• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

कश्‍मीर को भारत का हिस्‍सा दिखाने पर पाकिस्‍तान को लगी मिर्च, दो पाकिस्‍तानी पत्रकारों को दी गई ये सजा

|

नई दिल्ली। कश्‍मीर पर अपना कब्जा जमाने के नापाक मंसूबे रखने वाले पाकिस्‍तान को बड़ी जोर की मिर्ची लगी है। दरअसल, पाकिस्‍तान सरकार द्वारा संचालित पीटीवी न्‍यूज चैनल के दो पत्रकारों ने एक मैप प्रसारित किया जिसमें कश्‍मीर को भारत का हिस्‍सा दिखाया गया। जिस पर पाक सरकार के तेवर चढ़ गए और दोनों पत्रकारों को सजा दे डाली। दोनों पत्रकारों को नौकरी से बर्खास्‍त कर‍ दिया।

6 जून को दिखाया गया था कश्‍मीर को भारत का हिस्‍सा

6 जून को दिखाया गया था कश्‍मीर को भारत का हिस्‍सा

ये घटना पिछले छह जून की है और पाकिस्तानी संसद में आठ जून को इस मुद्दे को उठाया गया।इसके बाद पाकिस्‍तान के सीनेट अध्यक्ष सादिक संजरानी ने इस मुद्दे को सूचना और प्रसारण मामले से जुड़ी स्थायी समिति को कार्रवाई का आदेश दिया।

गुलाम कश्मीर और अकसाई चिन दोनों भारत का अभिन्न अंग

गुलाम कश्मीर और अकसाई चिन दोनों भारत का अभिन्न अंग

गौरतलब बात ये हैं कि पाकिस्तान अपने आधिकारिक नक्शे में कश्मीर को अपना हिस्सा दिखाता है, जबकि भारत का स्पष्ट रुख है कि गुलाम कश्मीर और अकसाई चिन दोनों भारत का अभिन्न अंग हैं। पाकिस्‍तान के चैनल पर कश्‍मीर को भारत का हिस्‍सा दिखाने पर पाकिस्‍तानी सरकार आग बबूला हो गई। मालूम हो कि भारत ने दिया पाक को बड़ा संदेश पिछले दिनों भारत ने कोरोना वायरस महामारी के बीच ही पाकिस्‍तान को एक और बड़ा जख्‍म दिया था । सरकारी चैनल दूरदर्शन पर आठ मई से लगातार पाकिस्‍तान अधिकृत कश्‍मीर यानी पीओके और नॉर्दन एरियाज (गिलगित-बाल्‍टीस्‍तान) के मौसम का हाल बताया जाएगा। माना जा रहा है कि भारत सरकार ऐसा करके रोजाना पाकिस्‍तान को एक संदेश देना चाहती है कि उसे इन क्षेत्रों पर गैर-कानूनी कब्‍जा किया हुआ है। यह पहला मौका था जब भारत के मौसम विभाग ने पहली बार गिलगित-बाल्टिस्‍तान के मौसम का हाल अपने बुलेटिन में दिया।

पीटीवी प्रबंधन ने बर्खास्‍त किए दोनों पत्रकार

पीटीवी प्रबंधन ने बर्खास्‍त किए दोनों पत्रकार

पाकिस्तान टेलीविज़न (PTV) प्रबंधन ने 7 जून को सोशल मीडिया पर कहा था कि यह इस मुद्दे की जांच कर रहा है और इस दोष के लिए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी और 10 जून को दो पत्रकारों को बर्खास्त कर उनसे रोजी-रोटी का सहारा छीन लिया। हालांकि बर्खास्त किए गए कर्मचारियों की पहचान नहीं साक्षा की गई , लेकिन कहा कि इतनी बड़ी लापरवाही के जीरो टालरेंस हैं। बता दें इससे पहले, विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्री फवाद चौधरी और मानवाधिकार मंत्री शिरीन मजारी ने भी कार्रवाई की मांग की थी।

पीटीवी ने ट्वीट करके दी ये जानकारी

पीटीवी ने ट्वीट करके दी ये जानकारी

पीटीवी ने ट्वीट करके बताया, 'पाकिस्तान के नक्शे की गलत तस्वीर प्रसारित करने के मामले में बनाई गई जांच समिति की सिफारिश पर कड़ी कार्रवाई करते हुए दो अधिकारियों को बर्खास्त कर दिया गया है। चैनल ने कर्मचारियों के नाम नहीं बताए हैं।

वंदे भारत मिशन का शुरु हुआ तीसरा चरण, अंतर्राष्ट्रीय यात्रियों के लिए जान लें राज्यों के क्वारंटाइन नियमवंदे भारत मिशन का शुरु हुआ तीसरा चरण, अंतर्राष्ट्रीय यात्रियों के लिए जान लें राज्यों के क्वारंटाइन नियम

English summary
PTV fired two journalists for showing Kashmir as part of India
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X