• search

रूपाणी कैबिनेट में किस-किसको मिली जगह, मिलिए गुजरात के नए मंत्रियों से...

Subscribe to Oneindia Hindi
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts
    रूपाणी कैबिनेट में किस-किसको मिली जगह, मिलें नए मंत्रियों से

    गांधीनगर। गुजरात में विजय रूपाणी के नेतृत्व में नई सरकार का शपथ ग्रहण कार्यक्रम संपन्न हो गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह और बीजेपी-एनडीए शासित राज्यों के सभी मुख्यमंत्रियों के अलावा कई बड़े नेताओं की मौजूदगी में नई सरकार का शपथग्रहण कार्यक्रम हुआ। गुजरात में लगातार 6वीं बार बीजेपी की सरकार बनी है। ऐसे में जिस तरह से शपथ ग्रहण भव्य समारोह रखा गया इसे पार्टी के शक्ति प्रदर्शन के तौर पर देखा जा रहा है। गुजरात में एक बार फिर से विजय रूपाणी ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ली है। नितिन पटेल ने उपमुख्यमंत्री पद की शपथ ली है। इनके अलावा रूपाणी कैबिनेट में कुल 18 मंत्रियों ने शपथ ली है। एक नजर रूपाणी कैबिनेट में शामिल मंत्रियों पर...

    नितिन पटेल, उपमुख्यमंत्री

    नितिन पटेल, उपमुख्यमंत्री

    गुजरात की नई सरकार में नितिन पटेल ने एक बार फिर से उपमुख्यमंत्री पद की शपथ ली है। गुजरात के मेहसाणा से विधानसभा चुनाव जीत कर आए हैं। नितिन पटेल ने कांग्रेस के जीवा पटेल को 5159 से हराया। नितिन पटेल उत्तरी गुजरात के कड़वा पटेल नेता हैं। उनकी छवि जमीन से जुड़े नेता की रही है। 90 के दशक से ही वह लगातार मंत्री रहे हैं। अब तक वह केवल एक चुनाव ही हारे हैं। नितिन पटेल का जन्म 22 जून 1956 को विसनगर में हुआ। उन्होंने बीकॉम 2nd ईयर के बाद पढ़ाई छोड़ दी। राजनीति में आने से पहले, उन्होंने कपास और तेल उद्योगों में काम किया।

    आरसी फालडू (जामनगर)- कैबिनेट मंत्री

    आरसी फालडू (जामनगर)- कैबिनेट मंत्री

    विजय रूपाणी सरकार में आरसी फालडू ने कैबिनेट मंत्री के तौर पर शपथ ली है। 56 वर्षीय फालडू गुजरात बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष भी रह चुके हैं और पाटीदार समुदाय से आते हैं। 7 अगस्त, 1957 को उनका जन्म हुआ। फालडू, बीजेपी में लंबे वक्त से जुड़े हुए हैं और कई बड़े पदों में अपनी जिम्मेदारी का निर्वाह करते रहे हैं।

    भूपेंद्र सिंह चुड़ामासा - कैबिनेट मंत्री

    भूपेंद्र सिंह चुड़ामासा - कैबिनेट मंत्री

    भूपेंद्र सिंह चूड़ासमा ने गुजरात सरकार में कैबिनेट मंत्री तौर पर शपथ ली है। चुड़ासमा अहमदाबाद के धोलका विधानसभा सीट से जीतकर आए हैं। भूपेंद्र सिंह ने 1980 में पहली बार विधानसभा चुनाव लड़ा था जब पार्टी की स्थापना ही हुई थी। ये उनका 9वां विधानसभा चुनाव था, जिसमें उन्हें जीत मिली है। भूपेंद्र सिंह रुपाणी सरकार में कैबिनेट मंत्री थे और कई महत्वपूर्ण विभाग भी उनके पास थे। भूपेंद्र सिंह 1990 में पहली बार वह विधायक बनें। इसके बाद से उन्होंने धोलका सीट को बीजेपी का गढ़ बना दिया। लगातार 1995, 1998, 2002, 2007 और 2012 के चुनाव में उन्होंने लगातार जीत दर्ज की। भूपेंद्र सिंह लगातार 6 बार से विधायक हैं और उम्रदराज भी हैं। 67 वर्ष के भूपेंद्र सिंह पेशे से वकील हैं।

    कौशिक पटेल (उत्तर गुजरात)- कैबिनेट मंत्री

    कौशिक पटेल (उत्तर गुजरात)- कैबिनेट मंत्री

    बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के करीबी माने जाने वाले कौशिक पटेल को गुजरात सरकार में कैबिनेट मंत्री के तौर पर शामिल किया गया है। कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ लेने वाले कौशिक पटेल उत्तर गुजरात के पाटीदार समाज से आते हैं। इन्होंने अहमदाबाद के नारणपुरा विधानसभा सीट से चुनाव जीता है, उन्होंने अपने नजदीकी प्रतिद्वंदी नितिन पटेल को 66215 वोटों से करारी शिकस्त दी।

    सौरभ पटेल (सौराष्ट्र)- कैबिनेट मंत्री

    सौरभ पटेल (सौराष्ट्र)- कैबिनेट मंत्री

    बीजेपी के कद्दावर नेता सौरभ पटेल ने रूपाणी सरकार में कैबिनेट मंत्री के तौर पर शपथ ली है। सौरभ पटेल सौराष्ट्र की बोताड विधानसभा सीट से जीत कर आए हैं। उन्होंने लगातार पांचवीं बार इस सीट पर चुनाव जीता है। उन्होंने अपने प्रतिद्वंदी को सिर्फ 906 वोटों से मात दी है। खास बात ये है कि सौरभ बीजेपी के कद्दावर नेता होने के साथ साथ देश के अमीरों से शुमार अनिल अंबानी और मुकेश अंबानी के जीजा भी हैं। सौरभ बोटाद से तीन बार के विधायक रहे हैं। पांचवी बार विधायक बने सौरभ तीन बार बोटाद से विधायक रहे हैं। इससे पहले जब 2012 में चुनाव हुए, तो वो अकोटा से विधायक बने थे।

    गणपत भाई वसावा (सूरत) - कैबिनेट मंत्री

    गणपत भाई वसावा (सूरत) - कैबिनेट मंत्री

    गुजरात सरकार में कैबिनेट मंत्री के तौर पर शपथ लेने वाले गणपति भाई वसावा आदिवासी समाज से आते हैं। वसावा गुजरात विधानसभा के अध्यक्ष रह चुके हैं। गुजरात सरकार में वो मंत्री भी रहे हैं। वसावा दक्षिण गुजरात के बड़े नेता हैं। सूरत के मंगरोल से जीत कर आए हैं। वसावा चार बार विधायक रह चुके हैं।

    जयेश रदाड़िया (राजकोट) - कैबिनेट मंत्री

    जयेश रदाड़िया (राजकोट) - कैबिनेट मंत्री

    गुजरात सरकार में जयेशभाई रदाड़िया को कैबिनेट मंत्री के तौर पर शामिल किया गया है। रदाड़िया सौराष्ट्र के पाटीदार समाज से आते हैं और पहले भी कैबिनेट मंत्री रह चुके हैं। जेतपुर विधानसभा सीट से जीतकर आए जयेशभाई रदाड़िया पोरबंदर से सांसद विट्ठल रादड़िया के बेटे हैं। उनका जन्म 20 दिसंबर 1981 में राजकोट जिले के जामकंडोरणा में हुआ था। उन्होंने 2001 में बड़ौदा महाराजा सयाजीराव विश्वविद्यालय (वडोदरा) में बैचलर ऑफ इंजीनियरिंग (सिविल) डिग्री में स्नातक किया है।

    दिलीप ठाकोर (उत्तर गुजरात) - कैबिनेट मंत्री

    दिलीप ठाकोर (उत्तर गुजरात) - कैबिनेट मंत्री

    दिलीपजी वीरजी ठाकोर को रूपाणी सरकार में कैबिनेट मंत्री के तौर पर शपथ दिलाई गई है। दिलीप ठाकोर चाणस्मा विधानसभा सीट से जीत कर आए हैं। वो पांचवी बार विधायक चुने गए हैं। दिलीप ठाकोर उत्तर गुजरात के ओबीसी समाज से आते हैं और पहले भी कैबिनेट मंत्री रह चुके हैं। उनका जन्म 1 जून 1959 को पाटन जिले में हुआ था। दिलीप ठाकोर के पिता का नाम वीरजी नवाजी था। दिलीप के एक बेटा और तीन बेटियां हैं।

    ईश्वरभाई परमार (सूरत) - कैबिनेट मंत्री

    ईश्वरभाई परमार (सूरत) - कैबिनेट मंत्री

    गुजरात में गठित नई सरकार में ईश्वरभाई रमनभाई परमार को कैबिनेट मंत्री के तौर पर शपथ दिलाई गई है। ईश्वरभाई परमार सूरत के बरडोली विधानसभा सीट से जीत कर आए हैं। वो दक्षिण गुजरात के दलित समाज से आते हैं। सूरत में इसबार 16 में से बीजेपी ने 15 सीटें जीती हैं। ईश्वरभाई का जन्म 1 मार्च 1971 में सूरत जिले के बरडोली तालुके में हुआ था। ईश्वरभाई के पिता का नाम रमनभाई परमार है। ईश्वरभाई 11वीं पास हैं और 2012 में पहली बार विधानसभा के लिए चुने गए थे।

    प्रदीप सिंह जडेजा (उत्तर गुजरात) - राज्य मंत्री

    प्रदीप सिंह जडेजा (उत्तर गुजरात) - राज्य मंत्री

    प्रदीप सिंह जाडेजा ने ली गुजरात सरकार में राज्य मंत्री के तौर पर शपथ ली। प्रदीप सिंह जडेजा को उत्तर गुजरात के वटवा विधानसभा सीट से जीत कर आए हैं। 2002 में वो पहली बार गुजरात विधानसभा के लिए चुने गए और चौथी बार विधायक बने हैं। पिछली सरकार में प्रदीप सिंह राज्य मंत्री रह चुके हैं। प्रदीप सिंह का जन्म 11 जून 1962 को अहमदाबाद में हुआ था। प्रदीपभाई के पिता का नाम भगवतसिंह जडेजा है। प्रदीप सिंह गुजरात विवि से रसायन विज्ञान में स्नातक हैं।

    परबत भाई पटेल (उत्तर गुजरात) - राज्य मंत्री

    परबत भाई पटेल (उत्तर गुजरात) - राज्य मंत्री

    परबत भाई पटेल ने गुजरात की नई सरकार में राज्य मंत्री के तौर पर शपथ ली है। वो बनासकांठा के थराद विधानसभा सीट से जीत कर आए हैं। उत्तर गुजरात के पाटीदार समाज से आने वाले परबत भाई पटेल पांचवी बार विधायक बने हैं। उनका जन्म 4 सितंबर 1948 को बनासकांठा जिले के थराद तालुका में हुआ। परबतभाई पटेल के दो बेटे हैं। 1985 में वो पहली बार विधायक बने।

    पुरषोत्तम भाई सोलंकी (भावनगर) - राज्य मंत्री

    पुरषोत्तम भाई सोलंकी (भावनगर) - राज्य मंत्री

    पुरषोत्तम भाई ओधवजीभाई सोलंकी को गुजरात कैबिनेट में राज्यमंत्री के तौर पर शपथ दिलाई गई है। पुरषोत्तमभाई सोलंकी भावनगर देहात विधानसभा सीट से जीत कर आए हैं। सौराष्ट्र के कोली समाज से आने वाले पुरषोत्तम भाई सोलंकी लगातार पांचवी बार विधायक बने हैं। उनका जन्म 3 मई 1961, को मुंबई के अंधेरी में हुआ। पुरषोत्तमभाई के पिता नाम ओधवजीभाई था। उन्होंने इंजीनियरिंग में डिप्लोमा किया है। वह गुजरात सरकार में कई विभागों में मंत्री रह चुके हैं।

    बचुभाई खाबड़ (मध्य गुजरात) - राज्य मंत्री

    बचुभाई खाबड़ (मध्य गुजरात) - राज्य मंत्री

    बचुभाई खाबड़ ने गुजरात की नई सरकार में राज्यमंत्री के तौर पर शपथ ली है। वो देवगढ़ बारिया विधानसभा सीट से जीत कर आए हैं। तीसरी बार विधायक बने बचुभाई पिछली सरकार में भी राज्य मंत्री थे, इस सरकार में भी उन्हें राज्यमंत्री बनाया गया है। साल 2002 में पहली बार विधायक चुने गए थे। बचुभाई खाबड़ का जन्म 1 अप्रैल 1955 को दोहद जिले के दानपुर तालुके के पिपेरो में हुआ था। उनके पिता का नाम मगनभाई खाबड़ था। बचुभाई खाबड़ 11वीं पास हैं। उनके दो बेटे और एक बेटी है। उनकी पत्नी का नाम कपूरीबाबेन है। उन्होंने अपना पेशा कृषि, शैक्षिक संस्थान बताया है। उन पर एक अपराधिक मुकदमा दर्ज है। उनकी कुल संपत्ति 25 लाख रुपए के आसपास है।

    जयद्रथ सिंह परमार (हिलोल) - राज्य मंत्री

    जयद्रथ सिंह परमार (हिलोल) - राज्य मंत्री

    जयद्रथ सिंह परमार ने राज्य मंत्री के रूप में शपथ ली है। मध्य गुजरात के हिलोल से विधायक जयद्रथ सिंह परमार ओबीसी समाज से आते हैं। वह लगातार चौथी बार विधायक चुने गए हैं। जयद्रथ सिंह परमार का जन्म 25 जुलाई 1964 को वडोदरा हुआ था। जयद्रथ सिंह के पिता का नाम चंद्रसिंह परमार था। जयद्रथ सिंह ने गुजरात विवि से बीकॉम, एलएलबी और एलएलएम की पढ़ाई की है। जयद्रथ सिंह 2002 में पहली बार विधानसभा के चुने गए थे। वे गुजरात में भाजपा सरकार में मंत्री के पद पर रह चुके हैं।

    ईश्वर सिंह पटेल (भरूच) - राज्य मंत्री

    ईश्वर सिंह पटेल (भरूच) - राज्य मंत्री

    विजय रूपाणी के नेतृत्व में बनी नई सरकार में ईश्वरसिंह पटेल को राज्यमंत्री के तौर पर शपथ दिलाई गई है। भरूच के अंकलेश्वर विधानसभा सीट से जीतकर आए ईश्वर सिंह पटेल चौथी बार विधायक चुने गए हैं। पिछली सरकार में भी ईश्वर सिंह पटेल राज्य मंत्री थे। उनका जन्म 25 जून 1965 में भरुच जिले के हंसोट तालुके के कुदादरा में हुआ था। ईश्वरसिंह पटेल के पिता का नाम ठाकोरभाई पटेल है। ईश्वरसिंह पटेल ने साउथ गुजरात विवि से बीए और एलएलबी की पढ़ाई की है।

    वासनभाई अहीर (कच्छ) - राज्य मंत्री

    वासनभाई अहीर (कच्छ) - राज्य मंत्री

    वासनभाई अहीर को गुजरात सरकार में राज्यमंत्री के तौर पर शपथ दिलाई गई है। वासनभाई गोपालभाई अहीर कच्छ के अंजार विधानसभा सीट से जीतकर आए हैं। वासनभाई पांचवीं बार विधायक बने हैं। उनका जन्म 30 जुलाई 1958 कच्छ जिले के अंजार तालुका के रतनाल में हुआ था। वासनभाई के तीन बेटे और एक बेटी है। वासनभाई की कुल संपत्ति 2 करोड़ रुपए से अधिक है। उनके ऊपर कोई भी आपराधिक मुकदमा दर्ज नहीं है।

    विभावरी दवे - राज्य मंत्री

    विभावरी दवे - राज्य मंत्री

    विभावरी दवे ने गुजरात सरकार में राज्य मंत्री के तौर पर शपथ ली है। भावनगर पूर्व से विधायक चुनी गई विभावरी दवे लगातार तीसरी बार विधायक चुनी गई हैं। 2007 में वो पहली बार विधायक बनीं थी। विभावरी सौराष्ट्र के ब्राह्मण समाज से आती हैं। विभावरीबेन दवे को भावनगर ईस्ट विधानसभा सीट से जीतकर आई हैं। विभावरीबेन दवे का जन्म 9 जनवरी 1959 को लिलिया में हुआ था। विभाईवरीबेन दवे के पति का नाम विजयभाई दवे है। विभाईवरीबेन ने एमकॉम के अलावा कई डिप्लोमा कोर्स किया हुए हैं।

    रमणलाल पाटकर (वलसाड) - राज्यमंत्री

    रमणलाल पाटकर (वलसाड) - राज्यमंत्री

    रूपाणी सरकार में रमणभाई नानुभाई पाटकर ने राज्य मंत्री के रूप में शपथ ली है। वो 1995 में पहली बार विधायक बने थे। आदिवासी समाज से आते हैं। रमणभाई नानुभाई पाटकर को उमरगाम विधानसभा सीट से जीत कर आए हैं। रमणभाई का जन्म 1 जून 1952 में वलसाड जिले के उमरगाम के धोडीपाडा में हुआ था। रमणभाई के पिता का नाम नानुभाई पाटकर है। रमणभाई 9वीं हैं। कानुभाई देसाई 1995 में पहली बार गुजरात विधानसभा के लिए चुने गए थे। इससे पहले वह तहसील स्तर के कई महत्वपूर्ण पदों पर भी रहे हैं। myneta.in के मुताबिक उनकी पत्नी का नाम पार्वतीबेन है। वह गृहणी हैं। उनके चार बेटे हैं। हलफनामे में उन्होंने अपना पेशा फार्मिग बताया है। उन पर कोई अपराधिक मुकदमा दर्ज नहीं है। उनकी कुल संपत्ति 1 करोड़ रुपए के आसपास है।

    किशोर कनानी (सूरत) - राज्यमंत्री

    किशोर कनानी (सूरत) - राज्यमंत्री

    किशोर कनानी ने राज्य मंत्री के रूप में शपथ ली है। दक्षिण गुजरात के पाटीदार समाज से आने वाले किशोर कनानी सूरत की वारछा सीट से जीतकर आए हैं। किशोर कनानी को 29207 वोट मिले। वहीं, उनके खिलाफ खड़े कांग्रेस के प्रत्याशी को 26311 वोटों मिले हैं। पाटीदार बाहुल्य इलाके में बीजेपी को एक ऐसी सीट पर जीत मिली है, जहां कभी बीजेपी नेताओं को पाटीदार नेता घुसने तक नहीं देते थे। 2012 में पहली बार विधायक चुने गए थे।

    इसे भी पढ़ें:- दूसरी बार गुजरात के मुख्यमंत्री बने विजय रूपाणी, नितिन पटेल बने डिप्टी CM

    जीवनसंगी की तलाश है? भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें - निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Vijay Rupani takes oath as chief minister of Gujarat, list of his cabinet ministers.

    Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
    पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.

    X
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Oneindia sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Oneindia website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more