दुश्मन पर पैनी नजर रखने के लिए डोनाल्ड ट्रंप रखेंगे अब निजी जासूस, CIA में देंगे दखल

Posted By: Amit J
Subscribe to Oneindia Hindi

वॉशिंगटन। अमेरिका में ट्रंप एडमिनिस्ट्रेशन वो करने जा रही है, जो इससे पहले कभी नहीं हुआ है। डोनाल्ड ट्रंप सरकार अब सीआईए के साथ-साथ निजी जासूस नेटवर्क का प्रस्ताव रखने पर विचार कर रही है। इसमें ब्लैकवॉटर के संस्थापक एरिक प्रिंस और पूर्व सीआईए ऑफिसर ओलिवर नॉर्थ को शामिल किया जा रहा है। प्रिंस और नॉर्थ दोनों जल्द ही ट्रंप एडमिनिस्ट्रेशन का हिस्सा बन अमेरिका की खुफिया एजेंसियों में दखल देंगे।

दुश्मन पर पैनी नजर रखने के लिए ट्रंप रखेंगे अब निजी जासूस

अमेरिका में ऐसा प्रस्ताव पहले कभी नहीं लाया गया था और ना ही इस पर कभी विचार किया गया था। इस योजना के मुताबिक, दुनिया पर नजर रखने वाली सबसे खतरनाक खुफिया एजेंसी सीआईए को भी अब ट्रंप के ये दो निजी जासूस सलाह देते हुए नजर आएंगे। डोनाल्ड ट्रंप अपने दुश्मन पर पैनी नजर रखने के लिए एरिक प्रिंस और ऑलिवर नॉर्थ को अपने एडमिनिस्ट्रेशन में निजी जासूस के रूप रख रहे हैं।

इस खबर को द इंटरसेप्ट नाम की एक वेबसाइट ने पब्लिश किया जो दावा करती है कि ईरान-कॉन्ट्रा स्कैंडल, मिडिल ईस्ट और नॉर्थ कोरिया जैसे दुश्मन पर नजर रखने के लिए ट्रंप जल्द ही इन दोनों को अपनी एडमिनिस्ट्रेटिव टीम में शामिल करेंगे। इस टीम में सीआईए के निदेशक माइक पोम्पियो भी शामिल है। एक रिटायर्ड यूएस इंटेलिजेंस अधिकारी के मुताबिक, पोम्पियो अपने सीआईए के अधिकारियों पर भरोसा नहीं कर सकते, इस वजह से इस प्रकार की योजना बनानी पड़ रही है, जो उन्हे सीधे रूप से उन्हें सूचना देंगे।

ऐसा प्रस्ताव अभी लाया तो नहीं गया है, लेकिन इससे पहले ही कई अधिकारियों ने इस पर सवाल खड़े किए हैं। नेशनल सिक्योरिटी काउंसिल के प्रवक्ता माइकल अंटोन ने सीएनएन को बताया कि व्हाइट हाउस ना तो इस प्रकार के प्रपोजल को स्वीकार करता है और ना ही करेगा।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Donald Trump weighing plans for private spies to counter enemies like Iran, North Korea
Please Wait while comments are loading...

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.