• search
जयपुर न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

राजस्थान: लॉकडाउन तोड़ने वाले नहीं पा सकेंगे सरकारी नौकरी, न ही बनेगा पासपोर्ट

|

जयपुर। राजस्थान में कोरोना वायरस तेजी से फैल रहा है। राजधानी जयपुर सबसे बड़ा हॉटस्पॉट बना हुआ है। 14 अप्रैल तक जयपुर में कोरोना पॉजिटिव केस 443 तक पहुंच गई है। पूरे प्रदेश में यह आंकड़ा 969 तक जा पहुंचा है। मंगलवार को पूरे प्रदेश में कोरोना के 72 नए केस सामने आए हैं। इनमें 71 केस अकेले जयपुर से हैं। इससे पहले शनिवार को राजस्थान में एक ही दिन में 117 केस सामने आए थे।

Lockdown

उधर, देश में लॉकडाउन 3 मई तक के लिए बढ़ा दिया गया है। राजस्थान पुलिस लॉकडाउन की पालना सख्ती से करवा रही है। अब तय किया गया है कि जो व्यक्ति लॉकडाउन का उल्लंघन करेगा उसे सरकारी नौकरी और पासपोर्ट से वंचित रहना पड़ सकता है।

शर्मनाक: कोरोना से जंग जीतकर लौटने के बाद इस मजबूरी में लगाना पड़ा पोस्टर 'घर बिकाऊ है..'

दैनिक भास्कर के हवाले से खबर है कि राजस्थान पुलिस लॉकडाउन का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ केस दर्ज कर चालान पेश करेगी। पुलिस मुख्यालय ने प्रदेशभर से ऐसे लोगों के खिलाफ दर्ज मामलों की जानकारी मांगी है। अकेले जयपुर में लॉकडाउन उल्लंघन के 556 मामले दर्ज कर 830 से ज्यादा लोगों को आरोपी बनाया गया है।

खबर है कि जिन लोगों के खिलाफ लॉकडाउन उल्लंघन का मामला दर्ज हुआ है, वे न तो पासपोर्ट बना सकेंगे और न ही उनकी सरकारी नौकरी लग सकेगी।

25 जिलों में फैला कोरोना

बता दें कि कोरोना वायरस राजस्थान के 33 में से 25 जिलों में फैल चुका है। जयपुर, बांसवाड़ा, टोंक, भरतपुर के वैर और बयाना, बीकानेर, जोधपुर, जैसलमेर के पोकरण, झालावाड़ के पिड़ावा, झुंझुनूं के गुढ़ा गौड़जी और मंडावा, दौसा, कोटा और चूरू में स्थिति सबसे गंभीर है।

पुलिस ने काटा विधायक की गाड़ी का चालान

चित्तौड़गढ़. कारोनो संक्रमण की महामारी के चलते चित्तौड़गढ़ में लाॅकडाउन में प्रशासन की सख्ती उस समय देखने को मिली, जब अधिकारियों और पुलिस ने विधायक के वाहन चालक का ही चालान बना दिया। बेंगू विधायक राजेंद्र सिंह विधूड़ी लाॅकडाउन के दौरान दुर्ग पर बेजुबान जानवरों की सेवा करके सर्किट हाउस की ओर लौट रहे थे। उस दौरान प्रशासन द्वारा बाजार खुलने के समय में जनता द्वारा खरीददारी की जा रही थी। इस बीच विधायक विधूड़ी जिस वाहन में सवार थे, उनके अप्सरा चैराहे पर पहुंचने पर जाम की स्थिति उत्पन्न ना हो जिसके मद्देनजर उपखण्ड मजिस्ट्रेट तेजस्वी राणा ने वाहन चालक को रोककर लाईसेंस के अभाव में पुलिस द्वारा चालान बना दिया गया। हालांकि इस मामले को विधायक विधूड़ी ने प्रशासन की सराहना का परिचायक बताया।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Lockdown breakers will not be able to get a government job, passport will not be made
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X