• search
लखनऊ न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

CAA विरोधियों पर नहीं हुआ 'जनता कर्फ्यू' का असर, लखनऊ और मुरादाबाद में महिलाओं का प्रदर्शन जारी

|

लखनऊ। कोरोना वायरस को हराने के लिए पीएम मोदी की अपील पर जनता ने खुद को घरों में कैद कर लिया है। सभी जगह जनता कर्फ्यू का आसर दिख रहा है, सड़कों पर सन्नाटा है। वहीं, दूसरी तरफ लखनऊ और मुरादाबाद में नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के विरोध में धरने पर बैठे लोगों पर इसका कोई असर देखने को नहीं मिल रहा है। वह अपने साथ दूसरों की जिंदगी को भी खतरे में डाल रही हैं।

Women continue to sit near Clock Tower to protest against Citizenship Amendment Act

नागरिकता संशोधन कानून को लेकर लखनऊ के घंटाघर पर महिलाएं पिछले तीन महीनों से प्रदर्शन कर रही है। प्रदर्शनकारी शबीह फातिमा का कहना है कि कोरोना से बचाव के सभी तरीके अपनाए जा रहे हैं लेकिन जब तक सरकार कानून वापस नहीं लेगी उनका प्रदर्शन जारी रहेगा। वहीं, कोरोना वायरस फैलने के बाद प्रदर्शन में शामिल रही महिलाएं भी अब इस प्रदर्शन का स्थगित करने की बात कह रही है। सदफ जाफर कहती हैं कि केन्द्र सरकार ने कोरोना को महामारी घोषित कर दिया है। इसका इलाज सिर्फ बचाव है।

वहीं, दूसरी तरफ मुरादाबाद जिले में नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में धरने पर बैठे मुस्लिम समाज के लोगों पर इसका कोई असर देखने को नहीं मिल रहा है। गलशहीद थाना क्षेत्र के ईदगाह में मैदान में पिछले करीब दो महीने से सीएए के खिलाफ धरने पर बैठे हैं। हालांकि पीएम मोदी की अपील के बाद शहर ईमाम व सपा सांसद ने भी लोगो से जनता कर्फ़्यू को कामयाब बनाने की अपील की थी। लेकिन अपनी हठधर्मिता के चलते लोग दूसरों की भी परवाह नहीं कर रहे हैं। गौरतलब है कि शनिवार को ही मुरादाबाद में एक 19 साल की लड़की में कोरोनावायरस पॉजिटिव पाया गया है।

ये भी पढ़ें:- अगस्त क्रांति एक्सप्रेम में मिला कोरोना संदिग्ध यात्री, स्वास्थ्य विभाग की टीम ने मथुरा जंक्शन पर उतारा

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Women continue to sit near Clock Tower to protest against Citizenship Amendment Act
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X