• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

देश में 7.5 फीसदी पहुंची बेरोजगारी की दर, उच्च शिक्षितों में सबसे ज्यादा: रिपोर्ट

|

नई दिल्ली। भारत में बेरोजगारी की समस्या कम होने की बजाय लगातार बढ़ती जा रही है। सितंबर-दिसंबर 2019 के बीच ये 7.5 फीसदी पर पहुंच गई। बेरोजगारी की स्थिति पढ़े-लिखे युवाओं में सबसे अधिक पाई गई है। उच्च शिक्षित लोगों में बेरोजगारी दर 60 फीसदी से अधिक पहुंच गई है। ये बात सेंटर फॉर मॉनिटरिंग इंडियन इकोनॉमी (CMIE) के द्वारा जारी आंकड़ों में कही गई है। रिपोर्ट के मुताबिक ग्रेजुएट लोगों के लिए 2019 सबसे बुरा साल रहा है।

unemployment, cmie, centre for monitoring indian economy, report, emplyment, job, jobs, jobs rate in india, indian economy, economy, बेरोजगारी, रोजगार, नौकरी, भारतीय अर्थव्यवस्था, रिपोर्ट, सीएमआई, सेंटर फॉर मॉनिटरिंग इंडियन इकोनॉमी

रिपोर्ट में कहा गया है, 'बेरोजगारी में मई-अगस्त 2017 के बाद लगातार सात बार वृद्धि हुई है। उस वक्त बेरोजगारी दर 3.8 फीसदी थी।' सीएमआईई के सर्वे के अनुसार, इस सर्वे में 1,74,405 घरों को शामिल किया गया। जिसमें पता चला कि बेरजगारी दर ग्रामीण भारत से अधिक शहरी भारत में है। शहरी बेरोजगारी दर राष्ट्रीय औसत से अधिक रही, जो देश में आर्थिक मंदी को दर्शाती है। बता दें CMIE एक निजी थ‍िंक टैंक है, जिसके सर्वे और आंकड़ों को काफी विश्वसनीय माना जाता है।

शहरी भारत में सितंबर-दिसंबर 2019 के दौरान बेरोजगारी की दर 9 फीसदी तक पहुंच गई। वहीं ग्रामीण भारत में इस दौरान बेरोजगारी 6.8 फीसदी रही। यह हाल तब है जब कुल बेरोजगारी में करीब 66 फीसदी हिस्सा ग्रामीण भारत का होता है। रिपोर्ट में कहा गया है कि ग्रामीण भारत में कम बेरोजगारी दर है और इसका भारत की समग्र बेरोजगारी दर को कम करने पर बड़ा प्रभाव पड़ा है। लेकिन, ग्रामीण रोजगार खराब गुणवत्ता का है।

रिपोर्ट में सबसे ज्यादा चिंता की बात ये है कि बेरोजगारी की दर शहरी युवाओं में सबसे अधिक है, खासतौर पर पढ़े लिखे लोगों में। '20-24 आयु वर्ग के युवाओं में बेरोजगारी की दर 37 फीसदी पाई गई, ग्रेजुएट में ये दर सबसे अधिक 60 फीसदी रही। साल 2019 के दौरान उनमें बेरोजगारी की औसत दर 63.4 फीसदी तक पहुंच गई।' बेरजगारी की ये दर 2016 में 47.1 फीसदी, 2017 में 42 फीसदी और 2018 में 55.1 फीसदी थी।

20-29 साल के ग्रेजुएट्स में बेरोजगारी दर 42.8 फीसदी, पोस्ट-ग्रेजुएट लोगों में 23 फीसदी और 15-19 आयु वर्ग के नौकरी की तलाश कर रहे युवाओं में 45 फीसदी रही।

अफजल गुरु की फांसी पर सोनी राजदान ने किया विवादित ट्वीट, बताया 'बलि का बकरा'अफजल गुरु की फांसी पर सोनी राजदान ने किया विवादित ट्वीट, बताया 'बलि का बकरा'

English summary
unemployment rate rises to 7.5 percent during september to december, high among educated youth said CMIE report.
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X