• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

32 साल बाद भारतीय नागरिक को अमेरिका से किया जाएगा बाहर, सुप्रीम कोर्ट से नहीं मिली राहत

|
Google Oneindia News

वॉशिंगटन, 17 मई। अमेरिका की सुप्रीम कोर्ट ने एक भारतीय नागरिक के खिलाफ फैसला सुनाया है। दरअसल भारतीय नागरिक ने अपने ड्राइविंग लाइसेंस फॉर्म में कहा था कि वह अमेरिकी नागरिक है। जिसके बाद भारतीय नागरिक को अमेरिका से निर्वासित किया जा सकता है। पंकज कुमार पटेल ने अमेरिका में ड्राइविंग लाइसेंस के लिए आवेदन करते वक्त फॉर्म में दावा किया था कि वह अमेरिकी नागरिक है। कोर्ट के दस्तावेज के अनुसार पंकज गैरकानूनी तरह से अमेरिका में अपनी पत्नी ज्योत्सनाबेन के साथ 1990 में अमेरिका आया था। उसने अमेरिका का नागरिकता के लिए आवेदन किया था जिसे 200 में खारिज कर दिया गया था।

usa

कोर्ट के दस्तावेज में कहा गया है कि अमेरिकी सरकार ने पंकज को देश से बाहर करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। वहीं पटेल का कहना है कि मैंने गलती से लाइसेंस के फॉर्म में अमेरिकी नागरिक के आगे के बॉक्स में टिक कर दिया था और यह कानून का उल्लंघन नहीं है। जिसपर जज राजी नहीं हुए। इसके बाद पंकज पटेल ने फेडरल अपील कोर्ट में याचिका दायर की, लेकिन कोर्ट ने कहा कि यह हमारा क्षेत्राधिकार नहीं है, फेडरल कोर्ट के पास यह अधिकार नहीं है कि वह इस तरह के तस्तावेजों की पुष्टि करे।

इसे भी पढ़ें- कोरोना काल में भारत के प्रयासों की राष्ट्रपति कोविंद ने जमैका में जमकर की तारीफइसे भी पढ़ें- कोरोना काल में भारत के प्रयासों की राष्ट्रपति कोविंद ने जमैका में जमकर की तारीफ

पिछले साल पंकज पटेल ने जनवरी माह में अमेरिका की सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की थी, दिसंबर माह में कोर्ट ने दलील सुनी और सोमवार को कोर्ट ने निचली अदालत के फैसले पर मुहर लगा दी। बता दें कि यह मामला व्हाइट हाउस की प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान भी उठा। प्रेस सेक्रेटरी कैरीन जीन से जब इस बाबत सवाल पूछा गया कि क्या बाइडेन सरकार इस मामले में हस्तक्षेप करेगी तो उन्होंने कहा कि यह मामला न्याय विभाग का है, उन्हे ही इसपर फैसला लेना है। बता दें कि पंकज पटेल के तीन बेटे हैं, कोर्ट के दस्तावेज के अनुसार इसमे से एक अमेरिकी नागरिक है, जबकि दो कानूनी तौर पर स्थायी निवासी हैं, जिनकी अमेरिकी महिला से शादी हुई है।

Comments
English summary
Indian citizen face heat in false claim US supreme court agreed for his deportation.
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X