• search
राजस्थान न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

ससुर ने 2 लाख की सुपारी देकर करवाई हत्या, बेटे की मौत के बाद इसलिए बना बहू की जान का दुश्मन

|

Dholpur News, धौलपुर। (Dholpur Daughter In Law Murder Case) राजस्थान के धौलपुर जिले के मनियां थाना इलाके के गांव बीलपुर में 19 मार्च 2019 को घर से गायब हुई महिला के शव मिलने के मामले में पुलिस ने चौंकाने वाला खुलासा किया है। मृतका के ससुर ने ही दो लाख रुपए की सुपारी देकर सम्पति के लालच में अपनी बहू की हत्या कराई थी। धौलपुर पुलिस अधीक्षक डॉ.अजय सिंह ने बताया कि 22 मार्च 2019 को बीलपुर निवासी प्रमोद पुत्र भूरी सिंह लोधा ने अपनी मां सरोज के घर से गायब होने की रिपोर्ट मनियां पुलिस थाने में दर्ज कराई थी।

(तस्वीर : महिला प्रतिकात्मक व घटना की जानकारी देते धौलपुर एसपी )

6 अप्रैल को कुएं में मिला शव

6 अप्रैल को कुएं में मिला शव

पुलिस द्वारा सरोज की तलाश के भरसक प्रयास किए गए, लेकिन सरोज का सुराग नहीं लग सका। एसपी सिंह ने बताया कि 6 अप्रैल 2019 को गांव बीलपुर के खेतों में गहरे कुएं से बदबूं आने की सूचना ग्रामीणों को लगी थी। मामले की सूचना ग्रामीणों ने स्थानीय मनियां थाना पुलिस को दी। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर रेस्क्यू टीम के द्वारा अज्ञात महिला की लाश सड़ी गली हालत में गहरे कुएं के अंदर से बाहर निकलवायी। सात अप्रैल को अज्ञात महिला की शिनाख्त सरोज पत्नी भूरी सिंह जाति लोधा निवासी बीलपुर के रूप में हुई थी।

मोबाइल कॉल डिटेल से लगा सुराग

मोबाइल कॉल डिटेल से लगा सुराग

पुलिस ने आईपीसी की धारा 302,201 में मामला पंजीबद्ध कर अनुसंधान प्रारंभ किया। पुलिस ने मृतका सरोज व संदिग्ध नंबरों की सीडीआर लोकेशन बीटीएस का विश्लेषण किया तो आरोपी रामवीर व मृतका सरोज की तारीख 19 मार्च 2019 को एक साथ लोकेशन पाई गई। जिस पर गहनता से तफ्तीश की गई तो अनुसंधान के दौरान रामवीर के साथ विजय सिंह कुशवाह, रामवीर का साला योगेंद्र व भतीजा भूरा लोधा के नाम सामने आए।

10 साल के बेटे को बचाने में मां ने लगा दी जान की बाजी, सबको रुला गई दोनों की ऐसी विदाई

चारों आरोपियों को बरेठा मोड़ आगरा रोड से गिरफ्तार किया

चारों आरोपियों को बरेठा मोड़ आगरा रोड से गिरफ्तार किया

Dholpur Police ने मंगलवार को चारों आरोपियों को बरेठा मोड़ आगरा रोड से गिरफ्तार किया है। मामले में पूछताछ के दौरान ज्ञात हुआ कि मृतका सरोज के ससुर कप्तान सिंह ने अपने बड़े बेटे श्याम सिंह की शादी करीब 18 साल पहले सरोज के साथ की थी। करीब 2 साल बाद श्याम सिंह की मृत्यु हो गई। उसके बाद गांव को सामाजिक तौर से सरोज की श्याम सिंह के छोटे भाई भूरी सिंह के साथ शादी करा दी गई।

भूरी सिंह पत्नी सरोज को छोड़ कर बाहर चला गया

भूरी सिंह पत्नी सरोज को छोड़ कर बाहर चला गया

शादी के बाद सरोज को भूरी सिंह के रिश्ते अच्छे नहीं रहे। भूरी सिंह अपनी पत्नी सरोज को छोड़ कर बाहर चला गया। इसी दौरान सरोज ने घर में गृह कलेश शुरू कर दिया। सरोज अपने ससुर से अपने पहले पति श्याम सिंह और भूरी सिंह का हिस्सा मांगने लगी। जिसके कारण ससुर कप्तान और उसकी बहू सरोज में विवाद बढ़ गया।

Sikar bride Kidnap Case: दुल्हन हंसा की वापसी में मेहंदी रचे हाथों ने निभाई सबसे बड़ी भूमिका, जानिए कैसे?

ज्यादा विवाद बढ़ने पर ससुर कप्तान ने बहू को ठिकाने लगाने की योजना बना डाली और अपने नजदीकी रामवीर सिंह को दो लाख की सुपारी दे दी। रामवीर रिश्ते में कप्तान सिंह का चाचा लगता है। रामवीर सरोज को 19 मार्च 2019 को बहला-फुसलाकर धौलपुर से गाड़ी में बिठाकर दुवाटी गांव ले गया। जहां चार साथियों को लेकर सरोज की कुल्हाड़ी से निर्मम हत्या कर दी।

हत्या करने के बाद आरोपी भूसा के पाले में सरोज के शव को लपेट कर बीलपुर गांव के खेतों में कुएं में फेंक आए। पुलिस ने मंगलवार को मामले का खुलासा करते हुए हत्या के चारों आरोपी रामवीर,विजय सिंह,योगेंद्र भूरा लोधा को गिरफ्तार किया है। वहीं हत्या की साजिश का मुख्य आरोपी ससुर कप्तान सिंह अभी तक पुलिस की गिरफ्त से बाहर है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Father In law planned Daughter in law murder at dholpur Rajasthan
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X