• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

साउथ चाइना सी में दाखिल यूएस वॉरशिप्स, चीन का गुस्‍सा भड़का

|

बीजिंग। दक्षिण चीन सागर में एक बार फिर अमेरिका और चीन आमने सामने हैं। सोमवार को अमेरिकी नौसेना की दो वॉरशिप्‍स दक्षिण चीन सागर में दाखिल हुए और चीन की सेना ने उन्हें रोक लिया। इस नई घटना के बाद दोनों देशों के बीच तनाव नए स्‍तर पर है। चीन की सीमा में दाखिल होने के बाद यूएस नेवी की इन वॉरशिप्‍स ने बीजिंग को नया चैलेंज दे दिया है। चीन ने अमेरिका पर आरोप लगाया है कि वह इस क्षेत्र में नई परेशानियां पैदा कर रहा है।

south-china-sea

अमेरिका पर लगाए आरोप

अमेरिकी चैनल सीएनएन की ओर से बताया गया है कि यूएसएस स्‍प्रूएंस और यूएसएस प्रेबल स्‍पारैटली द्वीप में 12 नॉटिकल मील तक दाखिल हो गए थ। इस हिस्‍से को यूएन नेवी 'फ्रीडम ऑफ नेविगेशन ऑपरेशन' कहती है। चीनी विदेश मंत्रालय की ओर से इस पर कड़ी प्रतिक्रिया दी गई है। विदेश मंत्रालय की प्रवक्‍ता हुआ चुनयिंग ने इस पर नाराजगी जताई है। उन्‍होंने कहा कि साउथ चाइना सी में अमेरिका की दो वॉरशिप्‍स दाखिल हो गई थीं। चीन ने तुरंत इस पर एक्‍शन लिया और उन्‍हें रोक दिया। उन्‍होंने कहा कि इन दोनों वॉरशिप्‍स के बारे में जानकारी हासिल की गई जब यह बात मालूम हो गई कि वॉरशिप्‍स अमेरिका के हैं तो उन्‍हें वॉर्निंग दी गई कि वे यहां पर दोबारा न दाखिल हों। चीन ने अमेरिका पर चीन की संप्रभुता का उल्लंघन करने का आरोप लगाया है। चीन ने कहा है कि खुद को सुरक्षित करने के लिए जो भी उपाय जरूरी होंगे, चीन करेगा। चीन ने इसके साथ ही अमेरिका से यह भी कहा है कि वह उकसाने की कार्रवाई करना बंद करे।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
2 US warships sail close to disputed island chain in South China Sea and China is now angry.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X