• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

कोरोना के कहर के बीच राहत देने वाली खबर, 101 वर्ष के बुजुर्ग ने दी कोरोना को मात

|

रोम। कोरोना वायरस से जूझ रहे दुनिया के करीब 197 देशों में मौत का सिलसिला बढ़ता ही जा रहा है। इस महामारी से प्रति दिन दुनियाभर में 2000 से ज्यादा मौते हो रही हैं। विकसित देशों की बात करें तो अमेरिका और इटली में कोरोना वायरस के चलते हाहाकार मचा हुआ है। करोड़ों लोग इस समय अपने घरों में कैद रहने को मजबूर हैं और वैश्विक अर्थव्यवस्था पर भी इस महामारी का बहुत बुरा असर पड़ रहा है।

corona
चीन के वुहान शहर से निकला कोरोना वायरस बहुत तेजी से लोगों को अपनी चपेट में ले रहा है। रिपोर्ट के मुताबिक दुनिया में 549,305 लोग इस वायरस से संक्रमित हो चुके हैं और कई 24,871 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं। कोरोना के कहर के बीच इटली से एक राहत देने वाली खबर आई हैं।
101 वर्षीय व्यक्ति ने कोरोना वायरस को दी मात

101 वर्षीय व्यक्ति ने कोरोना वायरस को दी मात

इटली ही नहीं पूरी दुनिया में हर उम्र के लोगों को कोरोना लील रहा है वहीं इटली का तटीय शहर रिमिनी में एक 101 वर्षीय व्यक्ति ने कोरोना वायरस को मत दे दी है। वह अब इस बीमारी से पूरी तरह से ठीक हो गए हैं।

    Coronavirus: दुनियाभर में मरीजों का आंकड़ा 5 लाख पार, US में 24 घंटे में 16,000 केस |वनइंडिया हिंदी
    कोरोना के चलते 8,215 लोगों की हो चुकी मौत

    कोरोना के चलते 8,215 लोगों की हो चुकी मौत

    बता दें कि इस वायरस ने इटली के कुल 80,589 लोगों को संक्रमित किया है, साथ ही यह 8,215 लोगों की जान भी ले चुका हैं।

    एक सप्‍ताह पूर्व करवाया गया था भर्ती

    एक सप्‍ताह पूर्व करवाया गया था भर्ती

    बता दें इस व्यक्ति को केवल 'मिस्टर पी' के रूप में जाना जाता है और माना जा है कि ये दुनिया भर के देशों में इस बीमारी से उबरने वाले सबसे बुजुर्ग व्यक्ति हैं। रिमिनी के उप-महापौर ग्लोरिया लिसी के अनुसार, 1919 में पैदा हुए मिस्टर पी में एक सप्ताह पहले कोरोना का संक्रमण पाए जाने के बाद एक स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

    अब टेस्‍ट आया निगेटिव

    अब टेस्‍ट आया निगेटिव

    जहां उनका इलाज हुआ और अब उनका दोबारा किया गया कोरोना टेस्‍ट निगेटिव आया है। मिस्‍टर पी के ठीक होने के बाद इटली के लोगों में एक उम्मीद जागी है।

    डाक्टरों में जागी नई उम्मीद

    डाक्टरों में जागी नई उम्मीद

    गौरतलब हैं कि कोरोना वायरस का कहर जबसे फैला है तब से डाक्‍टर ये ही कह रहे हैं कि दस साल से कम उम्र के बच्‍चों और 60 पार उम्र वालों को कोरोना वायरस का खतरा अधिक है क्योंकि इनके शरीर में रोगों से लड़ने वाली प्रतिरोधक क्षमता कम होती हैं जिस कारण वो कोरोना वायरस से संक्रमित होने का खतरा अधिक होता है। वहीं इस 101 वर्षीय बुजुर्ग के कोरोना को मात देने की खबर से स‍बको राहत मिली है।

    मरीजों के लिए एक उदाहरण बन गए मिस्टर पी

    मरीजों के लिए एक उदाहरण बन गए मिस्टर पी

    रिमिनी के उप-महापौर लिसी ने एक टीवी इंटरव्‍यू ने कहा कि जैसे-जैसे वह ठीक हुए वह अस्पताल में हर किसी के लिए एक चर्चा का विषय बन गए। उन्होंने कहा, '100 वर्ष से अधिक उम्र के व्यक्ति होने के बाद सभी के अंदर हमारे प्रति एक आशा जग गई है। हर दिन हम अस्पतालों में दुखद कहानियों को सुनते हैं। इस वायरस से अब तक कई लोगों की जान चली गई है और यह खासकर बुजुर्गों पर हावी है लेकिन वह बच गए। मिस्टर पी ने इस खतरनाक वायरस को मात दे दी है। अब उनका परिवार उनको अस्पताल से घर लेकर चला गया है।' बता दें कि इस वक्त इटली में सबसे अधिक घातक संख्याएं हैं, यहां तक कि इसने चीन को भी पीछे छोड़ दिया है जहां से कोरोना वायरस की उत्पत्ति पिछले दिसंबर में हुई थी।

    LOCKDOWN के बीच इस GOOD NEWS से आप होंगे खुश..ओजोन लेयर की शुरू हुई हीलिंग

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Relieving news amidst Corona's Havoc, Italy 101-Year-Old Veteran Beats Corona
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X