• search
जयपुर न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

जयपुर लिटरेचर फेस्ट 2021: साहिर लुधियानवी की 100वीं जयंती पर नसरीन मुन्नी कबीर और सैफ महमूद आए एक मंच पर

|

जयपुर। Jaipur literature festival भारत में जब-जब साहित्य की बात होती है, तब-तब जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल का जिक्र जरूर होता है। सिर्फ भारत में ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल को सबसे बड़ा साहित्यिक शो माना जाता है। ये विचारों का शानदार पर्व है। हर साल ये कार्यक्रम दुनिया के कई महान लेखक, मानवतावादी हस्तियों, राजनेताओं, व्यापार जगत की हस्तियों और मनोरंजन जगत की हस्तियों का एक ही मंच पर स्वागत करता है। इस मंच पर सभी विचारशील संवाद कर पाते हैं। इसी जयपुर लिटरेचर फेस्ट 2021 के लिए इस वर्ष डेलीहंट और वनइंडिया को लाइव स्ट्रीमिंग पार्टनर और डिजिटल मीडिया पार्टनर के रूप में हिस्सा बनने का मौका मिला है।

Jaipur Literature fest

मनाई गई साहिर लुधियानवी की 100वीं जयंती

आपको बता दें कि जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल का आगाज शुक्रवार से हो चुका है। शनिवार को कार्यक्रम के दूसरे दिन मशहूर भारतीय कवि साहिर लुधियानवी की 100वीं जयंती पर साहित्य जगत की दो दिग्गज हस्तियां एक मंच पर आईं। वर्चुअल तरीके से दोपहर के सत्र में नसरीन मुन्नी कबीर और सैफ महमूद ने साहिर लुधियानवी की जयंती मनाने के लिए एक लाइव बातचीत की।

भारतीय साहित्य में साहिर का योगदान सराहनीय- नसरीन

इस दौरान नसरीन ने साहिर लुधियानवी के सम्मान में एक डायरी लॉन्च की। इस बातचीत के दौरान नसरीन मुन्नी ने कहा कि इस डायरी में साहिर लुधियानवी की कई अनदेखी तस्वीरें और उनकी कविताएं हैं, जो अंग्रेजी में ट्रांसलेट हैं। नसरीन मुन्नी ने इस दौरान भारतीय कवियों में साहिर के योगदान की काफी सराहना की। नसरीन से इस दौरान सवाल किया गया कि उन्होंने साहिर साहब की कविताओं को एक डायरी में क्यों जोड़ा है? किताब क्यों नहीं लिखी? इसके जवाब में उन्होंने कहा कि साहिर साहब ने लेखन किया है और ये कारण काफी है ये समझने के लिए, लोगों को इस डायरी को पढ़ना चाहिए।

कौन हैं नसरीन मुन्नी और सैफ महमूद?

आपको बता दें कि नसरीन मुन्नी कबीर ब्रिटेन की डॉक्टमेंट्री फिल्म निर्माता और हिंदी फिल्म में 20 पुस्तकों की लेखक हैं। वह ब्रिटिश स्थलीय टेलीविजन चैनल चैनल 4 के लिए भारतीय फिल्मों के वार्षिक सीजन के निर्माण के लिए जानी जाती हैं। नसरीन मुन्नी ने 46 पार्ट की सीरीज मूवी महल के लिए काम किया है। वहीं सैफ महमूद उर्दू साहित्य पर लिखते हैं और विश्व स्तर पर शास्त्रीय और आधुनिक उर्दू कविताओं के अपने भावपूर्ण गायन के लिए जाने जाते हैं। वह 'बिलव्ड दिल्ली' और 'मुगल सिटी' के लिए ऑथर 2018 में बेस्ट लेखक के रूप में चुने जा चुके हैं।

आपको बता दें कि दुनिया के सबसे बड़े साहित्य समारोह के रूप में अपनी पहचान बना चुके इस लिटरेचल फेस्टिवल के पहले कार्यक्रम में मीनाक्षी अहमद, श्याम शरण और फ्रैंक जी विजनर शामिल हुए। इन्होंने वर्तमान वैश्विक राजनीतिक माहौल को लेकर चर्चा की। जिसमें मीनाक्षी अहमद की भारत और अमेरिका के संबंधों को लेकर लिखी पुस्तक के बारे में बात की गई। यह पुस्तक ट्रंप के कार्यकाल में भारत और अमेरिका के संबंधों में ट्विस्ट का सामयिक और व्यापक दस्तावेज है जिसमें पिछले 75 वर्षों में दोनों देशों के नेताओं की यात्राओं का भी जिक्र है।

शनिवार के सत्र में, "जर्नीज़ से यात्रा: एनी जैदी और दीपा अनपरा" शाहनवाब हबीब के साथ बातचीत कर रहे हैं। यह सत्र दो उपन्यासों पर है, जो भारतीय समाज में अलग-थलग पड़ने वाले अलौकिकता की जांच करते हैं। बातचीत के दौरान, एनी जैदी ने कहा, "मेरे उपन्यास 'प्रल्यूड टू ए दंगल' में, यह एक चरित्र के दृष्टिकोण पर निर्मित है। कई किरदार हैं और उन सभी में से सबसे अच्छा के रूप में इंगित करना मुश्किल है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Jaipur literature festival Nasreen Munni kabir and saif mahmood celebrate Sahir Ludhianvi 100th anniversary
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X