• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

गजनवी मिसाइल टेस्‍ट से पहले पाकिस्‍तान ने भारत को दी थी जानकारी, जानिए क्या थी वजह

|

इस्‍लामाबाद। पाकिस्‍तान ने गुरुवार को गजनवी बैलेस्टिक मिसाइल का टेस्‍ट किया है। पाकिस्‍तान ने इस मिसाइल का टेस्‍ट ऐसे समय में किया है जब भारत के साथ उसके संबंध हद से ज्‍यादा तनावपूर्ण हो चुके हैं और प्रधानमंत्री इमरान खान की तरफ से भारत को परमाणु हमले की धमकी दी जा चुकी है। ऐसी खबरें हैं कि पाकिस्‍तान ने भारत को टेस्‍ट के बारे में सूचना दी थी। पीएम इमरान ने इस टेस्‍ट की तरफ इशारा कुछ दिनों पहले किया था जब उन्‍होंने अमेरिकी अखबार न्‍यूयॉर्क टाइम्‍स को इंटरव्‍यू दिया था। इसके बाद 26 अगस्‍त को जब उन्‍होंने देश की आवाम को संबोधित किया था, उस समय भी उन्‍होंने दोबारा एक परमाणु हथियार के टेस्‍ट की बात की थी।

भारत के साथ साझा हुई जानकारी

भारत के साथ साझा हुई जानकारी

जानकारी के मुताबिक पाक सरकार की ओर से भारत को इस परीक्षण के बारे में 26 अगस्‍त को जानकारी दी गई थी। पाक सरकार की ओर से साझा की गई जानकारी में बताया गया था कि सिंध में एक टेस्‍ट होने वाला है। पाक ने भारत को मिसाइल टेस्‍ट की सूचना साल 2005 में दोनों देशों के बीच विश्‍वास बरकरार रखने के लिए उठाए गए उपायों यानी कॉन्फिडेंस बिल्डिंग मेजर्स (सीबीएम) के प्रावधानों के तहत दी। इस प्रक्रिया के तहत तीन दिन पहले किसी मिसाइल टेस्‍ट के बारे में पड़ोसी देश को जानकारी देनी होती है। लेकिन भारत सरकार पाकिस्‍तान की ओर से हो रहे इस टेस्‍ट को लेकर जरा भी परेशान नहीं थी।

जान बूझकर पाक ने किया टेस्‍ट

जान बूझकर पाक ने किया टेस्‍ट

भारत सरकार से जुड़े राजनयिक सूत्रों की मानें तो पाकिस्‍तान यह टेस्‍ट जान बूझकर अंजाम दे रहा है ताकि अंतरराष्‍ट्रीय समुदाय का ध्‍यान उसकी तरफ जा सके। साथ ही वह यह संदेश भी देना चाहता है कि अगर कश्‍मीर मुद्दे का समाधान नहीं हुआ तो फिर परमाणु संघर्ष की संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता है। पाकिस्‍तान सेना के मीडिया विंग आईएसपीआर की तरफ से मिसाइल का वीडियो शेयर किया गया है। आईएसपीआर के डीजी मेजर जनरल आसिफ गफूर की ओर से बताया गया है कि मिसाइल को रात में टेस्‍ट किया गया।

बलूचिस्‍तान में हुआ टेस्‍ट

बलूचिस्‍तान में हुआ टेस्‍ट

इसकी रेंज 300 किलोमीटर है और मिसाइल को कमांड पोस्‍ट 59 और साइट 888 सोनमियानी फ्लाइट टेस्‍ट रेंज से लॉन्‍च किया जाएगा। सोनमियानी बलूचिस्‍तान में हैं। मिसाइल को सिंध में स्थित नेशनल डेवलपमेंट कॉम्‍प्‍लेक्‍स (एनडीसी) ग्राउंड कंट्रोल स्‍टेशन की ओर से गोथ पियारो और नूरीबाद में ट्रैक किया गया। यह जगह रेंज से 222 किलोमीटर की दूरी पर है। एनडीसी, पाकिस्‍तान का मिसाइल डेवलपर हेडक्‍वार्टर है जो पंजाब के फतेहजंग में स्थित है।

आतंकियों को खुश करने की एक कोशिश

आतंकियों को खुश करने की एक कोशिश

इस परीक्षण का मकसद पाकिस्‍तान में मौजूद आतंकी तत्‍वों को भी खुश करना है। गजनवी एक कम रेंज वाली मिसाइल है। पाकिस्‍तान के पास गौरी और शाहीन जैसी मिसाइलें भी हैं जिनकी रेंज 2750 किलोमीटर है और शाहीन III को सबसे ज्‍यादा रेंज वाली पाक मिसाइल माना जाता है। गोथ पियारो और नूरीबाद दोनों ही कराची के करीब हैं। वहीं सोनमियानी रॉकेट लॉन्‍च फैसिलिट को पाक की अंतरिक्ष संस्‍था स्‍पेस एंड अपर एटमॉसफियर रिसर्च कमीशन की ओर से ऑपरेट किया जाता है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Pakistan tested Ghaznavi missile but why it informed India prior the test.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X