• search
राजस्थान न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

अयोध्या फैसले को लेकर फेसबुक पर विवादित पोस्ट डालने पर राजस्थान से युवक गिरफ्तार

|

चूरू। 9 नवंबर 2019 को अयोध्या भूमि विवाद पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले को लेकर राजस्थान पुलिस हाई अलर्ट पर है। राजस्थान जयपुर समेत प्रदेशभर में कई जिलों में सुबह 10 बजे से 24 घंटे तक के लिए इंटरनेट सेवाओं पर पाबंदी लगाई गई हैं। धारा 144 लागू करने के साथ-साथ शिक्षण संस्थाएं भी बंद की गई है।

सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम

सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम

इधर, शेखावाटी के चूरू, सीकर और झुंझुनूं में सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। चप्पे-चप्पे पर पुलिस बल तैनात किया गया है। वहीं पुलिस की आइटी टीम सोशल मीडिया पर भी पैनी नजर बनाए हुए है। अयोध्या मामले में फैसला आने के मध्यनजर पुलिस प्रशासन सोशल मीडिया के जरिये व अन्य प्रकार से अफवाह फैलाने वालों के खिलाफ सख्ती से पेश आ रहा है।

राजलदेसर का रहने वाला है मनोज कुमार सेन

राजलदेसर का रहने वाला है मनोज कुमार सेन

इसी क्रम में चूरू जिले के राजलदेसर कस्बे के एक युवक को अयोध्या फैसले को लेकर सोशल मीडिया पर भड़काऊ पोस्ट डालने पर गिरफ्तार किया गया है। चूरू एसपी तेजस्वनी गौतम के अनुसार मनोज कुमार सेन पुत्र मुखराम सेन निवासी वार्ड नंबर 4 राजलदेसर ने अयोध्या फैसले को लेकर फेसबुक पर विवादित पोस्ट डाली, जिसका पता लगते ही उसे गिरफ्तार किया है। उसके खिलाफ धार्मिक सौहार्द को बिगाड़ने की कोशिश करने पर कानूनी कार्रवाई की जा रही है।

हिन्दू-मुस्लिम लोगों ने एक-दूसरे को गुलाब का फूल भेंटकर किया अयोध्या फैसले का स्वागत

हिन्दू-मुस्लिम लोगों ने एक-दूसरे को गुलाब का फूल भेंटकर किया अयोध्या फैसले का स्वागत

बीकानेर। अयोध्या भूमि विवाद को लेकर सुप्रीम कोर्ट द्वारा शनिवार सुबह फैसला सुनाए जाने के बाद राजस्थान के बीकानेर में धार्मिक सौहार्द व कौमी एकता ने मिशाल पेश की गई है। अयोध्या फैसले को लेकर बीकानेर के हिन्दू-मुस्लिम धर्म सम्प्रदाय के लोगों ने एक दूसरे को गुलाब का फूल देकर गले लगाया और सुप्रीम कोर्ट के अयोध्या फैसले का स्वागत किया।

अजमेर दरगाह के दीवान बोले-सुप्रीम कोर्ट के निर्णय का सम्मान, अयोध्या फैसला स्वीकार

अजमेर दरगाह के दीवान बोले-सुप्रीम कोर्ट के निर्णय का सम्मान, अयोध्या फैसला स्वीकार

अयोध्या भूमि विवाद में आए फैसले का राजस्थान के अजमेर स्थित हजरत ख्वाजा मोइनुद्दीन हसन चिश्ती की दरगाह के दीवान ने स्वागत किया है। साथ ही उन्होंने लोगों से शांति और सद्भाव बनाए रखने की अपील की है। अजमेर दरगाह दीवान सैय्यद जैनुल आबेदीन अली खान ने कहा है कि न्यायपालिका सर्वोच्च है। सभी को अयोध्या भूमि विवाद में सुप्रीम कोर्ट के फैसले का सम्मान करना चाहिए। पूरी दुनिया की इस फैसले पर नजर है। यह समय दुनिया के सामने एकजुटता की मिसाल पेश करना का है।

Ayodhya Verdict: अजमेर दरगाह के दीवान बोले-सुप्रीम कोर्ट के निर्णय का सम्मान, अयोध्या फैसला स्वीकार

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Rajaldesar mukesh sain arrested for controversial post on ayodhya verdict
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X