• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

US Election 2020: राष्‍ट्रपति बाइडेन की कैबिनेट में मिलेंगे दो भारतीयों को बड़े मंत्रालय!

|

वॉशिंगटन। अमेरिका के निर्वाचित राष्‍ट्रपति डेमोक्रेट जो बाइडेन अब अपने प्रशासन के गठन की तरफ बढ़ रहे हैं। बाइडेन ने अपने कैबिनेट की तैयारियां तेज कर दी हैं। बाइडेन कैबिनेट में दो भारतीय अमेरिकियों का नाम भी आगे चल रहा है। अमेरिकी मीडिया की तरफ से बताया जा रहा है कि डॉक्‍टर विवेक मूर्ति और अरुण मजूमदार को बाइडेन की कैबिनेट में जगह मिल सकती है। गौरतलब है कि भारतीय मूल की कमला हैरिस देश की पहली महिला उप-राष्‍ट्रपति होंगी।

joe-biden-cabinet.jpg

यह भी पढ़ें- विदेश मंत्री एस जयशंकर बोले-अजनबी नहीं हैं जो बाइडेन

    PM Modi ने US के नवनिर्विचित President Joe Biden से की बात, इन मुद्दों पर हुई चर्चा | वनइंडिया हिंदी

    कैबिनेट गठन की तैयारियां तेज

    बाइडेन-हैरिस प्रशासन के लिए कैबिनेट की तैयारियां अब तेज हो गई हैं। बाइडेन की कैबिनेट में जो नाम सबसे आगे चल रहा है वह डॉक्‍टर विवेक मूर्ति का है जो देश के मानव संसाधन मंत्री हो सकते हैं। इसके अलावा स्‍टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर अरुण मजूमदार को ऊर्जा विभाग का जिम्‍मा सौंपा जा सकता है। वॉशिंगटन पोस्‍ट और पॉलिटिको की तरफ से बताया गया है कि बाइडेन एडमिनिस्‍ट्रेशन में इन दोनों के नामों पर चर्चाएं काफी तेज हैं। 43 वर्षीय मजूमदार कोविड-19 के सलाहकार बोर्ड की उपाध्‍यक्ष हैं। वह कोरोना वायरस महामारी के मसले पर बाइडेन के साथ काफी करीब से जुड़े रहे हैं। इसी तरह से मजूमदार जो कि स्‍टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी में मैकेनिकल इंजीनियरिंग के प्रोफेसर हैं। वह एनर्जी एजेंसी, एडवांस रिसर्च प्रोजेक्ट्स एजेंसी के निदेशक रह चुके हैं। साल 2009 में पूर्व राष्‍ट्रपति बराक ओबामा ने उन्‍हें यह जिम्‍मेदारी सौंपी थी। अरुण ने साल 1985 में आईआईटी मुंबई से मेकेनिकल इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल की थी। बाद में उन्होंने कैलीफोर्निया विश्वविद्यालय से पढ़ाई की।

    मीटिंग में मौजूद थे डॉक्‍टर विवेक

    43 साल के डॉक्‍टर विवेक मूर्ति कर्नाटक राज्‍य के मैसूर के रहने वाले हैं। बाइडेन की जीत के बाद भारत में भी जश्‍न का माहौल है। एक तरफ भारतीय मूल की कमला हैरिस अब देश की पहली महिला उपराष्‍ट्रपति हैं तो मूर्ति के भी एक बड़े पद पर आने की संभावनाएं अब प्रबल हो गई हैं। पेशे से सर्जन डॉक्‍टर मूर्ति की नियुक्ति पूर्व राष्‍ट्रपति बराक ओबामा ने की थी। ओबामा प्रशासन में मूर्ति सबसे कम उम्र के सर्जन जनरल बने थे। नियुक्ति के समय उनकी उम्र 37 साल थी। 3 नवंबर को चुनाव होने के बाद 9 नवंबर को जो बाइडेन कोरोना वायरस टास्‍क फोर्स की पहली मीटिंग की थी। इस मीटिेंग में डॉक्‍टर मूर्ति भी शामिल हुए थे।

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    US Election 2020: Indian- American Vivek Murthy, Arun Majumdar fav for Biden's cabinet.
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X