• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

ISKCON ने कहा, फौरन हिंदुओं-मंदिरों की रक्षा के लिए कदम उठाए बांग्लादेश, कट्टरपंथियों पर एक्शन की मांग

|
Google Oneindia News

मैरीलैंड/ढाका,अक्टूबर 18: बांग्लादेश में पिछले एक हफ्ते से लगातार हिंदुओं पर हमले हो रहे हैं और पूरे बांग्लादेश में दर्जनों जगहों पर मंदिरों को तोड़ दिया गया है। हिंदुओं पर लगातार हमले किए जा रहे हैं, इस्कॉन मंदिर पर हमला किया गया है और मूर्तियों को क्षतिग्रस्त कर दिया गया है, जिसके बाद इस्कॉन में बांग्लादेश में कट्टरपथियों के खिलाफ सख्त एक्शन की मांग की है। खुलासा हुआ है कि, बांग्लादेश में पूरी प्लानिंग के साथ कुछ कट्टरपंथी मौलानाओं ने लोगों को भड़काकर हिंसा की शुरूआत की।

इस्कॉन ने की निंदा

इस्कॉन ने की निंदा

बांग्लादेश में हिंदू अल्पसंख्यकों पर हिंसक हमलों की हालिया घटनाओं को लेकर इस्कॉन ने बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना सरकार से हिंसा को जल्द से जल्द खत्म करने और आरोपियों के खिलाफ फौरन सख्त एक्शन लेने की मांग की है। इस्कॉन मंदिर की तरफ से जारी बयान में कहा गया है कि, बांग्लादेश सरकार हमले में शामिल आरोपियों को न्याय के कटघरे में खड़ा करे और उनके खिलाफ सख्त एक्शन ले। रविवार (स्थानीय समय) को जारी एक आधिकारिक बयान में, वर्ल्डवाइड इंटरनेशनल सोसाइटी फॉर कृष्णा कॉन्शियसनेस (इस्कॉन) ने कहा कि, बांग्लादेश के कई जिलों के कई मंदिरों, घरों, दुकानों और व्यक्तियों पर हमला किया गया और हिंदू अल्पसंख्यक के कई निर्दोष सदस्य मारे गए हैं, लिहाजा बांग्लादेश सरकार को जवाबदेही सुनिश्चित करनी चाहिए।

हिंदुओं को निशाना बनाकर हमला

हिंदुओं को निशाना बनाकर हमला

बांग्लादेश में अल्पसंख्यक धार्मिक स्थलों पर हमलों की एक श्रृंखला सी शुरू की गई है और लगातार मंदिरों को तोड़ा जा रहा है। जिसके बाद इस्कॉन की तरफ से जारी बयान में कहा गया है कि, "वर्ल्डवाइड इंटरनेशनल सोसाइटी फॉर कृष्णा कॉन्शियसनेस (इस्कॉन) समुदाय बांग्लादेश में हिंदू अल्पसंख्यकों के खिलाफ हिंसक घटनाओं की हालिया श्रृंखला से हैरान और दुखी है, जिसमें हमारे अपने इस्कॉन मंदिर और सदस्य भी शामिल हैं।" इस्कॉन ने कहा कि हमले में दो वैष्णव भक्त, चंद्र दास और जतन चंद्र साहा मारे गए हैं''। इस्कॉन ने कहा कि, ''भारी मन से हम अपने उन दो लोगों की आत्मा के लिए प्रार्थना करते हैं जिनकी इन दौरान हमला कर हत्या कर दी गई है। हम इस्कॉन के सदस्य निमाई चंद्र दास के लिए भी प्रार्थना करते हैं, जो गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती हैं।"

सरकार की कार्रवाई से संतुष्ट

अल्पसंख्यकों के समर्थन में पीएम हसीना के हालिया बयान की प्रशंसा करते हुए इस्कॉन ने ढाका से सभी बांग्लादेशी नागरिकों की दीर्घकालिक सुरक्षा और भलाई सुनिश्चित करने के लिए ठोस कदम उठाने का आग्रह किया है। बयान में कहा गया है कि, "इस्कॉन बांग्लादेश सरकार से अल्पसंख्यकों के खिलाफ हिंसा को खत्म करने के लिए तेजी से कार्रवाई करने का आह्वान करता है, जिसने बांग्लादेशी समाज की शांति और भलाई को कम कर दिया है और सभी की दीर्घकालिक सुरक्षा और भलाई सुनिश्चित करने के लिए ठोस कदम उठाने के लिए कहा है। जो भी गुनहगार इन घटनाओं में शामिल हैं, उन्हें न्याय के दायरे में लाना चाहिए। इन जानलेवा हमलों के पीछे अपराधियों को जवाबदेह ठहराया जाना चाहिए और कानून की पूरी सीमा तक दंडित किया जाना चाहिए "।

एक साथ आए भारत, इजरायल, UAE और अमेरिका, क्या ईरान के खिलाफ दूसरे QUAD का होगा गठन?एक साथ आए भारत, इजरायल, UAE और अमेरिका, क्या ईरान के खिलाफ दूसरे QUAD का होगा गठन?

Comments
English summary
ISKCON has demanded immediate action against the accused by the Bangladesh government for the destruction of temples and attacks on Hindus in Bangladesh.
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X
Desktop Bottom Promotion