• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

Bihar election 2020: जानिए कौन हैं रितु जायसवाल, जिन्होंने बीजेपी से लिया अवार्ड लेकिन RJD के टिकट पर लड़ेंगी चुनाव

|

पटना। राष्ट्रीय जनता दल (राजद) ने सीतामढ़ी के परिहार विधान सभा निर्वाचन क्षेत्र से मुखिया रितु जायसवाल को टिकट दिया है। विधानसभा टिकट मिलने के बाद रितु लगातार सुर्खियों में बनी हुई हैं। दिल्ली के एक पब्लिक स्कूल की नौकरी छोड़ने और अपने आईएएस पति के साथ आरामदायक जीवन को छोड़कर रितु जायसवाल ने 2016 में पंचायत चुनाव में हिस्सा लेने का फैसला किया था। वे सीतामढ़ी के सिंहवाहिनी गांव से चुनाव जीतने वाली पहली महिला थीं।

रितु जायसवाल ने पंचायत में अपने काम से प्रसिद्धि हासिल

रितु जायसवाल ने पंचायत में अपने काम से प्रसिद्धि हासिल

रितु जायसवाल ने पंचायत में अपने काम से प्रसिद्धि हासिल की है। रितु के पति एक आईएएस अधिकारी हैं, जिन्होंने 2018 में वीआरएस ले लिया था। उस समय वे मुख्य सतर्कता आयोग में आयुक्त के तौर पर तैनात थे। अब ने अपनी पत्नी रितु की सहायता कर रहे हैं। ग्रामीणों ने शुरुआत में हतोत्साहित किया लेकिन वे अपने निर्णय पर कायम रहीं।रितु को अपने काम के लिए देश के उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने चैंपियंस ऑफ चेंज अवार्ड से सम्मानित किया।

कई पुरस्कारों से सम्मानित हो चुकी हैं रितु

कई पुरस्कारों से सम्मानित हो चुकी हैं रितु

पिछले साल रितु जायसवाल सरपंच और पंचायत सचिवों के क्षमता निर्माण कार्यक्रम के लिए केंद्रीय पंचायती राज मंत्रालय द्वारा चयनित बिहार के ग्राम प्रधानों (मुखिया) में से एक थीं। केंद्रीय पंचायती राज मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने रितु जायसवाल को प्रतिष्ठित दीन दयाल उपाध्याय पंचायत सशक्तीकरण पुरस्कार- 2019 से सम्मानित किया था। इसके अलावा आईआईटी मुंबई में आयोजित एसएसई टॉक में रितु जायसवाल ने बिहार का प्रतिनिधित्व किया था। साथ ही ग्राम पंचायत विकास योजना को मुख्य धारा से जोड़ने के लिए भारत सरकार के राष्ट्रीय ग्रामीण विकास संस्थान द्वारा चयतिन 9 पैनलिस्ट में से रितु जायसवाल भी एक थीं।

रितु जायसवाल सीतामढ़ी जिले में जदयू महिला प्रकोष्ठ की जिलाध्यक्ष भी थी

रितु जायसवाल सीतामढ़ी जिले में जदयू महिला प्रकोष्ठ की जिलाध्यक्ष भी थी

रितु जायसवाल का कहना है कि, उनके दिमाग में चुनाव लड़ना कभी था ही नहीं। लेकिन 2013 में जब वे राज सिंहवाहिनी पंचायत के अंतर्गत आने वाले अपने पति के गांव नरकटिया की यात्रा कर रही थीं, तब की स्थिति को देखकर उन्होंने सार्वजनिक जीवन में आने का फैसला किया। इसके कुछ समय बाद ही उन्होंने दिल्ली की अपनी नौकरी छोड़ दी और निर्णय लिया कि अब जमीनी स्तर पर काम करूंगी। रितु जायसवाल सीतामढ़ी जिले में जदयू महिला प्रकोष्ठ की जिलाध्यक्ष भी थी। कुछ महीने पहले ही उन्‍होंने जदयू की सदस्‍यता ली थी। सीतामढ़ी विधान सभा क्षेत्र से टिकट की दावेदार थी। लेकिन कुछ दिनों पहले उन्होंने इस्तीफ दे दिया। अब वो आरजेडी के तरफ से परिहार विधानसभा सीट से उम्मीदवार हैं।

राजद से टिकट मिलने पर रितु बोलीं-राजनीति के एक नए स्वरूप को आने वाले समय में महसूस करेगी

राजद से टिकट मिलने पर रितु बोलीं-राजनीति के एक नए स्वरूप को आने वाले समय में महसूस करेगी

रितु ने खुद इस बात की जानकारी ट्विटर के जरिए दी है। उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा कि, 25 परिहार विधान सभा क्षेत्र से आरजेडी के उम्मीदवार के रूप में विधान सभा चुनाव में रहूँगी। इस विश्वास केलिए नेता प्रतिपक्ष श्री तेजस्वी यादव जी एवं राष्ट्रीय अध्यक्ष आदरणीय श्री लालू प्रसाद यादव जी को हृदय से धन्यवाद। इस विश्वास का मान सदा बनाये रखूंगी। रितु आगे लिखती हैं, राजद परिवार के अभिभावक तुल्य वरिष्ठ कार्यकर्ताओं को प्रणाम। वचन देती हूँ कि पार्टी को कई सालों से आज तक आप जैसे लाखों कार्यकर्ताओं ने जिस शिद्दत से खून पसीने से सींचा है, उस त्याग और परिश्रम का मान सदा रखूंगी। जनता अब बदलती राजनीति के एक नए स्वरूप को आने वाले समय में महसूस करेगी।

बिहार में बागी नेताओं को BJP की चेतावनी, '12 अक्टबूर तक पार्टी में लौटें, वरना होगी कार्रवाई'

फोटो साभार: रितु जायसवाल के ट्विटर अकाउंट से

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
a woman mukhiya Ritu Jaiswal gets RJD ticket in Bihar assembly election 2020
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X