नोटबंदी: पुरानी करंसी को डॉलर और सोने में बदलने वाले व्यापारियों पर ईडी ने कसा शिकंजा

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

मुंबई। नोटबंदी के बाद प्रवर्तन निदेशालय लगातार छापेमारी की कार्रवाई कर रहा है। इसी कड़ी अब उसके निशाने पर मुंबई के जावेरी बाजार के कारोबारी आ गए हैं। बताया जा रहा है कि प्रवर्तन निदेशालय जावेरी बाजार के तीन कारोबारियों पर शिकंजा कसने की तैयारी कर रहा रहा है। ईडी को जानकारी मिली है कि तीनों कारोबारियों ने 70 करोड़ के पुराने नोटों को अमेरिकी डॉलर और सोने में बदल दिया। इतना ही नहीं इन कारोबारियों ने इसके बदले में अच्छा-खासा प्रीमियम भी हासिल किया।

ed

इसे भी पढ़ें:- 31 जनवरी, 2017 तक 500 रुपए के 80 करोड़ नए नोट छाप देगी नासिक करेंसी नोट प्रेस

मुंबई के जावेरी बाजार में तीन कारोबारी ईडी के निशाने पर

मामले की गंभीरता को देखते हुए ईडी की टीम ने पिछले शनिवार को बालाजी बुलियन के मनोज पुनामिया, पुनीत पुनामिया और आभूषण के संजय जैन के कार्यालय पर छापेमारी की। ईडी को इन व्यापारियों पर शक उस समय हुआ जब उनके जावेरी बाजार स्थित यूनियन बैंक ऑफ इंडिया ब्रांच के दो बैंक अकाउंट में भारी संख्या पैसे आ गए। जानकारी के मुताबिक यूनियन बैंक ऑफ इंडिया के इन अकाउंट्स में करीब 70 करोड़ रुपये महज 10 दिनों के अंदर जमा हो गए। इसके बाद ये पैसे कई और अकाउंट्स में ट्रांसफर किए गए। जिन अकाउंट में पैसे भेजे गए और जहां से पैसे आए वो सभी कंपनियां फर्जी नजर आई। इसे भी पढ़ें:- महाराष्ट्र में बोले पीएम नरेंद्र मोदी, नोटबंदी से लॉन्ग टर्म में होगा फायदा

प्रवर्तन निदेशालय के वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक अमेरिकी डॉलर को 100 रुपये या फिर उससे ज्यादा में बेंचा गया जबकि एक डॉलर का दाम 67 रुपये है। सभी लेन-देन रियलटाइम ग्रॉस सेटलमेंट सिस्टम के जरिए किया गया है। दो बैंक अकाउंट में करीब 6 बैंकों के अकाउंट से ये पैसे आए हैं। ईडी की जांच में सभी 6 कंपनियों का पता लगाने की कोशिश की गई लेकिन ये सभी पते फर्जी निकले। जिसके बाद उन कंपनियों पर फेमा के तहत मामला दर्ज किया गया है। इन अकाउंट से 3 करोड़ रुपये बरामद हुए साथ ही ईडी ने अकाउंट भी सीज कर दिया। बता दें मनोज पुनामिया को 2010 में ईडी ने मनी लॉन्ड्रिंग केस में गिरफ्तार किया गया था।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Zaveri Bazaar traders probed by ED for selling dollars gold at hefty premium in exchange for old currency notes.
Please Wait while comments are loading...