भारत का अब तक का सबसे बड़ा राजनीतिक पोल. क्या आपने भाग लिया?
  • search

पाकिस्तान: औरतों की रीढ़ की हड्डी का फ्ल्यूड चुराने वाला गैंग धरा

Subscribe to Oneindia Hindi
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts
    spinal fluid extracted with the needle
    Getty Images
    spinal fluid extracted with the needle

    पाकिस्तान पुलिस ने चार लोगों को गिरफ्तार किया है जिन पर औरतों के स्पाइनल फ्ल्यूड चुराने का आरोप है.

    पुलिस ने बीबीसी उर्दू को बताया कि ये अभियुक्त औरतों से कहते थे कि पंजाब सरकार से आर्थिक मदद हासिल करने के लिए उन्हें पहले अपने ख़ून की जांच करवानी होगी.

    लेकिन ख़ून के बजाय उन्होंने उनका स्पाइनल फ्ल्यूड निकाल लिया और उसकी कालाबाज़ारी की कोशिश की.

    अनुमान है कि इस गैंग ने 12 औरतों का स्पाइनल फ्ल्यूड चुराया है जिसमें एक नाबालिग लड़की भी शामिल है.

    झांसा देकर निकाला जाता था फ़्ल्यूड

    अधिकारियों को इसकी भनक तब लगी जब इस प्रक्रिया के बाद एक व्यक्ति को अपनी 17 साल की बेटी कमज़ोर महसूस हुई.

    पुलिस अधिकारी अशफाक़ अहमद खान ने बीबीसी उर्दू संवाददाता शहज़ाद मलिक को बताया, "ऐसा लगता है कि ये गैंग हफ़ीज़ाबाद में काफी वक्त से सक्रिय था."

    "उनमें से एक खुद को ज़िला अस्पताल का कर्मचारी बताता था और औरतों से कहता था कि पंजाब सरकार के दहेज फंड की पात्रता हासिल करने के लिए पहले खून का सैंपल देना होगा."

    अशफाक़ अहमद खान ने आगे बताया, "खून के सैंपल के लिए अस्पताल ले जाने के बजाय वो उन्हें गैंग की एक महिला के घर ले जाता था जहां उनका स्पाइनल फ्ल्यूड निकाल लिया जाता था."

    क्या होता है स्पाइनल फ्ल्यूड

    स्पाइनल फ्ल्यूड
    Getty Images
    स्पाइनल फ्ल्यूड

    स्पाइनल फ्ल्यूड एक पारदर्शी द्रव होता है जो दिमाग और रीढ़ की हड्डी के चारों ओर पाया जाता है जो उन्हें सदमे और चोट से बचाता है. इसे स्पाइनल नली में सुई डालकर निकाला जा सकता है. इसे सामान्य तौर पर किसी बीमारी की जांच के लिए ही निकाला जाता है.

    ये अब तक साफ नहीं है कि ब्लैक मार्केट में इसका क्या इस्तेमाल होता है. स्वास्थ्य मंत्रालय ने इस केस की जांच के लिए एक कमेटी बनाई है. पकड़े गए गैंग के चारों लोग फिलहाल पुलिस हिरासत में हैं.

    ये पहली बार नहीं है जब पाकिस्तान में मेडिकल क्षेत्र से जुड़ी ऐसी घटनाएं सुर्खियों में आई हैं.

    साल 2016 के आखिर में पुलिस ने रावलपिंडी में मानव अंगों की तस्करी करने वाले गैंग के कब्ज़े से 24 लोगों को छुड़ाया था.

    पाकिस्तान ने 2010 में मानव अंगों की तस्करी को ग़ैरकानूनी कर दिया था लेकिन जानकारों का मानना है कि पाकिस्तान अब भी मानव अंगों की तस्करी का बड़ा केंद्र है.

    जीवनसंगी की तलाश है? भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें - निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

    BBC Hindi
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Pakistan A gang of stealing spine of the spinal cord of women

    Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
    पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.

    X