• search
लखनऊ न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

बसों पर गरमाई राजनीति: योगी के मंत्री के आरोप पर कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष ने दिया यह जवाब

|

लखनऊ। लॉकडाउन में प्रवासी श्रमिकों के लिए कांग्रेस पार्टी द्वारा बसें भेजने के मुद्दे पर अब राजनीति गरमाती जा रही है। दरअसल, प्रियंका गांधी ने प्रवासी श्रमिकों को गंतव्य तक पहुंचने के लिए 1000 बसे उत्तर प्रदेश में चलाने की परमिशन मांगी थी। जिसके बाद योगी सरकार ने प्रियंका गांधी के प्रस्ताव स्वीकार कर लिया। जिसके बाद से यूपी सरकार और कांग्रेस के बीच लेटर वार शुरू हो गया है। इसी बीच यूपी सरकार के मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा कि लिस्ट में थ्री व्हीलर, दो पहिया वाहनों के नंबर हैं। जिस पर कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू पलटवार किया है।

ये भी पढ़ें:-नोएडा-गाजियाबाद बॉर्डर पर 5 बजे पहुंचेंगी बसें, प्रियंका गांधी के निजी सचिव ने अपर मुख्य सचिव को लिखा पत्र

कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार ने दिया यह जवाब

कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार ने दिया यह जवाब

यूपी सरकार के मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह द्वारा कहा गया था कांग्रेस की लिस्ट में थ्री व्हीलर, दो पहिया वाहनों के नंबर हैं। जिसे पर कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार जनता को भ्रमित करने की कोशिश कर रही है। वे जानबूझकर राजनीति करने के लिए नकली नंबर बना रहे हैं। हमने बसों की संख्या प्रदान की है, हम इसे सार्वजनिक कर सकते हैं, आप इसे सत्यापित कर भी सकते हैं।

जनता को भ्रमिक कर रही है सरकार

प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार ने कहा कि 1000 बस भेजने के कांग्रेस के प्रस्ताव पर तत्काल निर्णय नहीं लिया गया। सोमवार देर रात निर्णय लिया और मंगलवार सुबह बस भेजने के लिए कहा गया। सरकार को बसें लखनऊ में चाहिए। जब कांग्रेस द्वारा भेजी गई राजस्थान की बसें मथुरा की सीमा पर पहुंच गईं तो उन्हें लेने से इनकार कर दिया गया। अब जनता को यह दिखाने का प्रयास किया जा रहा है कि कांग्रेस वादा करने के बाद भी बसें नहीं भेज रही हैं। इस तरह उत्तर प्रदेश सरकार जनता को भ्रमित कर रही है। कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार उर्फ लल्लू बसों को लेकर मचे घमासान के बाद मंगलवार को मथुरा पहुंचे हैं और पार्टी के नेताओं से बातचीत कर रहे हैं।

बाइक, कार, तीन पहिया के नंबर लिस्ट में

बाइक, कार, तीन पहिया के नंबर लिस्ट में

दरअसल प्रियंका गांधी की ओर से बसों की जो लिस्ट जारी की गई है, उसमे तमाम बसों के रिजस्ट्रेशन नंबर साझा किए गए हैं। इन बसों के नंबर की पड़ताल की जिम्मेदारी लखनऊ प्रशासन को दी गई। क्योंकि पहले इन सभी बसों को लखनऊ में ही पहुंचाने के लिए कहा गया था। लेकिन जब इन बसों के नंबर की जांच की गई तो इसमे यह बात सामने आई कि इस लिस्ट में दो पहिया गाड़ियों, तीन पहिया गाड़ियों और कारों का नंबर है। यहां तक कि गाड़ियों के मालिकों की भी गलत जानकारी दी गई है। लिस्ट में इस फर्जीवाड़े के सामने आने के बाद यूपी सरकार प्रियंका गांधी और कांग्रेस पर हमलावर है।

प्रियंका गांधी पर फर्जीवाड़े का आरोप

प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा कि प्रियंका गांधी प्रवासी मजदूरों के नाम पर राजनीति कर रही हैं। पहले राजस्थान और पंजाब से प्रवासी मजदूरों को यहां भेजा गया, उन्हें बस की सुविधा मुहैया नहीं कराई गई और अब इनकी मदद के नाम पर राजनीति की जा रही है। हमने इन बसों की जानकारी, ड्राइवर का कोरोना टेस्ट रिजल्ट आदि की जानकारी मांगी थी, इसमे कोई गलत बात नहीं है। उन्होंने कहा कि हमने बस की लिस्ट की शुरुआती जांच की है जिसमे पाया गया है कि लिस्ट में दो पहिया गाड़ी, ऑटो, गुड्स कैरियर की गाड़ियां भी हैं। सोनिया गांधी को इस बात का जवाब देना चाहिए कि वह इस तरह का फर्जीवाड़ा क्यों कर रही हैं।

ये भी पढ़ें:- UP सरकार की अव्यवस्थाओं पर भड़के अखिलेश यादव, कहा- दे देना चाहिए त्यागपत्र

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Pradesh Congress Chief Ajay Kumar Lallu said Yogi government is trying to mislead people
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X