• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

WATCH: मालकिन पड़ी बीमार तो एंबुलेंस के पीछे-पीछे भागता कुत्ता पहुंचा अस्पताल, वफादारी की भावुक कहानी

|

इंस्ताबुल, जून 11: अकसर आपने सुना होगा कि एक इंसान दूसरे इंसान को कुत्तों को बफादारी की कहानी सुनाते हैं और तुर्की में एक कुत्ते ने अपनी मालकिन से जो बफादारी निभाई है, उसने एक बार फिर से साबित कर दिया है कि अभी भी इंसानों को बहुत कुछ सीखने की जरूरत है। तुर्की से आई इन तस्वीरों ने पूरी दुनिया को भावुक कर दिया है और लोग कुत्ते की बफादारी की कहानी एक दूसरे को सुना रहे हैं, दिखा रहे हैं...लेकिन, हकीकत ये है कि इस कुत्ते ने इंसानों को एक बार फिर से सिखाया है कि चाहे परिस्थिति कैसी भी क्यों ना हो, हमें एक दूसरे का साथ और हाथ कभी नहीं छोड़ना चाहिए।

मालकिन पड़ी बीमार

मालकिन पड़ी बीमार

तुर्की की एक महिला और उसके रिट्रीवर नस्ल के कुत्ते के बीच के रिश्ते को दिखाने के लिए ये वीडियो काफी है। मालकिन बीमार पड़ी और उसे अस्पताल में भर्ती कराने के लिए घर के बाहर एंबुलेंस पहुंच गया। मालकिन को एंबुलेंस में बिठाया गया और फिर एंबुलेंस अस्पातल की तरफ चल निकला, लेकिन घर के पालतू कुत्ता भी एंबुलेंस के पीछे पीछे चल पड़ेगा, किसी ने इस बात को सोचा नहीं। एंबुलेंस अपनी रफ्तार में चला जा रहा था और लोगों ने देखा महिला का कुत्ता भी एंबुलेंस के पीछे पीछे भागा आ रहा है जिसके बाद कुत्ते की बफादारी का वीडियो बनाया गया, जो अब पूरी दुनिया में सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

बीमार मालिकन पर रखता था नजर

रिपोर्ट के मुताबिक ये वीडियो तुर्की के बुयुकाडा द्वीप का है और रॉयटर्स के मुताबिक महिला का इलाज पिछले कुछ समय से घर में ही चल रहा था और कुत्ता लगातार अपनी मालकिन को देखता रहता था। महिला के नाम को सार्वजनिक नहीं किया गया है। जब अचानक महिला की तबीयत थोड़ी बिगड़ी तो फिर उसे अस्पताल में भर्ती कराने के लिए एंबुलेंस को बुलाया गया। रॉयटर्स के मुताबिक जब महिला को एंबुलेंस में पीछे बैठाया जा रहा था, उस वक्त भी बफादार कुत्ता लगातार अपनी मालकिन को देखे जा रहा था और लगातार मालकिन के इधर उधर कर रहा था। कुत्ता काफी दुखी नजर आ रहा था और उसकी आंखों से आंसूं निकल रहे थे। डॉक्टर ने एंबुलेंस के अंदर कुत्ते को बिठाने से मना कर दिया क्योंकि उससे महिला को इनफेक्शन का खतरा था। एंबुलेंस के दरवाजे को बंद कर दिया गया और सबने सोचा कि कुत्ता घर में ही रहकर अपनी मालकिन के अस्पताल से वापस लौटने का इंतजार करेगा।

एंबुलेंस के पीछे पीछे दौड़ता कुत्ता

एंबुलेंस के पीछे पीछे दौड़ता कुत्ता

एंबुलेंस संचालकों ने कुत्ते को भले ही एंबुलेंस में बिठाने से इनकार कर दिया हो लेकिन कुत्ते को उससे कोई फर्क नहीं पड़ा और वो एंबुलेंस के पीछे भागने लगा। रिपोर्ट के मुताबिक एंबुलेंस के पीछे पीछे दौड़ता कुत्ता ना सिर्फ अस्पताल तक पहुंचा, बल्कि तब तक अस्पताल में रहा, जबतक महिला का इलाज चलता रहा। महिला के साथ साथ ही वफादार कुत्ता वापस अपने घर लौटा। ये कोई पहला मामला नहीं है जब किसी कुत्ते ने अपनी बफादारी की मिसाल पेश की हो। जानवर हमेशा से इंसानों के लिए अपने प्यार का प्रदर्शन करते रहते हैं। इससे पहले भी भारत में ही एक हाथी अपने महावत के अंतिम दर्शन के लिए 20 किलोमीटर का सफर तय करके उसके घर पहुंचा था।

VIDEO: महावत के अंतिम दर्शन के लिए 20 किमी चलकर पहुंचा हाथी, इस अंदाज में दी आखिरी विदाईVIDEO: महावत के अंतिम दर्शन के लिए 20 किमी चलकर पहुंचा हाथी, इस अंदाज में दी आखिरी विदाई

English summary
When the mistress became ill, the faithful dog ran behind the ambulance and reached the hospital. Very emotional story.
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X