• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

Coronavirus से ठीक हुए ब्रिटिश पीएम बोरिस जॉनसन बोले- अगर नहीं होतीं नर्स जेनी तो बच नहीं पाती जिंदगी

|

लंदन। ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन जो कोरोना वायरस पॉजिटिव थे, अब ठीक हैं और इंटेसिंव केयर यूनिट (आईसीयू) से बाहर आ गए हैं। जॉनसन जिस समय अस्‍पताल में थे तो उनका पूरा ध्‍यान रखा गया और नर्स जेनी मैकगी ने पीएम की देखभाल में कोई कसर नहीं छोड़ी। जेनी, न्‍यूजीलैंड की रहने वाली हैं और जिस तरह से उन्‍होंने नाजुक समय में अपनी ड्यूटी पूरी की, उसके बाद उनके परिवार को उन पर बहुत गर्व है। खुद पीएम जॉनसन ने जेनी की तारीफ की है।

यह भी पढ़ें-पाकिस्‍तान के PM इमरान खान ने दुनिया से की कर्ज की मांग

ईस्‍टर पर आया पीएम जॉनसन का वीडियो

ईस्‍टर पर आया पीएम जॉनसन का वीडियो

ब्रिटिश अखबार डेली मेल की रिपोर्ट में बताया गया है कि ईस्‍टर के मौके पर एक वीडियो कॉन्‍फ्रेंस के दौरान पीएम जॉनसन ने भी जेनी की तारीफ की। जॉनसन ने जेनी से वीडियो कॉन्‍फ्रेंस में बात भी की। जेनी, न्‍यूजीलैंड के इनवेरकारगिल की रहने वाली हैं। पीएम जॉनसन ने अपनी वीडियो कॉन्‍फ्रेंसिंग में कहा कि जिस समय वह अस्‍पताल जाते थे जेनी बिना थके उनकी सेवा में लगी थीं। 30 साल की जेनी पिछले आठ सालों से यूनाइटेड किंगडम (यूके) में रह रही हैं। ओवरसीज एजुकेशन के बाद जेनी सेंट्रल लंदन के सेंट थॉमस पहुंची हैं। इससे पहले वह छह सालों तक रॉयल मेलबर्न हॉस्पिटल में काम करती थीं। उनके पास आईसीयू में नर्सिंग की ट्रेनिंग है।

एक हफ्ते तक अस्‍पताल में थे जॉनसन

एक हफ्ते तक अस्‍पताल में थे जॉनसन

पीएम जॉनसन करीब एक हफ्ते तक अस्‍पताल में रहे और इनमें से तीन रात आईसीयू में बीती हैं। उन्‍होंने यह बात मानी है कि चीजें बुरी हो सकती थीं मगर अब वह स्‍वस्‍थ हैं। जेनी को इस बात की खुशी है कि इस मुश्किल समय में नर्सिंग में लगे लोगों को वह पहचान मिल रही है, जिसके वह हकदार थे। उनके भाई ने कहा है कि जेनी इस बात देखकर काफी खुश हैं कि नेशनल हेल्‍थ सर्विस (एनएचएस) में कड़ी मेहनत करने वाले लोगों की प्रशंसा हो रही है और उनकी मेहनत को पहचाना जा रहा है।

जॉनसन बोले स्‍टाफ ने की पूरी मेहनत

जॉनसन बोले स्‍टाफ ने की पूरी मेहनत

जेनी के माता-पिता को भी अपनी बेटी पर गर्व है। यूके में इस समय कोरोना के 84,279 मरीज हैं तो अब तक 10,612 लोगों की मौत हो चुकी है। रविवार को वीडियो मैसेज में जॉनसन ने जेनी के अलावा अस्‍पताल की सीनियर स्‍टाफ नर्स लुईस पीतारमा जो कि पुर्तगाल की रहने वाली हैं, उनकी भी तारीफ की है। पीएम जॉनसन ने कहा कि स्‍टाफ ने उनकी जिंदगी बचाने में कोई कसर नहीं छोड़ी।

हर सेकेंड रखा जा रहा था ध्‍यान

हर सेकेंड रखा जा रहा था ध्‍यान

जॉनसन ने कहा, 'आज एक हफ्ते बाद मैंने अस्‍पताल छोड़ दिया है और एनएचएस ने मेरी जिंदगी बचाई है, इसमें किसी को कोई शंका नहीं होनी चाहिए।' पीएम जानसन ने वीडियो मैसेज में आगे कहा, 'आखिरी पलों में उनके शरीर को पर्याप्‍त ऑक्‍सीजन मिलने लगी थी क्‍योंकि रात में हर सेकेंड सभी लोग मुझ पर नजर रखे हुए थे। उन्‍होंने मुझे हर वह चीज मुहैया कराई जिसकी मुझे जरूरत थी।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Meet the nurse from New Zealand who treated British PM Borish Johson suffered from Coronavirus.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X