मजबूर पिता बेटे के इलाज के लिए भटकता रहा, कंधे पर ही मासूम ने दम तोड़ा

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

कानपुर। देशभर में विकास की तमाम दावों के बीच एक पिता को अपने बेटे का इलाज कराने के लिए उसे कंधे पर लेकर एक अस्पताल के बाद दूसरे अस्पताल दौड़ना पड़े और इलाज के अभाव में बेटा पिता के कंधे पर ही दम तोड़ दे तो विकास के सभी दावे खोखले नजर आते हैं।

अपनी ही बच्ची को दूध नहीं पिला रही मां, जानिए क्या है वजह

Son died on his father shoulder who was running door to door for treatment

कानपुर में एक मजबूर पिता को अपने बेटे का इलाज कराने के लिए कई अस्पताल का चक्कर लगाना पड़ा। पिता का आरोप है कि उनके बेटे को बुखार था लेकिन जब वह अपने बेटे को इलाज के लिए हैलट अस्पताल पहुंचे तो उसका इलाज नहीं किया गया।

बेबस पिता अपने बेटे को कंधे पर लेकर एक अस्पताल से दूसरे अस्पताल दौड़ते रहे लेकिन उसे इलाज नहीं मिला और मासूम बेटे ने उनके कंधे पर ही दम तोड़ दिया है। पिता का आरोप है कि अस्पताल में सिर्फ जूनियर डॉक्टर थे और कोई बड़ा डॉक्टर वहां नहीं था जिसकी वजह से उसका इलाज नहीं किया गया है। उन्होंने कहा कि मेरे बेटे को इलाज नहीं मिला जिसके चलते उसकी मौत हो गयी है।

VIDEO: बिल बढ़ाने के लिए मर चुकी महिला का 48 घंटे तक इलाज करते रहे डॉक्‍टर

जीएसवीएन के प्राचार्य नवनीत कुमार ने समिति गठित करके इस मामले की जांच के आदेश दिये हैं। जांच के बाद रिपोर्ट को शासन को भेजा जाएगा और आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाएगी।

वहीं मासूम बच्चे की मौत के बाद हैलट अस्पताल में जमकर हंगामा और लोग डॉक्टर व प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी कर रहे हैं। बहरहाल एक तरफ जहां यूपी सरकार गरीबों को मुफ्त इलाज देने का दावा कर रही है वहीं दूसरी तरफ पिता को अपने बेटे का इलाज कराने के लिए दर-दर भटकना पड़ रहा है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Son died on his father shoulder who was running door to door for treatment. Father alleges that his son died on his shoulders as different hospitals denied medical facilities.
Please Wait while comments are loading...