• search
राजस्थान न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
Oneindia App Download

Arunachal helicopter crash : राजस्‍थान के 3 फौजी बेटे एक साथ शहीद, विकास भांभू थे इकलौते बेटे

अरुणाचल हेलिकॉप्‍टर हादसे में राजस्‍थान के मुस्‍तफा बोहरा, विकास भांभू व रोहिताश्‍व कुमार शहीद
Google Oneindia News

राजस्‍थान को यूं ही शूर वीरों की धरती नहीं कहते। जब-जब भी वतन पर मर मिटने की बारी आती है तो यहां के बहादुर फौजी बेटे हमेशा आगे रहते हैं। 21 अक्‍टूबर 2022 को अरुणाचल प्रदेश के सियांग जिले के गांव सिंगिंग में भारतीय सेना के हेलिकॉप्‍टर एचएएल रुद्र हादसे में राजस्‍थान के तीन जवानों ने एक साथ शहादत दी है। हादसे में कुल पांच जवान शहीद हुए हैं।

Recommended Video

    Arunachal helicopter crash : राजस्‍थान के 3 फौजी बेटे एक साथ शहीद, विकास भांभू थे इकलौते बेटे
    हनुमानगढ़, झुंझुनूं व उदयपुर के फौजी शहीद

    हनुमानगढ़, झुंझुनूं व उदयपुर के फौजी शहीद

    अरुणाचल प्रदेश हेलिकॉप्‍टर हादसे में शहीद हुए मेजर मुस्‍तफा उदयपुर, मेजर विकास भांभू हनुमानगढ़ और रोहिताश्‍व कुमार झुंझुनूं के रहने वाले थे। 27 साल के मेजर मुस्‍तफा तो अविवाहित थे। उनकी सगाई हो चुकी थी। जल्‍द ही उदयपुर की फातिमा से निकाह होने वाला था। सिर पर सेहरा सजने से पहले ही मुस्‍तफा तिरंगे में लिपटकर घर लौट रहे हैं। वहीं, शहीद रोहिताश्‍व एक बेटी के पिता थे।

     11 माह में खो दिए दो फौजी बेटे

    11 माह में खो दिए दो फौजी बेटे

    अरुणाचल प्रदेश हेलिकॉप्‍टर हादसे से दो दिन पहले ही झुंझुनूं जिले के गांव दूड़ियां के बागड़वा परिवार ने अपने दोनों फौजी बेटे महज 11 माह के अंतराल में खो दिए। ताराचंद बांगड़वा के शहीद बेटे जय सिंह का शुक्रवार को उनके गांव दूड़ियां में अंतिम संस्‍कार किया गया। जय सिंह के छोटे भाई पिंटू कुमार 30 नवंबर 2021 को शहीद हो गए थे। दोनों भाइयों का बचपन एक साथ बीता। एक साथ ही गांव किठाना की दो सगी बहनों से शादी हुई। शहीद जय सिंह की चिता को उनकी सात साल की बेटी डॉली ने मुखाग्नि दी।

     अरुणाचल प्रदेश हेलिकॉप्‍टर हादसे में शहीद

    अरुणाचल प्रदेश हेलिकॉप्‍टर हादसे में शहीद

    1 मेजर विकास भांभू, हनुमानगढ़ राजस्‍थान

    2 मेजर मुस्‍तफा बोहरा, उदयपुर राजस्‍थान
    3 अश्‍विन के वी
    4 बिरेश सिन्‍हा
    5 रोहिताश्‍व कुमार, झुंझुनूं राजस्‍थान

     अरुणाचल प्रदेश हेलिकॉप्‍टर हादसा

    अरुणाचल प्रदेश हेलिकॉप्‍टर हादसा

    शनिवार को अरुणाचल प्रदेश में सियांग के लिकाबली से पांच फौजियों को लेकर भारतीय सेना के हेलिकॉप्‍टर एचएएल रुद्र ने उड़ान भरी थी। टूटिंग हेडक्‍वार्टर से 25 किलोमीटर दूर सियांग जिले के गांव सिंगिंग में एचएएल रुद्र हेलिकॉप्‍टर क्रैश हो गया। हादसे में राजस्‍थान के मेजर विकास भांभू, मेजर मुस्‍तफा बोहरा, रोहिताश्‍व कुमार व अश्‍विन के वी और बिरेश सिन्‍हा शहीद हो गए।

    शहीद विकास भांभू हनुमानगढ़

    शहीद विकास भांभू हनुमानगढ़

    हेलिकॉप्‍टर हादसे में शहीद हुए मेजर विकास भांभू हनुमानगढ़ जिले के टिब्बी के रामपुरा गांव के रहने वाले थे। शहीद का पूरा परिवार जयपुर में रहता है। शहीद मेजर विकास अपने माता-पिता के इकलौता बेटा थे। चचेरे भाई अधिवक्ता सुखवीर भांबू ने बताया मेजर विकास भांबू की दो बहनें हैं। दोनों बहनों की शादी हो चुकी है। मेजर विकास की शादी श्रीगंगानगर जिले की सरदारपुरा गांव की श्रेया हुई थी। इनके एक बेटी है। विकास भांबू अपने पैतृक गांव पिछले महीने ही आए थे।

     2012 में भारतीय सेना में भर्ती हुए थे विकास भांभू

    2012 में भारतीय सेना में भर्ती हुए थे विकास भांभू

    बता दें कि विकास भांभू के पिता भागीरथ भांभू सीकर के पूर्व सांसद सुभाष महरिया के पीए थे। ऐसे में विकास का बचपन सीकर में बीता। वहीं पर पढ़ाई हुई। साल 2012 में भारतीय सेना में भर्ती हुए थे। 3 साल में विकास आर्मी की फ्लाइंग विंग में शामिल हुए। विकास सर्जिकल स्ट्राइक के दौरान भी आर्मी की स्टैंडबाई टीम में शामिल था।

     मंगेतर पुणे से उदयपुर के लिए रवाना

    मंगेतर पुणे से उदयपुर के लिए रवाना

    बता दें कि उदयपर के जकीउद्दीन के बेटे मुस्‍तफा की सगाई हो चुकी थी। उनकी मंगेतर फातिमा उदयपुर की ही रहने वाली है। फिलहाल वह पुणे में है। उसे भी मेजर मुस्‍तफा के शहादत की सूचना दी गई, जिसके बाद वह पुणे से उदयपुर रवाना हो गई। दोनों की जल्‍द ही शादी होने वाली थी। मुस्‍तफा के शहीद हो जाने पर मंगेतर का भी रो रोकर बुरा हाल हो गया। बहन व मां को अभी उनके शहीद होने की सूचना नहीं दी गई है।

     पिता जकीउद्दीन कुवैत में कार्यरत

    पिता जकीउद्दीन कुवैत में कार्यरत

    इधर, मुस्‍तफा के पिता जकीउद्दीन कुवैत में काम करते हैं। बेटे के शहीद होने का पता चलते ही वे कुवैत से उदयपुर के लिए रवाना हो गए। मुस्‍तफा की बहन डॉ. अलफिया डेंटिंस्ट है। मां का नाम फातिमा बताया जा रहा। यह बोहरा परिवार मूलरूप से उदयपुर के खेरोदा के रहने वाला है। कई साल पहले उदयपुर आकर बस गया था। इस परिवार को जवान बेटे की शहादत पर गर्व के साथ साथ दुख भी हो रहा है।

     अरुणाचल प्रदेश के ट्विंग क्षेत्र में पोस्‍टेड थे मुस्‍तफा बोहरा

    अरुणाचल प्रदेश के ट्विंग क्षेत्र में पोस्‍टेड थे मुस्‍तफा बोहरा

    उल्‍लेखनीय है कि मुस्‍तफा बोहरा ने सेन्ट पॉल स्कूल उदयपुर पढ़ाई की और फिर एनडीए ज्‍वाइन कर लिया। एनडीए पास करने के बाद करीब छह साल पहले भारतीय सेना में बतौर लेफ़्टिनेंट भर्ती हुए। फिर कैप्‍टन व मेजर बने। वर्तमान में अरुणाचल प्रदेश के ट्विंग क्षेत्र में पोस्‍टेड थे। शनिवार को अरुणाचल प्रदेश में सियांग के लिकाबली से चार अन्‍य साथी जवानों के साथ हेलिकॉप्‍टर में उड़ान भरी थी।

    Maj Mustafa Bohara : घरवाले कर रहे थे निकाह की तैयारी, सगाई के बाद 27 वर्षीय बेटा मुस्‍तफा बोहरा शहीदMaj Mustafa Bohara : घरवाले कर रहे थे निकाह की तैयारी, सगाई के बाद 27 वर्षीय बेटा मुस्‍तफा बोहरा शहीद

    Arunachal helicopter crash : हेलिकॉप्टर क्रैश में राजस्‍थान के मुस्‍तफा बोहरा व रोहिताश्व कुमार शहीद Arunachal helicopter crash : हेलिकॉप्टर क्रैश में राजस्‍थान के मुस्‍तफा बोहरा व रोहिताश्व कुमार शहीद

    Comments
    English summary
    Mustafa Bohra, Vikas Bhambhu Rohitashv Kumar shaheed in Arunachal helicopter crash
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X