• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

खत्‍म हो जाएगी दुनिया! वैज्ञानिकों ने बताई दुनिया की तबाही की तारीख और वजह

|
Google Oneindia News

नई दिल्‍ली, 21 जनवरी। दुनिया भर के देश आए दिन नई-नई प्राकृतिक आपदाएं झेल रहे हैं। वहीं वैज्ञानिक नए-नए शोध कर भविष्‍य में होने वाले संकट के बारे में पहले हमें सतर्क कर रहे हैं। लेकिन अब वैज्ञानिकों ने पृथ्‍वी का अंत होने का दावा किया है। इतना ही नहीं वैज्ञानिकों ने ना केवल धरती के खत्‍म होने की तारीख बताई है बल्कि ये भी बताया है कि पृथ्‍वी का अंत किसकी वजह से होगा।

पृथ्‍वी का अंत कब होगा और कैसे होगा?

पृथ्‍वी का अंत कब होगा और कैसे होगा?

बता दें दुनिया भर के वैज्ञानिक इस तथ्‍य को सुलझाने में लगे हुए थे कि पृथ्‍वी का अंत कब होगा और कैसे होगा? लंबे शोध के बाद अब वैज्ञानिकों ने दावा किया है कि पृथ्‍वी का अंत का कारण सूरज बनेगा। कुछ वर्षो बाद सूरज फट जाएगा जिसके कारण पृथ्‍वी क्‍या पूरा ब्राह्मंड स्‍वाहा हो जाएगा।

पृथ्‍वी का अंत का कारण सूरज बनेगा

पृथ्‍वी का अंत का कारण सूरज बनेगा

अनुमान लगाया गया है कि भविष्य में खरबों वर्षों में गैस का ज्वलनशील गोला खत्म होने वाला है, लेकिन बहुत जल्द कई बदलाव होंगे जो हमारे सौर मंडल के अंत की ओर ले जाएंगे। वैज्ञानिकों का अनुमान है कि सूर्य अभी अपने जवानी के चरण पर है जिसे इसके "मुख्य अनुक्रम" के रूप में जाना जाता है, अब से लगभग पांच अरब वर्ष बाद सूरज ब्लास्‍ट हो जाएगा जिसके कारण पूरी धरती तबाह हो जाएगी।

खगोल वैज्ञानिक ने दी ये चेतावनी

खगोल वैज्ञानिक ने दी ये चेतावनी

अपने वर्तमान चरण में, सूर्य के अंदर हाइड्रोजन का परमाणु संलयन इसे ऊर्जा विकीर्ण करने और तारे को अपने द्रव्यमान के नीचे गिरने से रोकने के लिए पर्याप्त दबाव प्रदान करने की अनुमति देता है। लाइव साइंस से बात करते हुए, खगोल वैज्ञानिक पाओलो टेस्टा ने कहा सूर्य पांच अरब साल से थोड़ा कम पुराना है। यह एक प्रकार का मध्यम आयु वर्ग का तारा है, इस अर्थ में कि इसका जीवन 10 अरब वर्ष या उससे अधिक के क्रम का होने वाला है।

पृथ्‍वी के साथ अन्‍य ये ग्रह भी हो जाएंगे नष्‍ट

पृथ्‍वी के साथ अन्‍य ये ग्रह भी हो जाएंगे नष्‍ट

वैज्ञानिकों ने बताया पांच बिलियन साल बाद सूरज में मौजूद हाइड्रोजन कोर काम करना बंद कर देगा जिसके कारण सूरज गर्मी उत्‍पन्‍न नहीं कर पाएगा। जिसके कारण अन्य ग्रह भी ठंडे हो जाएंगे। यह सूर्य के पड़ोसी ग्रहों बुध और शुक्र को निगल जाएगी जिसमें पृथ्‍वी भी शामिल होंगी।

 इस तबाही से पहले करना होगा ये काम

इस तबाही से पहले करना होगा ये काम

नासा के अनुसार ये सामान्य तौर पर एक तारा जितना बड़ा होता है, उसका जीवन उतना ही छोटा होता है, हालांकि सबसे बड़े सितारों को छोड़कर सभी अरबों वर्षों तक जीवित रहते हैं। अपने मूल में अधिकांश हाइड्रोजन के माध्यम से सूर्य के जलने के बाद, यह अपने अगले चरण में एक लाल विशालकाय के रूप में परिवर्तित हो जाएगा। वैज्ञानिकों के अनुसार जब सूरज का अंत होगा तब सूरज की आखिरी गर्मी स महासागर तक सूख जाएंगे। गर्मी से इंसान भी नहीं बचेंगे। वैज्ञानिकों ने इस तबाही से पहले सलाह दी है कि ऐसे ग्रह का पता लगाया जाना चाहिए जहां मनुष्‍य सुरक्षित हो और उन्‍हें इस तबाही से पहले उस ग्रह में बसाने की तैयारी कर दी जाए ताकी इंसान सुरक्षित हो सके।

<strong>Kylie Jenner ने प्रेगनेंसी की हालत में शेयर की ये नग्न फोटो, सुहाना खान ने दिया रिएक्‍शन </strong>Kylie Jenner ने प्रेगनेंसी की हालत में शेयर की ये नग्न फोटो, सुहाना खान ने दिया रिएक्‍शन

Comments
English summary
world will end, scientists told that the world will be destroyed due to the explosion of the sun
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X