• search
मिर्जापुर न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

मां कृष्णा और बहन पल्लवी लगाएंगी वोट बैंक में सेंध, अनुप्रिया की राह आसान नहीं

|

Mirzapur news, मिर्जापुर। राजनीति भी क्या गजब कराती है, चुनाव में कौन अपना, कौन पराया होगा ये कोई नहीं कह सकता है। मिर्जापुर लोकसभा सीट को ही देख लिजिए। एक समय था, 2009 में अपना दल ने भाजपा से गठबंधन कर चुनाव लड़ा और अनुप्रिया पटेल सांसद बनी। उसके बाद परिवार में खटपट हुआ और पार्टी दो फाड़ में बंट गई। अनुप्रिया पटेल की मां कृष्णा पटेल और बहन पल्लवी पटेल ने लोकसभा चुनाव 2019 में कांग्रेस के साथ गठबंधन कर लिया है। मां-बहन अब अनुप्रिया के खिलाफ प्रचार करेंगी।

Mother and sister will fight against Anupriya in LS election

कृष्णा पटेल को दो सीट मिली

कांग्रेस से गठबंधन करने पर अपना दल कृष्णा पटेल गुट को दो सीट मिली है। संभावना जताई जा रही है कि कांग्रेस उन्हें गोंडा और पीलीभीत सीट दे रही है। इसमें गोंडा से कृष्णा पटेल और पीलीभीत से पल्लवी पटेल चुनाव में उतरेंगी। इन दोनों सीटो पर कुर्मी मतदाता अधिक हैं। ऐसे में इन दो सीटो के जरिए कांग्रेस यूपी के अन्य जिलों में कुर्मी मतदाताओं को साधने की कोशिश करेंगी।

Mother and sister will fight against Anupriya in LS election

अनुप्रिया से निभाएंगी सियासी अदावत

मिर्जापुर में सबसे अधिक कुर्मी मतदाता हैं जो अनुप्रिया की जीत का सबसे मजबूत पक्ष है। ऐसे में मां कृष्णा और बहन पल्लवी मिर्जापुर में कांग्रेस प्रत्याशी ललितेशपति त्रिपाठी का प्रचार करेंगी तो अनुप्रिया के वोटरों में सेंध लगना तय है। अनुप्रिया से मां और बहन की सियासी अदावत को लेकर हर ओर चर्चा है। हाल ही में मिर्जापुर के पूर्व सांसद बालकुमार पटेल भी कांग्रेस में शामिल हुए हैं। ऐसे में अनुप्रिया की राह आसान नहीं होनी वाली है।

ये भी पढ़ें- योगी सरकार ने दिया तोहफा, 18 लाख कर्मचारियों को नगद मिलेगा महंगाई भत्ता

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Mother and sister will fight against Anupriya in LS election
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X