• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

बांग्लादेश की संसद में पहुंचने वाले हिंदू सांसद

By Bbc Hindi
बांग्लादेश
www.parliament.gov.bd
बांग्लादेश

बांग्लादेश के नवनिर्वाचित सांसदों ने गुरुवार को देश की 11वीं संसद के लिए शपथ ली.

30 दिसंबर, 2018 को बांग्लादेश में चुनाव हुए थे जिसमें प्रधानमंत्री शेख हसीना की पार्टी आवामी लीग को जबर्दस्त जीत हासिल हुई है.

तीन सौ सीटों वाली जातीय संसद (बांग्लादेश की संसद) में सत्तारूढ़ आवामी लीग ने 288 सीटों पर जीत हासिल की है. वैसे बांग्लादेश की संसद में कुल 350 सीटें हैं, जिनमें से 50 महिलाओं और आनुपातिक आधार पर सुरक्षित सीटें हैं, जिन्हें आम चुनाव के ज़रिए नहीं चुना जाता है.

आवामी लीग ने देश के अल्पसंख्यक समुदाय के 18 उम्मीदवारों को भी मैदान में उतारा था. अल्पसंख्यक उम्मीदवारों में ज़्यादातर हिंदू हैं.

सभी अल्पसंख्यक उम्मीदवारों ने अपनी सीटें जीत ली हैं. पिछली बार की तरह 11वीं संसद में भी 18 अल्पसंख्यक समुदाय के सांसद हैं.

स्थानीय मीडिया की रिपोर्टों के हवाले से संसद का चुनाव जीतने वाले कुछ कद्दावर नेता ये हैं.

बांग्लादेश
Facebook/Dr Shri Biren Sikder
बांग्लादेश

बीरेन सिकदर

पिछली सरकार में बीरेन सिकदर खेल और युवा मामलों के मंत्री थे.

बांग्लादेश की राजशाही यूनिवर्सिटी से एमए की डिग्री हासिल करने वाले सिकदर पेशे से वकील रहे हैं.

जातीय संसद के सदस्य की हैसियत से सिकदर कई अहम संसदीय समितियों के सदस्य रह चुके हैं.

इसके अलावा, टेक्सटाइल और जूट मिनिस्ट्री की पार्लियामेंट्री स्टैंडिंग कमिटी के वे अध्यक्ष रह चुके हैं.

रोहिंग्या मुसलमान घर वापसी से क्यों डर रहे हैं

बांग्लादेश चुनाव: दो ताक़तवर महिला नेताओं की जंग

बांग्लादेश: ख़ालिदा ज़िया को सात साल की क़ैद की सज़ा

बांग्लादेश
Facebook/Ramesh Chandra Sen
बांग्लादेश

रमेश चंद्र सेन

10वीं जातीय संसद के सदस्य रहे रमेश चंद्र सेन बांग्लादेश के जल संसाधन और खाद्य मामलों के मंत्री भी रह चुके हैं.

शेख हसीना की पार्टी में उनकी अहमियत का अंदाज़ा इस बात से भी लगाया जा सकता है कि वे आवामी लीग की सेंट्रल कमिटी के सदस्य भी हैं.

जोया सेनगुप्ता

जोया सेनगुप्ता बांग्लादेश की संसद में अल्पसंख्यक समुदाय के बीच से इकलौती महिला सांसद हैं.

वे आवामी लीग के मरहूम सीनियर लीडर सुरनजीत सेनगुप्ता की पत्नी हैं.

जोया सेनगुप्ता पति की मौत से खाली हुई सुनामगंज सीट से पहली बार बांग्लादेश की संसद के लिए मार्च, 2017 में चुनी गई थीं.

राजनीति में कदम रखने से पहले जोया एक ग़ैर सरकारी संगठन के लिए काम करती थीं.

बांग्लादेश
www.parliament.gov.bd
बांग्लादेश

नारायण चंद्र चंद और बीर बहादुर उश्वे सिंह

नारायण चंद्र चंद पिछली हसीना सरकार में मत्स्य पालन मंत्री थे. जातीय संसद में ये उनकी चौथी पारी होगी.

बीर बहादुर उश्वे सिंह चटगांव हिल मामलों के मंत्री रह चुके हैं. वे छह बार सांसद रह चुके हैं. वे संसद की आवास मामलों की समिति के सदस्य भी रह चुके हैं.

BBC Hindi
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Hindu MPs who arrive in the Parliament of Bangladesh

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.

Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X