता का सहयोग बहुत आवश्यक है। इसी लिए हमारी सरकार ने यह निर्णय लिया है कि निकाय चुनाव के बाद वेस्ट प्लास्टिक से, तेल बनाया जायेगा जिसका उपयोग सड़क निर्माण में किया जाएगा। वहीं बेटियों के पैदा होने पर खुशी मनाने के लिए प्रेरित करते हुए योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कन्या के जन्म पर हर व्यक्ति को 5 सागौन के पेड़ लगाने चाहिए, क्योंकि जब उसकी शादी करनी होगी तो यहीं पेड़ उसके परिवार वालों को चिंता से मुक्ति दिला देंगे।

दिल्ली की धुंध पर भी बोले

दिल्ली की धुंध पर भी बोले

दिल्ली और एनसीआर में कई दिनों से छाई धुंध पर बोलते हुए योगी आदित्यनाथ ने कहा कि धुंध मानव जीवन के लिए बेहद घातक है। अवैध कटान अवैध खनन और मनमाने तरीके से हो रहे निर्माण व पुआल जलाने के चलते धुंध की समस्या बढ़ती जा रही है। पर्यावरण में जहर घुलता जा रहा है।

धर्म और गाय पर भी बोले

धर्म और गाय पर भी बोले

वहीं योगी आदित्यनाथ में धर्म के विषय पर बोलते हुए कहा की पूजा करना ही केवल धर्म नहीं है अपितु लोक कल्याण का कार्य करना, धर्म है। गौ माता का दूध तो सब पीते हैं परंतु बूढ़ी होने पर उन्हें प्लास्टिक और कचरा खाने के लिए छोड़ देते हैं। ऐसे में गौ माता की सेवा सिर्फ संतो पर ही छोड़ा जाना उचित नहीं है इसके लिए आम जनमानस को भी सहयोग करना होगा तभी जीवन संतुलित ढंग से चल सकता है।

ये भी पढ़ें- VIDEO: मथुरा के राधारानी मंदिर में दो साधुओं के बीच खूब चले लात घूंसे

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Cm Yogi Aditya Nath reached Balrampur
Please Wait while comments are loading...