India
  • search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts
Oneindia App Download

‘नूपुर शर्मा को माफी नहीं, फांसी दो...’ इस्लामिक आतंकवादी संगठन तालिबान ने की डिमांड

|
Google Oneindia News

काबुल, जुलाई 03: इस्लामिक आतंकवादी संगठन तालिबान, जिसनी नजर में दूसरे धर्म की कोई इज्जत नहीं है और जिसने मजहब के नाम पर कत्लेआम मचाया है, वो भारत के मामले में दखल देने की हिमाकत कर रहा है और नुपूर शर्मा मामले पर आग लगाने वाला बयान दे रहा है। अफगानिस्तान में अल्पसंख्यकों की जिंदगी को मुहाल बना देने वाले तालिबान ने नूपुर शर्मा के पैगंबर पर दिए गये विवादित बयान पर कहा है, कि उन्हें माफी नहीं मिलनी चाहिए।

नुपूर शर्मा विवाद पर बोला तालिबान

नुपूर शर्मा विवाद पर बोला तालिबान

तालिबान ने भारतीय सुप्रीम कोर्ट के उस बयान का समर्थन किया है, जिसमें सुप्रीम कोर्ट ने कहा था, कि नुपूर शर्मा के विवादित बयान ने भारत में आग भड़काया है। सुप्रीम कोर्ट ने नुपूर शर्मा के बयान का आलोचना करते हुए उस याचिका को भी खारिज कर दिया था, जिसमें उन्होंने सभी केसेस को दिल्ली में ट्रांसफर करने की याचिका लगाई थी। अब तालिबान ने कहा है कि, वह भारतीय सुप्रीम कोर्ट के इस बात से सहमत है, कि नुपूर शर्मा के बयान ने भारत में आग भड़काया है, लेकिन आगे तालिबान ने कहा है कि, 'पैगंबर के अपमान के लिए नुपूर शर्मा को माफी नहीं मिलनी चाहिए'। भारतीय सुप्रीम कोर्ट के न्यायमूर्ति सूर्या कांत ने कहा था कि नुपुर शर्मा की 'ढीली जीभ' ने सभी परेशानी पैदा कर दी है और उसे अपने कार्यों के लिए राष्ट्र से माफी मांगनी चाहिए।

‘माफी नहीं फांसी की मांग’

‘माफी नहीं फांसी की मांग’

सुप्रीम कोर्ट की सख्त टिप्पणी के बाद ऐसा लग रहा है, कि उस टिप्पणी की आड़ में उदयपुर कन्हैयालाल हत्याकांड में शामिल आरोपियों का बचाव करने की कोशिश की जा रही है और तालिबान के प्रवक्त जबीहुल्लाह ने भी इस बाबत बयान जारी का है। उर्दू में पोस्ट किए गए एक ट्वीट में, ज़बियुल्लाह ने कहा कि. भारतीय सर्वोच्च न्यायालय ने कहा है कि नुपुर शर्मा और उसकी ढीली जीभ ने पूरे देश को आग लगा दी है, और उसे इस्लाम के पैगंबर पर अपनी टिप्पणी के लिए माफी मांगनी चाहिए। तालिबान के प्रवक्ता ने यह भी मांग की कि नुपुर शर्मा को क्षमा नहीं किया जाना चाहिए, और उसे फांसी दी जानी चाहिए। तालिबान ने इसके साथ एक हैशटैग का भी इस्तेमाल किया, जिसका मतलब है कि ईशनिंदा दूत को खारिज कर दिया गया।

नुपूर शर्मा की तस्वीर भी किया शेयर

तालिबान के प्रवक्ता ज़बिहुल्लाह मुजाहिद में नुपुर शर्मा की एक तस्वीर भी पोस्ट किया, जिसमें नुपूर की तस्वीर पर एक आदमी पैर रख रहा था और उस तस्वीर में नुपूर शर्मा को गिरफ्तार करने की मांग की गई थी। वहीं, सबसे खास बात ये है, कि तालिबान के प्रवक्ता ने अपने इस पोस्ट को अफगानिस्तान की स्थानीय भाषा पश्तो में नहीं पोस्ट करते हुए ऊर्दू में पोस्ट किया है, जो एक तरह से साफ संदेश दे रहा है, कि वो किन लोगों को संबोधित कर रहा है।

'उदयपुर कांड के लिए नुपूर शर्मा नहीं, जिहादी मुसलमान जिम्मेदार हैं', SC के फैसले पर बोले डच सांसद'उदयपुर कांड के लिए नुपूर शर्मा नहीं, जिहादी मुसलमान जिम्मेदार हैं', SC के फैसले पर बोले डच सांसद

Comments
English summary
Taliban has said that Nupur Sharma should not be forgiven for the controversial statement on the Prophet.
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X