• search
पीलीभीत न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

पीलीभीत: एक ही परिवार के पांच लोगों की हत्या का खुलासा, दोस्त ने ही ​दूध में मिलाया था जहर

|

Pilibhit News, पीलीभीत। उत्तर प्रदेश के पीलीभीत में 8 जनवरी को हुई पांच लोगों की हत्या का खुलासा पुलिस ने कर दिया है। पुलिस ने इस हत्याकांड के मुख्य आरोपी गुलशेर खां को गिरफ्तार कर लिया है। साथ ही उसके पास से लूट के 3.85 लाख रुपए भी बरामद कर लिए हैं। पुलिस के अनुसार आरोपी ये रकम लेकर पश्चिम बंगाल फरार होने वाला था।

Pilibhit police arrested the main accused of killing five people of the same family

बरेली जोन के एडीजी प्रेमप्रकाश ने बताया कि आरोपी गुलशेर खां का मृतक नेमचंद के घर आना-जाना था। नेमचंद रेलवे में गेटमैन था। आरोपी के अनुसार मृतक नेमचंद ने उसे जमीन खरीदने की बात बताई थी। गुलशेर ने बताया कि नेमचंद 8 जनवरी को जमीन का बेनामा करने वाला था। गुलशेर ने पुलिस को बताया कि सभी साथियों ने उसे लूटने की योजना बनाई और अपने साथियों के साथ मृतक नेमचंद के घर पहुंचे। ये लोग नेमचंद के घर पहुंचकर रात में खाना खाया और कीटनाशक न्यूऑन (जहर) दूध में मिला दिया। आरोपियों को पता था कि ये लोग रात में जरूर दूध का सेवन करते हैं। दूध पीते ही पूरा परिवार बेहोश हो गया।

एडीएजी प्रेम प्रकाश ने बताया की लूट की रकम लेकर ये लोग वहां से निकल गए। पुलिस ने इन्हें जहानाबाद के कुकरीखेड़ से गिरफ्तार किया है। इनके पास से पुलिस ने कीटनाशक और गिलास भी बरामद कर लिए है। आरोपी जिला बरेली के भोजीपुरा का रहने वाला था। इसका इरादा ये था कि ये पैसा लेकर पश्चिम बंगाल के मालदा फरार हो जायेंगे क्योकि गुलशेर कि पत्नी बंगाल कि रहने वाली थी और रिश्तेदार के घर जाने वाले थे।

पांच लोगों की हुई थी मौत
पीलीभीत के जहानाबाद थाना क्षेत्र के बेनीपुर गांव निवासी वेगराज सहित पांच लोगों की हत्या कर दी गई थी। इसमें 3 महिलाएं शामिल थी। बताया जा रहा था कि परिवार ने रात में दूध पिया था। मृतकों में परिवार के मुखिया वेगराज (60), पत्नी रामवती (55), बेटा नेमचंद (32), बहू मुल्लो देवी (28) तथा बेटी गायत्री (26) की हत्या कर दी गई थी।

जीवनसंगी की तलाश है? भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें - निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

पीलीभीत की जंग, आंकड़ों की जुबानी
वर्ष
प्रत्याशी का नाम पार्टी स्‍थान वोट वोट दर मार्जिन
2019
वरण गांधी भाजपा विजेता 7,04,549 59% 2,55,627
Hemraj Verma सपा उपविजेता 4,48,922 38% 2,55,627
2014
मेनका संजय गांधी भाजपा विजेता 5,46,934 53% 3,07,052
बुद्धसेन वर्मा समाजवादी उपविजेता 2,39,882 23% 0
2009
वरुण गांधी भाजपा विजेता 4,19,539 50% 2,81,501
वी एम सिंह कांग्रेस उपविजेता 1,38,038 16% 0
2004
मेनका गांधी भाजपा विजेता 2,55,615 38% 1,02,720
सत्यपाल गंगवार समाजवादी उपविजेता 1,52,895 23% 0
1999
मेनका गांधी आईएनडी विजेता 4,33,421 58% 2,39,855
अनिस अहमद खान उर्फ ​​फूल बाबू बीएसपी उपविजेता 1,93,566 26% 0
1998
मेनका गांधी आईएनडी विजेता 3,90,381 56% 2,11,876
अनिस खान बीएसपी उपविजेता 1,78,505 26% 0
1996
मेनका गांधी जेडी विजेता 3,95,827 60% 2,83,310
परशु राम भाजपा उपविजेता 1,12,517 17% 0
1991
परशुराम भाजपा विजेता 1,46,633 31% 6,923
मेनका गांधी जेपी उपविजेता 1,39,710 29% 0
1989
मेनका गांधी जेडी विजेता 2,69,044 57% 1,31,220
भानु प्रताप सिंह कांग्रेस उपविजेता 1,37,824 29% 0
1984
भानु प्रताप सिंह कांग्रेस विजेता 2,78,803 64% 1,76,670
मोहम्मद शमशुल हसन खान आईएनडी उपविजेता 1,02,133 23% 0
1980
हरीश कुमार गंगवार कांग्रेस(आई) विजेता 1,20,916 40% 45,107
मोहम्मद शमशुल हसन खान जेएनपी उपविजेता 75,809 25% 0
1977
मोहम्मद शामुसुल हसन खान बीएलडी विजेता 2,38,691 71% 1,72,676
मोहन स्वरुप कांग्रेस उपविजेता 66,015 20% 0
1971
मोहन स्वरुप कांग्रेस विजेता 97,375 39% 35,530
मोहम्मद शम्सुल हसन खान एनसीओ उपविजेता 61,845 25% 0
1967
एम. स्वरुप पीएसपी विजेता 70,927 28% 4,104
एम एस एच खान कांग्रेस उपविजेता 66,823 27% 0
1962
मोहन स्वरुप पीएसपी विजेता 59,624 30% 4,432
मकुंद लाल कांग्रेस उपविजेता 55,192 27% 0
1957
मोहन स्वरुप पीएसपी विजेता 80,809 51% 25,063
मुकंद लाल अग्रवाल कांग्रेस उपविजेता 55,746 35% 0

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Pilibhit police arrested the main accused of killing five people of the same family
For Daily Alerts

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.

Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X
We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Oneindia sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Oneindia website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more